Saturday, Feb 29 2020 | Time 17:21 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • जैक्सन का नाबाद अर्धशतक, सौराष्ट्र के 5/217
  • श्रीनगर-जम्मू राजमार्ग भूस्खलन के कारण बंद
  • कुश्ती का एशियाई ओलम्पिक क्वालिफायर रद्द
  • कोच्चि के अस्पताल में कोरोना वायरस से संक्रमित एक व्यक्ति की मौत
  • एयरटेल ने दूरसंचार विभाग को आठ हजार करोड़ से अधिक चुकाया
  • चीन से आये लोगों का हुआ कोरोना वायरस परीक्षण, सभी रिपोर्ट नेगेटिव
  • त्रिपुरा में एडीसी चुनाव के लिये भाजपा ने बुलाई बैठक
  • पुलिस मुठभेड़ में दो कुख्यात हथियार के साथ गिरफ्तार
  • हरियाणा पुलिस होगी हाईटैक, अत्याधुनिक नियंत्रण कक्ष बनेगा: डीजीपी
  • हमेशा याद किए जाएंगे सांसद बैद्यनाथ प्रसाद महतो : नीतीश
  • हरियाणा पुलिस होगी हाईटैक, अत्याधुनिक नियंत्रण कक्ष बनेगा: डीजीपी
  • फाइनेंस कंपनी के कार्यालय से तीन लाख की लूट
  • चाँदी 1100 रुपये फिसली, सोना 850 रुपये उतरा
राज्य » अन्य राज्य


विज्ञापन आवंटन में भेदभाव के विरोध में पत्रकारों ने सूचना निदेशालय में जड़ा ताला

देहरादून 26 जुलाई (वार्ता) उत्तराखंड सूचना विभाग की ओर से प्रदेश से प्रकाशित लघु एवं मंझौले समाचार पत्रों और न्यूज पोर्टलों की घोर उपेक्षा किए जाने से आक्रोशित पत्रकारों ने शुक्रवार को रिंग रोड स्थित सूचना निदेशालय के मुख्या द्वार पर तालाबंदी कर धरना-प्रदर्शन किया। पत्रकारों ने सूचना विभाग की इस पक्षपातपूर्ण नीति की कड़े शब्दों में निंदा भी की।
सूत्रों के अनुसार पत्रकारों का कहना था कि सूचना विभाग लघु एवं मंझौले समाचार पत्रों और न्यूज पोर्टलों की लगातार अनदेखी कर रहा है। प्रदर्शनकारी पत्रकारों ने लघु एवं मंझौले समाचार पत्रों और न्यूज पोर्टलों को शीघ्र विज्ञापन जारी किए जाने की मांग की।
सूचना विभाग की अनदेखी से नाराज विभिन्न पत्रकार संगठनों से जुड़े पत्रकार शुक्रवार को सुबह साढ़े आठ बजे सूचना निदेशालय के मुख्य गेट पर एकत्रित हुए और वहां पर विभाग की विज्ञापन में पक्षपातपूर्ण नीति के विरोध में नारेबाजी करते हुए धरना-प्रदर्शन किया। पत्रकारों ने सूचना निदेशालय के मुख्य गेट पर ताला जड़ दिया।
सूचना विभाग जो कि स्वयं मुख्यमंत्री के पास है उनकी मनमानी से पत्रकारों में खासा रोष व्याप्त है। पत्रकारों का कहना था कि सूचना विभाग प्रदेश से प्रकाशित लघु एवं मंझौले समाचार पत्रों और न्यूज पोर्टलों के हितों पर कुठाराघात कर रहा है। विज्ञापन न देकर उनका गला घोंटने का काम सूचना विभाग द्वारा किया जा रहा है।
पत्रकारों को आरोप है कि प्रदेश से बाहर के अखबारों एवं मैगजीनों पर विभाग लाखों रुपये विज्ञापन पर लुटाए जा रहे हैं लेकिन अपने प्रदेश में प्रकाशित हो रहे लघु एवं मंझौले समाचार पत्रों और न्यूज पोर्टलों की जमकर उपेक्षा की जा रही है। प्रदर्शनकारी पत्रकारों का कहना था कि पिछले 18 वर्षों से हर साल श्रीदेव सुमन की पुण्यतिथि पर आधारित विज्ञापन मिलता आ रहा था लेकिन इस बार इस विज्ञापन को काट दिया गया।
उन्होंने कहा हरेला, योग दिवस और चारधाम यात्रा से संबंधित विज्ञापन भी नहीं दिया गया। एक ओर सरकार प्रदेश में रोजगार देने के बड़े-बड़े दावे करती नहीं थक रही वहीं दूसरी ओर लघु एवं मंझोले समाचार पत्रों और न्यूज पोर्टलों से जुड़े पत्रकारों को बेरोजगार करने पर सरकार तुली हुई है।
सं. उप्रेती
वार्ता
More News
तमांग की जर्मनी यात्रा रद्द

तमांग की जर्मनी यात्रा रद्द

29 Feb 2020 | 12:20 PM

गंगटोक 29 फरवरी (वार्ता) सिक्किम के मुख्यमंत्री प्रेम सिंह तमांग और पर्यटन विभाग के दो अधिकारियों की जर्मनी की यात्रा रद्द हो गई है। .

see more..
image