Wednesday, Sep 18 2019 | Time 20:55 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • बैंस की अग्रिम जमानत अर्जी खारिज
  • ई-सिगरेट पर प्रतिबंध से स्वस्थ जीवन को बढ़ावा मिलेगा: हर्षवर्धन
  • बिहार भाजपा के नवनियुक्त अध्यक्ष संजय जायसवाल का पटना में भव्य स्वागत
  • बाबा जगन्नाथ सुरती वाले डेरे के महंत की हत्या, खेत से मिला शव
  • शिवानंद तिवारी के खिलाफ मानहानि मामले में संज्ञान
  • हत्या मामले में चाय दुकानदार को आजीवन कारावास
  • नाबालिग के साथ अप्राकृतिक यौनाचार एवं हत्या के मामले में दोषी को उम्रकैद
  • पंचायत चुनावों में आरक्षण देने की जनहित याचिका खारिज, सरकार को राहत
  • मुजफ्फरनगर में 12 तस्कर गिरफ्तार,एक करोड़ से अधिक की शराब आदि बरामद
  • सड़क हादसे में युवा किसान की मौत, भाई गम्भीर रूप से घायल
  • मोदी के विमान को अपने हवाई क्षेत्र से नहीं जाने देगा पाकिस्तान: कुरेशी
  • ऑस्कर में भारत की आधिकारिक प्रविष्टि होगा ‘मोती बाग’
  • जालौन के कालपी में यमुना का कहर, कई गांव बाढ़ की चपेट में
  • जल संग्रहालय पर अंतरराष्‍ट्रीय कार्यशाला
राज्य » अन्य राज्य


विज्ञापन आवंटन में भेदभाव के विरोध में पत्रकारों ने सूचना निदेशालय में जड़ा ताला

देहरादून 26 जुलाई (वार्ता) उत्तराखंड सूचना विभाग की ओर से प्रदेश से प्रकाशित लघु एवं मंझौले समाचार पत्रों और न्यूज पोर्टलों की घोर उपेक्षा किए जाने से आक्रोशित पत्रकारों ने शुक्रवार को रिंग रोड स्थित सूचना निदेशालय के मुख्या द्वार पर तालाबंदी कर धरना-प्रदर्शन किया। पत्रकारों ने सूचना विभाग की इस पक्षपातपूर्ण नीति की कड़े शब्दों में निंदा भी की।
सूत्रों के अनुसार पत्रकारों का कहना था कि सूचना विभाग लघु एवं मंझौले समाचार पत्रों और न्यूज पोर्टलों की लगातार अनदेखी कर रहा है। प्रदर्शनकारी पत्रकारों ने लघु एवं मंझौले समाचार पत्रों और न्यूज पोर्टलों को शीघ्र विज्ञापन जारी किए जाने की मांग की।
सूचना विभाग की अनदेखी से नाराज विभिन्न पत्रकार संगठनों से जुड़े पत्रकार शुक्रवार को सुबह साढ़े आठ बजे सूचना निदेशालय के मुख्य गेट पर एकत्रित हुए और वहां पर विभाग की विज्ञापन में पक्षपातपूर्ण नीति के विरोध में नारेबाजी करते हुए धरना-प्रदर्शन किया। पत्रकारों ने सूचना निदेशालय के मुख्य गेट पर ताला जड़ दिया।
सूचना विभाग जो कि स्वयं मुख्यमंत्री के पास है उनकी मनमानी से पत्रकारों में खासा रोष व्याप्त है। पत्रकारों का कहना था कि सूचना विभाग प्रदेश से प्रकाशित लघु एवं मंझौले समाचार पत्रों और न्यूज पोर्टलों के हितों पर कुठाराघात कर रहा है। विज्ञापन न देकर उनका गला घोंटने का काम सूचना विभाग द्वारा किया जा रहा है।
पत्रकारों को आरोप है कि प्रदेश से बाहर के अखबारों एवं मैगजीनों पर विभाग लाखों रुपये विज्ञापन पर लुटाए जा रहे हैं लेकिन अपने प्रदेश में प्रकाशित हो रहे लघु एवं मंझौले समाचार पत्रों और न्यूज पोर्टलों की जमकर उपेक्षा की जा रही है। प्रदर्शनकारी पत्रकारों का कहना था कि पिछले 18 वर्षों से हर साल श्रीदेव सुमन की पुण्यतिथि पर आधारित विज्ञापन मिलता आ रहा था लेकिन इस बार इस विज्ञापन को काट दिया गया।
उन्होंने कहा हरेला, योग दिवस और चारधाम यात्रा से संबंधित विज्ञापन भी नहीं दिया गया। एक ओर सरकार प्रदेश में रोजगार देने के बड़े-बड़े दावे करती नहीं थक रही वहीं दूसरी ओर लघु एवं मंझोले समाचार पत्रों और न्यूज पोर्टलों से जुड़े पत्रकारों को बेरोजगार करने पर सरकार तुली हुई है।
सं. उप्रेती
वार्ता
More News
लाखों रुपये की नकली मुद्रा, उसे छापने की सामग्री सहित दो गिरफ्तार

लाखों रुपये की नकली मुद्रा, उसे छापने की सामग्री सहित दो गिरफ्तार

18 Sep 2019 | 7:23 PM

देहरादून 18 सितम्बर (वार्ता) उत्तराखंड में देहरादून पुलिस ने दो लोगों को गिरफ्तार कर उनके पास से छह लाख 49 हजार रुपये की नकली मुद्रा, नोट छापने की मशीन और अन्य सामग्री, अवैध पिस्टल, कारतूस तथा एक मोटरसाइकिल बरामद की।

see more..
एनसीसी प्रशिक्षण केन्द्र स्थानांतरण मामले में केन्द्र एवं राज्य सरकार से मांगा जवाब

एनसीसी प्रशिक्षण केन्द्र स्थानांतरण मामले में केन्द्र एवं राज्य सरकार से मांगा जवाब

18 Sep 2019 | 7:23 PM

नैनीताल, 18 सितम्बर (वार्ता) उत्तराखंड उच्च न्यायालय ने देवप्रयाग में स्थापित होने वाले राष्ट्रीय कैडिट कोर (एनसीसी) के प्रशिक्षण केन्द्र को पौड़ी स्थानांतरित करने के मामले की सुनवाई करते हुए केन्द्र एवं राज्य सरकार से चार सप्ताह में जवाब दाखिल करने के निर्देश दिये हैं।

see more..
image