Thursday, Jan 28 2021 | Time 07:41 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • नवेलनी मामले को लेकर रूस पर प्रतिबंध लगा सकता है यूरोपीय संघ
  • ईरान पर लगे प्रतिबंधों को हटाने में समय लगेगा : ब्लिंकन
  • अमेरिका में कैपिटल हिल हिंसा मामले में तीन लोगों पर आरोप तय
  • इजरायल में कोरोना संक्रमण के 7,412 नये मामले
  • अमेरिका में कोविड-19 से 4 28 लाख से अधिक लोगों की मौत
  • ब्रिटेन में एस्ट्राजेनेका के वैक्सीन संयंत्र के पास मिला संदिग्ध पैकेट
  • अमेरिका ने यूएई और सऊदी अरब के साथ रक्षा समझौतों पर लगाई रोक
  • कैमरून में सड़क दुर्घटना में 53 लोगों की मौत, 29 घायल
राज्य » अन्य राज्य


पार्षद धामी हत्याकांड का दूसरा शूटर भी गिरफ्तार

नैनीताल 12 नवंबर (वार्ता) उत्तराखंड के रूद्रपुर में पार्षद प्रकाश धामी हत्याकांड में शामिल शूटर अतुल राठौर को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। उसे बरेली से गिरफ्तार किया गया है जबकि चार अन्य आरोपी फरार हैं।
पिछले महीने 12 अक्टूबर को रूद्रपुर नगर निगम के पार्षद धामी की उनके घर भदईपुरा में गोली मारकर दर्दनाक हत्या कर दी गयी थी। इस हत्याकांड ने उधमसिंह नगर में सनसनी पैदा कर दी थी। वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक (एसएसपी) दलीप सिंह कुंवर के निर्देश पर हत्यारों को पकड़ने के लिये तत्काल सात अलग अलग टीमों का गठन कर दिया गया।
जांच में पुलिस को पता चला कि श्री धामी की हत्या राजनीतिक रंजिश के चलते की गयी है और शातिर अपराधी राजेश गंगवार और उसका भाई अन्नू गंगवार की साजिश से हत्या को अंजाम दिया गया है। हत्या के लिये दोनों भाइयों की ओर से चार लाख की फिरौती दी गयी। इस घटना को अंजाम देने के लिये मास्टर माइंड राजेश गंगवार ने सितारगंज निवासी अपने दोस्त दिनेश शर्मा की मदद ली। दिनेश शर्मा ने भाड़े के हत्यारों की व्यवस्था की।
घटना के दिन पांच हत्यारे राजकुमार उर्फ बिट्टू ,विनय वर्मा उर्फ बंटू, अतुल राठौर, रिंकू शर्मा उर्फ पंडित तथा दिनेश शर्मा फर्जी नंबर की आई-20 कार में सवार होकर श्री धामी के घर पर आ धमके और उन्हें (धामी को) नगर निगम के काम के बहाने बाहर बुलाकर गोलियों से भून दिया। हत्या करने के बाद सभी आरोपी फरार हो गये। घटना के तुरंत बाद षंड्यंत्रकारी दोनों भाई राजेश और अन्नू भी फरार हो गये।
पुलिस को बुधवार को उस समय बड़ी सफलता हाथ लगी जब उसने शूटर अतुल निवासी ग्राम लालऊ थाना दक्षिण फिरोजाबाद उत्तर प्रदेश को बरेली से गिरफ्तार कर लिया। पुलिस ने उसकी निशानदेही पर हत्या में प्रयुक्त 315 बोर का तमंचा भी बरामद कर लिया है। हत्या करने के बाद आरोपी ने जिंदा कारतूस समेत उसे गन्ने के खेत में फेंक दिया था।
आरोपी ने अपना गुनाह कुबूल कर लिया है और पुलिस को पूछताछ में काफी अहम सुराग दिये हैं। आरोपी को अदालत में पेश करने के बाद जेल भेज दिया गया है।
यहां यह भी ध्यान दिला दें कि एसओजी और पुलिस की टीम साजिशकर्ता एवं शातिर अपराधी राजेश तथा शूटर राजकुमार उर्फ बिट्टू को पहले ही गिरफ्तार कर जेल भेज चुकी है। राजेश ऊधमसिंह नगर का हिस्ट्रीशीटर है और उसका आपराधिक इतिहास है। राजकुमार को अलीगढ़ उसके घर से गिरफ्तार किया गया है और वह भी दुर्दांत किस्म का अपराधी बताया जाता है। राजेश का भाई अन्नू समेत हत्याकांड में शामिल तीन अन्य अपराधी अभी भी फरार हैं।
रवीन्द्र.संजय
वार्ता
image