Tuesday, Apr 23 2024 | Time 10:03 Hrs(IST)
image
राज्य » मध्य प्रदेश / छत्तीसगढ़


स्वास्थ्य विभाग में तीन हजार से अधिक पदों पर नियुक्ति की प्रक्रिया

भोपाल, 21 फरवरी (वार्ता) मध्यप्रदेश के उप मुख्यमंत्री राजेंद्र शुक्ल ने निर्देश दिए हैं कि स्वास्थ्य विभाग में विभिन्न पदों के लिए चयनित अभ्यर्थियों की नियुक्ति के दौरान दस्तावेजों के परीक्षण और मेडिकल जांच में किसी भी प्रकार की असुविधा नहीं होना चाहिए।
आधिकारिक सूत्रों के अनुसार स्वास्थ्य विभाग के मंत्री श्री शुक्ल ने सभी संबंधित अधिकारियों से कहा है कि वे संवेदनशीलता के इस कार्य को संपन्न कराएं।
सूत्रों के अनुसार कर्मचारी चयन मंडल की ओर से 12 फरवरी को घोषित परिणाम के अनुक्रम में स्वास्थ्य विभाग में 3 हज़ार 323 पदों पर नियुक्तियां की जा रही हैं। इनमें ए.एन.एम. के 2 हज़ार 576, रेडियोग्राफर तृतीय श्रेणी के 104, प्रयोगशाला तकनीशियन के 228 और फार्मासिस्ट ग्रेड-2 के 415 पद शामिल हैं।
प्रयोगशाला तकनीशियन तथा रेडियोग्राफर के नियुक्ति आदेश संभागीय क्षेत्रीय संचालक द्वारा तथा ए.एन.एम. व फार्मासिस्ट ग्रेड-2 के नियुक्ति आदेश मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी द्वारा जारी किए जाएंगे। भोपाल में 29 फरवरी को आयोजित समारोह में पात्र अभ्यर्थियों को नियुक्ति पत्र सिंगल क्लिक के माध्यम से प्रेषित किये जायेंगे। इसके लिये चयनित अभ्यर्थियों के दस्तावेजों का परीक्षण तथा मेडिकल करवाया जाना आवश्यक होगा।
स्वास्थ्य विभाग के आयुक्त डॉ सुदाम खाड़े ने बताया कि चयनित अभ्यर्थियों के मेडिकल तथा दस्तावेजों के परीक्षण के लिए जिला अस्पतालों में प्रातः 9 से शाम 5 बजे तक विशेष शिविर लगाये जायेंगे। ए.एन.एम. उम्मीदवारों का जिला चिकित्सालयों में 22 से 26 फरवरी, फार्मासिस्ट ग्रेड-2 का जिला चिकित्सालयों में 23 से 25 फरवरी, रेडियोग्राफर उम्मीदवारों का संभागीय मुख्यालय के जिला चिकित्सालय में 24 फरवरी को और प्रयोगशाला तकनीशियन का संभागीय मुख्यालय के जिला चिकित्सालय में 25 फरवरी को मेडिकल जाँच और दस्तावेजों का परीक्षण किया जाएगा।
जिला चिकित्सालयों में मेडिकल जांच की जिम्मेदारी सभी सिविल सर्जन सह मुख्य अस्पताल अधीक्षक की होगी। क्षेत्रीय संचालक, स्वास्थ्य तथा मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी दस्तावेजों की जांच के लिए समुचित अमले की व्यवस्था करेंगे।
प्रशांत
वार्ता
image