Monday, Nov 30 2020 | Time 22:42 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • सेना के पूर्व प्रवक्ता कर्नल एन एन जोशी नहीं रहे
  • राजस्थान में कोरोना के 2677 नये मामले, 20 लोगों की मौत
  • अफगानिस्तान में सुरक्षाबलों के साथ झड़प में 28 तालिबानी आतंकवादी ढेर
  • पारंपरिक चिकित्सा एवं औषधि को लेकर भारत की पहल को दी एससीओ ने मान्यता
  • दिल्ली सरकार को राशन कार्ड जारी करने की प्रक्रिया में तेजी लाने के निर्देश
  • चौथे दिन भी दिल्ली सीमा पर डटे किसानों का प्रदर्शन
  • देश में कोरोना संक्रमण मामले साढ़े 94 लाख के पार
  • हाईलैंडर्स का लगातार दूसरा ड्रा, गोवा को अब भी जीत की तलाश
  • हाईलैंडर्स का लगातार दूसरा ड्रा, गोवा को अब भी जीत की तलाश
  • केंद्रीय गृह मंत्री ने अहमदाबाद में दो फ़्लाईओवर का किया ई-लोकार्पण
  • टीम इंडिया को खराब गेंदबाजी का खामियाजा भुगतना पड़ रहा है: आकाश
  • टीम इंडिया को खराब गेंदबाजी का खामियाजा भुगतना पड़ रहा है: आकाश
  • किसानों के तेवरों ने शासन-प्रशासन की नींद उड़ाई
  • कुलगाम में सीआरपीएफ अधिकारी की मौत
राज्य » अन्य राज्य


बाढ़ प्रभावित किसानों की उपेक्षा के लिये आंध्र प्रदेश सरकार पर तेदेपा का हमला

विजयवाड़ा, 30 अक्टूबर (वार्ता) तेलुगु देशम पार्टी (तेदेपा) के राष्ट्रीय महासचिव एवं पूर्व मंत्री नारा लोकेश ने बाढ़ प्रभावित किसानों को तुरंत मदद देने में उदासीन रवैये के लिये वाईएस जगन मोहन रेड्डी के नेतृत्व वाली सरकार को आड़े हाथों लिया है।
श्री लोकेश ने यहां एक संवाददाता सम्मेलन के दौरान कहा कि हाल ही में उन्होंने पांच जिलों में बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों का दौरा किया और किसानों ने उन्हें बताया कि केवल 10 से 15 प्रतिशत बर्बाद फसलों का ही सरकार की ओर से मुआवजा दिया जा रहा है। यह वाकई आपत्तिजनक है, क्योंकि 215 क्षेत्रो से अधिक में फसलों का भारी नुकसान हुआ है,और 10 हजार से अधिक घर बुरी तरह प्रभावित हुये हैं।
इस दौरान श्री लोकेश ने राज्य सरकार से सभी प्रभावित जिलों और मंडलों में फसल नुकसान की 100 प्रतिशत गणना सुनिश्चित करने की मांग की। उन्होंने कहा कि किसानों को नुकसान और कर्ज से बचाने के लिये प्रति एकड़ 25 हजार रुपये का मुआवजा दिया जाना चाहिये।
श्री लोकेश ने आंध्र प्रदेश सरकार से बाढ़ और भारी बारिश में प्रभावित हुये प्रत्येक परिवार को पांच हजार रुपये की वित्तीय सहायता देने की भी मांग की है। उन्होंने कहा कि यह दुर्भाग्यपूर्ण है कि जगन रेड्डी, जिन्होंने 2019 के चुनावों से पहले 'रायथु राज्यम' (किसानों का शासन) लाने का वादा किया था वह अब किसानों के जीवन को दुखी बना रहे हैं।
श्री लोकेश ने आरोप लगाया '' किसी भी मंत्री या सत्तारूढ़ दल के विधायक ने बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों का दौरा नहीं किया और न ही संकट की इस घड़ी में पीड़ित किसानों की मदद करने की कोशिश की। राज्य सरकार प्रचार के लिये करोड़ों रुपये खर्च कर रही है, लेकिन संकट के वक्त किसानों की मदद करने में कोई दिलचस्पी नहीं दिखा रही है। ''
सं जितेन्द्र
वार्ता
More News
कर्नाटक में कोरोना के सक्रिय मामलों में गिरावट

कर्नाटक में कोरोना के सक्रिय मामलों में गिरावट

30 Nov 2020 | 9:05 PM

बेंगलुरु 30 नवंबर (वार्ता) कर्नाटक में पिछले 24 घंटों के दौरान कोरोना वायरस संक्रमण के 998 नये मामले सामने आने के बाद संक्रमितों की संख्या सोमवार रात 8.84 लाख के पार पहुंच गयी, लेकिन राहत की बात यह है कि इस दौरान स्वस्थ होने वाले लोगों की संख्या अधिक होने से सक्रिय मामलों में एक बार फिर गिरावट आई।

see more..
तमिलनाडु में कोरोना रिकवरी दर 97 फीसदी के पार

तमिलनाडु में कोरोना रिकवरी दर 97 फीसदी के पार

30 Nov 2020 | 8:52 PM

चेन्नई 30 नवंबर (वार्ता) तमिलनाडु में पिछले 24 घंटों के दौरान कोरोना वायरस (कोविड-19) से संक्रमित 1,410 नए मामले सामने आने के बाद राज्य में संक्रमितों की संख्या सोमवार को 7.82 लाख के करीब पहुंच गयी लेकिन राहत की बात यह है कि मरीजों के स्वस्थ होने की दर भी बढ़कर 97 फीसदी के पार पहुंच गयी है जो राष्ट्रीय औसत से अधिक है।

see more..
केरल में कोरोना के 3,382 नए मामले

केरल में कोरोना के 3,382 नए मामले

30 Nov 2020 | 8:36 PM

तिरुवनंतपुरम, 30 नवंबर (वार्ता) केरल के मुख्यमंत्री पिनाराई विजयन ने कहा है कि राज्य में सोमवार को कोरोना वायरस (कोविड-19) महामारी के 3,382 नए मामले सामने आए और 6,055 मरीज स्वस्थ हुए है।

see more..
आंध्र में कोरोना रिकवरी दर 98 फीसदी के पार

आंध्र में कोरोना रिकवरी दर 98 फीसदी के पार

30 Nov 2020 | 8:30 PM

विजयवाड़ा, 28 नवंबर (वार्ता) आंध्र प्रदेश में एक लंबे अंतराल के बाद पिछले 24 घंटों के दौरान कोरोना वायरस संक्रमण के 381 नये मामले सामने आये जिससे संक्रमितों की संख्या सोमवार को बढ़कर 8.68 लाख के पार पहुंच गयी, लेकिन राहत की बात यह है कि कोरोना संक्रमितों के स्वस्थ होने की दर 98 फीसदी के पार पहुंच गयी है।

see more..
image