Saturday, Jan 23 2021 | Time 05:54 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • उत्तर कोरिया के निवारण के लिए साझेदारों के साथ काम कर रहे हैंः व्हाइट हाउस
  • आने वाले दिनों में कोरोना से और मौतें हो सकती हैंः जॉनसन
  • केन्या एयरवेज ने फ्रांस और हॉलैंड के लिए उड़ाने निलंबित की
  • ब्राजील में कोरोना से 1316 और मरीजों की मौत
  • बिडेन ने मेक्सिको के राष्ट्रपति से की बातः व्हाइट हाउस
  • नारायणसामी राष्ट्रपति से मुलाकात नहीं कर पाएंगे
राज्य » अन्य राज्य


उत्तराखंड की नीति घाटी में जियो के दो 4-जी टॉवर शुरू, पहली बार घनघनाई मोबाइल घंटियां

देहरादून, 25 नवंबर (वार्ता) रिलायंस जियो की उत्तराखंड के चमोली में भारत-तिब्बत सीमा से लगी नीति घाटी में दो 4-जी मोबाइल टॉवर ने काम करना शुरु कर दिया है जिससे पहली बार यहां मोबाइल फोन की घंटियां घनघना उठीं।
रिलायंस जियो ने बुधवार को बताया कि उसे नीति घाटी में 10 टॉवर लगाने का काम मिला है जिसमें दो को शुरु कर दिया गया है, बाकी आठ टॉवर के निर्माण का काम भी तेज गति से चल रहा है। टावरों के काम शुरु करने के बाद घाटी में रहने वाले स्थानीय नागरिकों, ग्रामीणों के साथ सेना के जवानों को भी 4-जी संचार सेवाए उपलब्ध हो पाएंगी।
मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने नीति घाटी के सुग्गी और जुम्मा गांवों में इन मोबाइल टॉवर का उद्घाटन किया। जुम्मा गांव में हुए खास कार्यक्रम में मुख्यमंत्री वर्चुअली भाग ले रहे थे। उद्घाटन कार्यक्रम में सांसद तीरथ सिंह रावत और बद्रीनाथ के विधायक महेद्र भट्ट भी शामिल रहे।
रिलायंस अध्यक्ष मुकेश अंबानी का धन्यवाद करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि “सीमांत क्षेत्र में अंतिम व्यक्ति को कनेक्टिविटी देने का वादा श्री अंबानी ने पूरा किया है। मैं उनका आभार व्यक्त करता हूं। मुकेश जी डेटा को ईंधन कहते रहे हैं और मुझे विश्वास है कि हमारे उत्तराखंड के नौजवान इस नई तकनीक और संचार व्यवस्था का लाभ उठाएंगे।“
श्री रावत ने उन 11 गांवों के निवासियों को भी शुभकामनाएं दी जो पहले फेज में जियो के नए टॉवरों के जरिए संचार सेवाओं से जुड़ गए है।
देश में मोबाइल सेवाएं शुरू हुए 25 वर्ष हो चुके हैं लेकिन नीति घाटी के कई गांव आज तक मोबाइल सेवा का लाभ उठाने से महरुम थे। ग्रामीणों को संचार सेवाओं के लिए 45 किलोमीटर दूर तक आना पड़ता था। भारत-तिब्बत सीमा से लगी इस घाटी में बड़ी संख्या में सेना और आईटीबीपी के जवान भी तैनात रहते हैं। ऐसे में जियो की 4-जी सेवाओं के शुरू होने का लाभ सुरक्षा एजेंसियों को भी मिलेगा।
दुर्गम इलाके की स्थितियों और प्रतिकूल जलवायु परिस्थितियों के बावजूद रिलायंस जियो यह उपलब्धि हासिल करने वाला पहला ऑपरेटर बन गया है। आज से पहले कोई भी ऑपरेटर इस सीमावर्ती घाटी में नहीं पहुंच पाया था। सर्दियों में यह इलाका भारी बर्फबारी की चपेट में रहता है ऐसे में टॉवर इंस्टालेशन का काम समय पर पूरा करना एक रिकॉर्ड है।
इस अवसर पर विधायक महेंद्र भट्ट ने 4-जी सेवाएं शुरू करने और घाटी को डिजिटल सशक्तिकरण करने के लिए रिलायंस जियो के प्रति अपनी कृतज्ञता व्यक्त की।
रिलायंस जियो उत्तराखंड का सबसे बड़ा और सबसे तेज़ 4-जी नेटवर्क है। जियो के नेटवर्क पर उत्तराखंड का सबसे अधिक डेटा इस्तेमाल किया जाता है। उत्तराखंड में 38.2 लाख ग्राहकों 4-जी ग्राहकों के साथ जियो निर्विवाद रूप से मार्केट लीडर बना हुआ है। अधिकतर प्रमुख संस्थान, कॉरपोरेट्स, कॉलेज, विश्वविद्यालय, होटल, अस्पताल, मॉल और अन्य वाणिज्यिक प्रतिष्ठान जियो नेटवर्क से जुड़े हैं। राज्य के 13 जिलों की लगभग सभी तहसील, उप तहसीलों सहित 12700 से अधिक गांव जियो से जुड़े हैं।
मिश्रा, उप्रेती
वार्ता
More News
मेघालय के कोयला खनन क्षेत्र में दुर्घटना में छह की मौत

मेघालय के कोयला खनन क्षेत्र में दुर्घटना में छह की मौत

22 Jan 2021 | 11:20 PM

शिलांग 22 जनवरी (वार्ता) मेघालय के पूर्वी जयंतिया हिल्स जिले के दिनेशालु गांव के पास सोरारी में कोयला खनन क्षेत्र में एक दुर्घटना में छह श्रमिकों की मौत हो गई।

see more..
केरल में कोरोना वायरस सक्रिय मामले बढ़ कर 70000 के पार

केरल में कोरोना वायरस सक्रिय मामले बढ़ कर 70000 के पार

22 Jan 2021 | 9:23 PM

तिरुवनंतपुरम, 22 जनवरी (वार्ता) केरल में पिछले 24 घंटों के दौरान कोरोना वायरस (कोविड-19) संक्रमण के नये मामलों की तुलना में स्वस्थ होने वाले मामलों में कमी होने के कारण सक्रिय मामलों की संख्या शुक्रवार को बढ़ कर 70,000 के पार पहुंच गयी।

see more..
image