Monday, Jan 25 2021 | Time 01:12 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • अगले सप्ताह दावोस फोरम को संबोधित करेंगे पुतिन
  • महिला कर्मचारियों का विशेष ख्याल रखें अधिकारीः राव
राज्य » अन्य राज्य


वेंकैया ने युवाओं से नये भारत निर्माण में शामिल होने का किया आह्वान

हैदराबाद, 16 नवंबर (वार्ता) उप राष्ट्रपति एम वेंकैया नायडू ने सोमवार को देश के युवाओं से राष्ट्र निर्माण और विकास कार्यों में शामिल होने और नये जोश के साथ आगे बढ़ने का आह्वान किया।
हैदराबाद विश्वविद्यालय में एक नये ‘सुविधा केंद्र’ का उद्घाटन करते हुए श्री नायडू ने युवाओं को नकारात्मक सोच से दूर रहने और सकारात्मक दृष्टिकोण के साथ एक ऐसे नये भारत के निर्माण में शामिल हाेने की सलाह दी जो भ्रष्टाचार, भूख, शोषण और भेदभाव से कोसों दूर हो।
उप राष्ट्रपति ने राष्ट्र के एक महत्वपूर्ण मोड़ से गुजरने और कई चुनौतियों का सामना करने का जिक्र करते हुए कहा कि युवाओं को हर मोर्चे पर देश को मजबूत बनाने में अपनी अग्रणी भूमिका निभानी चाहिए।
उन्होंने युवाओं से आग्रह किया कि वे निरक्षरता को खत्म करने, बीमारियों का मुकाबला करने, कृषि क्षेत्र में चुनौतियों से निपटने, किसी भी तरह के भेदभाव और सामाजिक बुराइयों को समाप्त करने, महिलाओं पर अत्याचार और भ्रष्टाचार को खत्म करने के लिए पथ-प्रदर्शक की भूमिका निभाने के लिए आगे आएं।
उन्हाेंने मूल्यों में आ रही गिरावट पर चिंता व्यक्त करते हुए युवाओं से अनुरोध किया कि वे देश की पुरातन सभ्यता के मूल्यों और लोकाचारों का अनुसरण करें।
श्री नायडू ने युवाओं से कोरोना महामारी और जलवायु परिवर्तन की समस्या से निपटने के लिए एक नयी सोच और उपायों के साथ आगे आने को कहा। उन्होंने समग्र शिक्षा का विकास और लोगों के जीवन में बदलाव का आधार बताते हुए 21वीं सदी की चुनौतियों से निपटने के लिए शिक्षा प्रणाली में व्यापक सुधारों की वकालत की लेकिन इसके साथ ही भारतीय परंपराओं, संस्कृति और लोकाचारों को भी सहेज कर रखने का भी आह्वान किया।
उप राष्ट्रपति ने कहा कि तक्षशिला और नालंदा जैसे प्रतिष्ठित संस्थानों का हमेशा स्मरण करें। उन्होंने कहा कि प्राचीन काल में ये संस्थान विदेशी छात्रों के लिए अध्ययन का बड़ा केन्द्र हुआ करते थे। उन्होंने इस अवसर पर हैदराबाद विश्वविद्यालय के संकाय और छात्रों से अकादमिक उत्कृष्टता प्राप्त करने पर ध्यान केंद्रित करने का आग्रह किया। उन्होंने कहा कि लोगों की अलग-अलग विचारधारा हो सकती हैं, लेकिन मुख्य विचारधारा ‘अकादमिक उत्कृष्टता’ होनी चाहिए।
उच्च शिक्षा संस्थानों को उत्कृष्टता के केंद्रों में विकसित करने के लिए निजी क्षेत्र सहित सभी हितधारकों से ठोस प्रयासों का आह्वान करते हुए श्री नायडू ने अंतरराष्ट्रीय मानकों के अनुरूप गुणवत्तापूर्ण शिक्षा प्रदान करने की आवश्यकता पर बल दिया।
उप्रेती.श्रवण
जारी वार्ता
More News
वाहनों की टक्कर में तीन की मौत, छह घायल

वाहनों की टक्कर में तीन की मौत, छह घायल

25 Jan 2021 | 12:00 AM

रामानाथपुरम, 24 जनवरी (वार्ता) तमिलनाडु के थापल चावड़ी में रविवार को ओमनी वैन और पर्यटक वैन की टक्कर में महिला सहित तीन लोगों की मौत हो गयी और छह अन्य घायल हो गए।

see more..
सोलर सेक्स स्कैंडल की जांच सीबीआई से कराने का फैसला

सोलर सेक्स स्कैंडल की जांच सीबीआई से कराने का फैसला

24 Jan 2021 | 11:38 PM

तिरुवनंतपुरम, 24 जनवरी (वार्ता) केरल सरकार ने पूर्व मुख्यमंत्री उम्मन चांडी और अन्य के खिलाफ सोलर सेक्स स्कैंडल मामले की जांच केन्द्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) से कराने का निर्णय लिया है।

see more..
त्रिवेंद्र का दावा बेदाग होगा हरिद्वार का कुम्भ

त्रिवेंद्र का दावा बेदाग होगा हरिद्वार का कुम्भ

24 Jan 2021 | 9:27 PM

हरिद्वार/देहरादून, 24 जनवरी (वार्ता) उत्तराखंड के मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने कहा है कि हरिद्वार में आयोजित होने वाला कुम्भ पूरी तरह से 'बेदाग' होगा।

see more..
image