Thursday, Feb 20 2020 | Time 16:30 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • देवेन्द्र फडणवीस को मिली जमानत
  • 30 हजार मेगावाट सौर ऊर्जा के उत्पादन का लक्ष्य प्रस्तावित
  • जालंधर जिले में रासायनिक खादों के प्रयोग में कमी दर्ज की गई:डॉ नाजर
  • सोना 325 रुपये टूटा, चांदी 420 रुपये उछली
  • सिखों का नेपाल से है सदियों पुराना नाता:राजा ज्ञानेन्द्र
  • सुरेन्द्रनगर में मिल में लगी आग, कोई हताहत नहीं
  • शिक्षकों पर कुठाराघात कर रही नीतीश सरकार : कांग्रेस
  • पूसा किसान मेला में किसानों के भी स्वास्थ्य की जांच होगी
  • एशियाई हाथी, गोडावण विलुप्त हो रही प्रजातियों की सूची में शामिल होंगे
  • जमशेदपुर को हरा गोवा ने एएफसी चैंपियंस लीग के ग्रुप चरण में किया प्रवेश
  • निर्भया कांड के दोषी विनय ने गंभीर मानसिक रोगी बता कर दायर की याचिका
  • महिला विश्व कप में विजयी शुरुआत करने उतरेगा भारत
  • मोदी ने मिजोरम, अरुणाचल प्रदेश के स्‍थापना दिवस पर बधाई दी
  • बस हादसे में मारे गये यात्रियों की मौत पर मोदी ने जताया शोक
राज्य » अन्य राज्य


जम्मू-कश्मीर में शांतिपूर्ण ढंग से मनी ईद

श्रीनगर/ नयी दिल्ली 12 अगस्त (वार्ता) जम्मू-कश्मीर में ईद उल अजहा का त्यौहार शांतिपूर्ण ढंग से मना और लोगों ने बड़ी संख्या में मस्जिदों में नमाज अदा की।
केन्द्रीय गृह मंत्रालय और जम्मू कश्मीर प्रशासन दोनों ने कहा है कि पुलिस और सुरक्षा बलों ने सुरक्षा के कड़े इंतजाम किये थे जिससे लोगों को किसी तरह की दिक्कत न हो। लोगों को जरूरी सुविधाएं मुहैया करायी गयी। बड़ी संख्या में लोग सुबह सवेरे ही मस्जिदों में पहुंच गये और नमाज 7 बजे शुरू होने के बाद कुछ जगहों पर दोपहर तक अदा की गयी।
अधिकारियों के अनुसार बांदीपुरा की दार उल उलूम रहिमया मस्जिद में 5000, जामिया मस्जिद में 2000, बारामुला में 10000, कुपवाड़ा की ईदगाह में 3500, त्रेहगाम में 3000, सोपोर में 1500, कुलगाम के काजीगंड में 5500, काइमो में 6000, शोपियां में 3000, पुलवामा में 1800, अवंतीपुरा में 2500, अनंतनाग में 3000 , गंदेरबल में 7000, बडगाम की चरारे शरीफ मस्जिद में 5000 और मेगाम में 8000 लोगों ने नमाज अदा की। इसके अलावा श्रीनगर की सैकड़ों स्थानीय मस्जिदों में भी लोगों ने नमाज में हिस्सा लिया। जम्मू में 5000 से अधिक लोगों ने ईदगाह में नमाज अदा की।
श्रीनगर में आतंकवादियों और असामाजिक तत्वों द्वारा शांति व्यवस्था को भंग किये जाने की आशंकाओं के बीच कुछ पाबंदियां लगायी गयी थी जिनके तहत संवेदनशील इलाकों में बड़ी संख्या में लोगों के एकत्र होने पर पाबंदी थी। श्रीनगर की स्थानीय मस्जिदों में लोगों ने नमाज के बाद एक दूसरे को ईद की बधाई दी। कुछ स्थानों पर मामूली और छिट पुट प्रदर्शन भी किये गये। कुछ जगहों पर पथराव की घटनाएं भी हुई लेकिन ये बड़े पैमाने पर नहीं थी और पुलिस ने इनसे निपटते हुए लोगों को वापस भेज दिया। इन घटनाओं में एक-दो लोगों को छोडकर किसी के गंभीर रूप से घायल होने की खबर नहीं है।
अधिकारियों ने कहा कि मीडिया में सुरक्षा बलों द्वारा फायरिंग की रिपोर्ट आयी है और इनमें कुछ लोगों के मरने तथा घायल होने की बात कही गयी है जो पूरी तरह गलत है। राज्य में फायरिंग की कोई घटना नहीं हुई है और सुरक्षा बलों को गाेलियां नहीं चलानी पड़ी है।
त्यौहार को देखते हुए शनिवार से ही चरणबद्ध तरीके से पाबंदियों में ढील दी गयी है। लोगों ने इसका फायदा उठाते हुए जरूरी सामान की खरीददारी की। इस दौरान लगभग 20 प्रतिशत दुकानें खुली रही। रविवार को इसमें और ढील दी गयी 50 प्रतिशत दुकानें खुली। कुछ इलाकों में वाहनों की ज्यादा संख्या और खरीददारी के कारण जाम भी लगा। श्रीनगर और घाटी के अन्य हिस्सों में बकरों की बड़ी संख्या में खरीद-फरोख्त हुई। अकेले श्रीनगर में ही ढाई लाख से भी अधिक खरीद फरोख्त हुई।
जम्मू के पांच जिलों में पाबंदी पूरी तरह हटा ली गयी और पांच अन्य जिलों में केवल रात की पाबंदी जारी है। स्थिति के अनुसार 9 अन्य जिलों में भी ढील दी जा रही है।
गृह मंत्रालय के अधिकारी के अनुसार सुरक्षा जरूरतों को ध्यान में रखते हुए फोन कनेक्टिीविटी पर अभी भी प्रतिबंध है। कई हेल्पलाइन केन्द्र बनाये गये हैं जहां से लोग राज्य से बाहर अपने रिश्तेदारों और बच्चों से बात कर सकते हैं। ये केन्द्र जिला आयुक्तों के कार्यालयों और पुलिस चौकियों में बनाये गये हैं। श्रीनगर में एक दिन में 5000 से अधिक फोन किये गये हैं। कश्मीर डिविजन में फोन कनेक्टिवीटी के लिए 300 केन्द्र बनाये गये हैं। सरकार ने मीडिया के लिए भी एक सेंटर बनाया है जहां से खबरें दी जा सकती हैं। इस केन्द्र में वरिष्ठ अधिकारी सुबह 11 और शाम को 6 बजे नियमित ब्रीफिंग करते हैं। मीडिया सेंटर में फोन और इंटरनेट की सुविधा उपलब्ध है।
गृह मंत्रालय के एक अधिकारी ने कहा कि सरकार शांति और व्यवस्था बनाये रखने के लिए प्रतिबद्ध है और लोग इसमें सहयोग दे रहे हैं। अलगाववादियों ओर आतंकवादियों से कानून के अनुसार निपटा जा रहा है।
संजीव
वार्ता
More News
विजयन ने सड़क हादसे में 19 की मौत पर जताया दुख

