Monday, Jun 24 2024 | Time 17:43 Hrs(IST)
image
राज्य » मध्य प्रदेश / छत्तीसगढ़


मानसिक विक्षिप्त नाबालिग से दुष्कर्म की घटना के बाद चक्का जाम

बड़वानी, 22 मई (वार्ता) मध्यप्रदेश के बड़वानी जिले के सेंधवा में 11 वर्षीय मानसिक विक्षिप्त बालिका से दुष्कर्म की घटना के बाद आक्रोशित ग्रामीणों ने आरोपी को फांसी देने और उसका घर जमींदोज करने की मांग को लेकर आज चक्का जाम कर दिया। हालांकि बाद में प्रशासन के आश्वासन के बाद प्रदर्शन समाप्त कर दिया गया।
घटना का पता चलते ही शहर में अफरा तफरी का माहौल निर्मित हो गया और धड़ाधड़ दुकानें बंद हो गई। नागरिकों ने आक्रोशित होकर पुराने आगरा-मुंबई राष्ट्रीय राजमार्ग पर चक्का जाम कर दिया। नागरिकों ने आरोपी को फांसी देने और उसके घर को जमीं दोज करने की मांग की है। शाम को करीब चार बजे प्रशासन के पुख्ता आश्वासन के बाद प्रदर्शन समाप्त कर दिया गया।
सेंधवा के एसडीएम अभिषेक सराफ ने बताया कि आरोपी के मकान की नपती कराई जा रही है और अनियमितता पाए जाने पर विधिवत कार्रवाई की जाएगी।
निमाड़ रेंज के डीआईजी अतुल सिंह ने बताया कि कल रात एक ऑटो रिक्शा चालक ने एक विधवा की 11 वर्षीय मानसिक विक्षिप्त पुत्री को पेट्रोल पंप के पास अकेला पाकर ऑटो में बिठा लिया। इसके बाद सेंधवा के प्राचीन किले में ले जाकर दुष्कर्म किया। विधवा महिला को जब उसकी पुत्री नहीं मिली तो उसने करीब तीन घंटे खोजबीन करने के बाद पुलिस को सूचित किया।
श्री सिंह ने बताया कि पुलिस ने पेट्रोल पंप के सीसीटीवी तथा अन्य माध्यमों से आरोपी को चिन्हित कर हिरासत में ले लिया। घटना की गंभीरता को देखते हुए बड़वानी से पुलिस अधीक्षक को रात में ही सेंधवा भेजा गया। महिला के पति की चार वर्ष पूर्व मृत्यु हो गई थी और वह एक होटल में सफाई का काम करती है। जब करीब रात आठ बजे उसे बच्ची नहीं मिली तो खोजबीन आरंभ की गयी।
पुलिस अधीक्षक पुनीत गहलोद ने बताया कि पीड़ित बालिका को काफी मात्रा में ब्लीडिंग होने के चलते प्राथमिक उपचार के लिए सेंधवा के सिविल अस्पताल लाया गया। वहां उसके साथ दुष्कर्म की पुष्टि हुई। इसके बाद उसे जिला अस्पताल रेफर किया गया, जहां उसकी हालत मेडिकली स्टेबल बताई जा रही है। उन्होंने बताया कि दुर्भाग्यपूर्ण घटना की विवेचना के लिए एसआईटी का गठन किया गया है। इंदौर से आई टीम ने समस्त साइंटिफिक एविडेंस एकत्र कर लिये हैं।
सं बघेल
वार्ता
image