Tuesday, Sep 17 2019 | Time 18:47 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • मोदी देश में बने जननायक-गहलोत
  • पाकिस्तान के कब्ज़े वाला कश्मीर एक दिन भारत का हिस्सा होगा : जयशंकर
  • पत्नी व चार बच्चियों को घर से निकाला था, गुजारा भत्ता देने का आदेश
  • मेघालय स्कूल ने जीता अंडर-17 सुब्रतो कप
  • आनंदीबेन ने किया पोलियो की तरह देश को प्रदूषण से मुक्त करने का आह्वान
  • कोलकाता के पूर्व पुलिस आयुक्त की तलाश में सीबीआई की विशेष टीमों का गठन
  • दुनिया का 12वाँ सबसे बड़ा हवाई अड्डा बना दिल्ली एयरपोर्ट
  • तेजस में उडान भरेंगे राजनाथ
  • मप्पिलापट्टू गायक एम कन्हीमूसा का निधन
  • लेनोवो ने लाँच किया अगली पीढ़ी के थिंकपैड और थिंक सेंटर पीसी
  • आतंकवाद को लोगों की मदद से ही काबू में किया जा सकता है: तारिगामी
  • बाढ़ से बर्बाद हो रहे गांवों को बचाने का सरकार स्थायी समाधान निकालेगी:योगी
  • सुजीत मान को मिलेगा सर्वश्रेष्ठ कोच का पेफी अवार्ड
  • सुजीत मान को मिलेगा सर्वश्रेष्ठ कोच का पेफी अवार्ड
राज्य » अन्य राज्य


चमोली में बादल फटने, भूस्खलन में मलबे में दबने से छह लोगों की मौत

देहरादून 12 अगस्त (वार्ता) उत्तराखंड के चमोली जिले के घाट ब्लॉक में सोमवार सुबह बादल फटने और तीन गांव में भूस्खलन के मलबे में दबने से छह लोगों की मौत हो गई।
सूत्रों के अनुसार पहला हादसा आज तड़के पांच बजे घाट ब्लॅाक के बांजबगड़ गांव में हुआ। इस हादसे में अब्बल सिंह का मकान भूस्खलन के मलबे में दब गया। घर के अंदर सो रही अब्बल सिंह की पत्नी रूपा देवी (35) आैर बेटी चंदा (नौ माह) की दबकर मौत हो गई। वहीं, दूसरी घटना घाट ब्घ्लॉक के आली गांव में हुई। यहां बादल फटने से हुए भूस्खलन से नेनू राम का मकान भूस्खलन के मलबे में दब गया। इसमें नेनू राम की बेटी नौरती (21) की दबकर मौत हो गई।
तीसरी घटना घाट ब्लॉक के लांखी गांव में हुई। यहां सुबह 8.45 बजे बादल फटने से गांव के शंकर लाल का मकान भूस्खलन की चपेट में आ गया। भूस्खलन के मलबे में दबकर अजय (23) पुत्र सुरेंद्र लाल, अंजली (8 वर्ष) पुत्री शंकर लाल और आरती (07) पुत्री शंकर लाल की मौत हो गई। सभी मृतकों के शव मलबे से निकाल लिए गए हैं। उधर, चुफला गदेरा (बरसाती नाला) के उफान पर होने से दो मकान एवं तीन दुकानें बह गई हैं।
मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने चमोली के घाट में मूसलाधार बारिश से हुई जनहानि पर शोक जताते हुए मृतकों के परिवारजनों के प्रति संवेदना व्यक्त की है। मुख्यमंत्री ने जिलाधिकारी चमोली को राहत एवं बचाव कार्य तेजी लाने और अापदा से प्रभावितों को अनुमन्य आर्थिक सहायता के साथ अन्य राहत तुरंत उपलब्ध करवाने के निर्देश दिए।
चमोली प्रशासन से घटना की जानकारी मिलते ही राज्य आपदा मोचन बल (एसडीआरएफ), राजस्व एवं आपदा की टीमें राहत एवं बचाव कार्य में जुट गईं। प्रभावित क्षेत्र में राहत सामग्री पहुंचाई गई है।
सं. उप्रेती
वार्ता
image