Wednesday, Jan 20 2021 | Time 00:28 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
राज्य » अन्य राज्य


सोना तस्करी मामले में शिवशंकर की जमानत से इंकार

कोच्चि 17 नवम्बर (वार्ता) केरल की एक स्थानीय अदालत ने यहां मंगलवार को सोना तस्करी गिरोह से संबंधित प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) द्वारा दर्ज धनशोधन के आरोपों के मामले में निलंबित आईएएस अधिकारी एम शिवशंकर को जमानत देने से इनकार कर दिया।
एर्नाकुलम प्रधान सत्र अदालत के न्यायमूर्ति कौसर एजापागथ ने शिवशंकर की जमानत देने से इन्कार कर दिया। अदालत ने ईडी के तर्कों को बरकरार रखा जो सोना तस्करी के मामले की जांच कर रही है।
शिवशंकर को ईडी ने 28 अक्टूबर को गिरफ्तार किया था जो पिछले 19 दिनों से केन्द्रीय एजेंसी की हिरासत में है। उसे 26 नवंबर तक रिमांड में रखा जाएगा। जांच एजेंसी ने अपने तर्क में कहा कि अगर शिवशंकर को जमानत दी गयी तो वह इस मामले में गडबड़ी करने की कोशिश कर सकते हैं या फिर भाग सकते हैं। वह केरल के सबसे महत्वपूर्ण आईएएस अधिकारियों में से एक हैं।
ईडी ने अदालत में बताया कि शिवशंकर ने मुुख्यमंत्री के कार्यालय में बहुत महत्वपूर्ण जिम्मेदारी निभायी है। अगर उसे जमानत दे दी गयी तो वह गवाहों को अपने प्रभाव में ले सकते हैं। जांच एजेंसी ने यह भी कहा वह हत्या के लिए उकसा सकते है सोना तस्करी एक अपराध है जो बहुत अच्छी तरह से सुनियोजित किया गया है। एजेंसी ने कहा एक अधिकारी जिसे लोगों के विश्वास की रक्षा करनी चाहिए, उसे इस तरह से काम नहीं करना चाहिए।
उन्होंने कहा कि व्हाट्सएप चैट के जरिए शिवशंकर और स्वप्न सुरेश के बीच संबंध को साबित किया जा सकता है। इस चैट में वित्तीय हस्तांतरण को विस्तार से बताया गया है। शिवशंकर स्वप्न के के वित्तीय स्थिति के बारे में पूरी तरह से जानता था। इस संदर्भ में शिवशंकर का यह तर्क था कि उसे सोने की तस्करी के बारे में कुछ नहीं पता था। जो कि विश्वास करने योग्य नहीं है।
उप्रेती.संजय
वार्ता
image