विजयन ने सड़क हादसे में 19 की मौत पर जताया दुख

20 Feb 2020 | 12:08 PM

तिरुवनंतपुरम 20 फरवरी (वार्ता) केरल के मुख्यमंत्री पिनाराई विजयन ने गुरुवार को तमिलनाडु के तिरुपुर जिले के अविनाशी के पास राष्ट्रीय राजमार्ग पर एक लॉरी के केरल राज्य पथ परिवहन निगम (केएसआरटीसी) के बस से टकराने के कारण हुई 19 यात्रियों की मौत पर गहरा दुख व्यक्त किया।

see more..
सड़क हादसे में 6 नेपाली पर्यटकों की मौत,28 घायल

सड़क हादसे में 6 नेपाली पर्यटकों की मौत,28 घायल

20 Feb 2020 | 11:58 AM

सलेम 20 फरवरी (वार्ता) तमिलनाडु के सलेम जिले के नारीपल्लम के पास दो बसों की आमने-सामने टक्कर में पड़ोसी देश नेपाल के छह पर्यटकों की मौत हो गयी और 28 अन्य घायल हो गये।

see more..
तमिलनाडु में सड़क दुर्घटना में 19 की मौत, 20 से अधिक घायल

तमिलनाडु में सड़क दुर्घटना में 19 की मौत, 20 से अधिक घायल

20 Feb 2020 | 10:30 AM

चेन्नई 20 फरवरी (वार्ता) तमिलनाडु के तिरुपुर जिले के अविनाशी के पास राष्ट्रीय राजमार्ग पर गुरुवार सुबह एक लॉरी के केरल राज्य पथ परिवहन निगम (केएसआरटीसी) के बस के साथ हुई भयंकर टक्कर में कम से कम 19 लोगों की मौत हो गयी और 20 से अधिक घायल हो गये।

see more..
image