Sunday, Jan 24 2021 | Time 23:16 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • पालघर में सड़क हादसे में दो की मौत, तीन घायल
  • कर्नाटक में कोरोना के 573 नए मामले
  • वाहनों की टक्कर में तीन की मौत, छह घायल
  • जम्मू-कश्मीर में कोरोना के 73 नए मामले
  • मथुरा में तीन वाहनों की टक्कर,दाे की मृत्यु,कई घायल
  • बेंगलुरू ने ओडिशा को ड्रॉ पर रोका
  • बेंगलुरू ने ओडिशा को ड्रॉ पर रोका
  • डोटासरा ने लक्ष्मणगढ़ के ढोलास में किया सड़क का शिलान्यास
  • ऑस्ट्रेलिया की पिचों को मिली अच्छी रेटिंग
  • ऑस्ट्रेलिया की पिचों को मिली अच्छी रेटिंग
  • पंचायतों में भुगतान के लिए पूर्ववत व्यवस्था ही जारी रहेगी-गहलोत
  • योगी ने की युवाओं की निःशुल्क कोचिंग के लिए अभ्युदय योजना की घोषणा
  • झारखंड को विकास के पथ पर आगे लाना है तो सड़क, बिजली एवं पानी बेहद जरूरी : हेमंत
  • करगिल में साहसिक पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए खोला जायेगा आईआईएसएम
  • करगिल में साहसिक पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए खोला जायेगा आईआईएसएम
राज्य » अन्य राज्य


धनखड़ ने पश्चिम बंगाल पुलिस पर साधा निशाना

कोलकाता, 17 नवंबर (वार्ता) पश्चिम बंगाल के राज्यपाल जगदीप धनखड़ ने नादिया के प्लासी शमशानघाट में शहीद जवान सुबोध घोष के अंतिम संस्कार के दौरान भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के सांसद जगन्नाथ सरकार से किये गये दुर्व्यवहार को लेकर राज्य पुलिस की आलोचना करते हुये कहा है कि यह पुलिस अधीक्षक और जिला मजिस्ट्रेट की तरफ से अपने कर्तव्यों का घोर उल्लंघन है।
श्री धनखड़ ने मंगलवार को टि्वटर पर कहा, “राजनीतिक रूप से कम करने वाले पुलिस अधिकारियों को कानून के क्रोध का सामना करना पड़ेगा।”
उन्होंने कहा, “पश्चिम बंगाल की पुलिस ने नादिया के प्लासी शमशानघाट में शहीद सुबोध घोष के अंतिम संस्कार के दौरान सांसद जगन्नाथ सरकार से जिस तरह का व्यवहार किया वह नादिया के एसपी और डीएम की तरफ से अपने कर्तव्यों का घोर उल्लंघन है।”
श्री धनखड़ ने कहा, “इस संबंध में डीजीपी (पुलिस महानिदेशक) से रिपोर्ट मांगी गई है।”
उन्होंने कहा, “इस तरह के व्यवहार से लोकतंत्र शर्मसार हुआ है। सत्तारूढ़ पार्टी के सांसद को अतिथि माना जाता है और विपक्षी पार्टी के सांसद से दुर्व्यवहार किया जाता है।”
राज्यपाल ने कहा, “अगर लोकतंत्र को बचाना है तो पश्चिम बंगाल पुलिस को उसके इस व्यवहार के लिए सजा मिलनी चाहिए।”
गौरतलब है कि 15 नवंबर को करीब 2330 बजे सेना के शहीद जवान सुबोध घोष का अंतिम संस्कार नादिया के प्लासी शमशानघाट में किया गया था। आरोप लगाया गया है कि इस दौरान राज्य के पुलिस अधिकारियों ने बिना किसी वैध कारण के सांसद जगन्नाथ सरकार को शहीद बेदी/मंच के पास जाने से रोका।
सांसद का आरोप है कि उन्हें शहीद जवान को श्रद्धांजलि देने में काफी कठिनाई का सामना करना पड़ा। उन्होंने आरोप लगाया है कि पुलिस ने लोगों के सामने उनका अपना करने के उद्देश्य से ऐसा जानबूझकर किया था।
प्रियंका आशा
वार्ता
image