Thursday, Oct 21 2021 | Time 02:12 Hrs(IST)
image
राज्य » अन्य राज्य


कोरोना,निपाह वायरस:केरल से कर्नाटक में प्रवेश पर रोक

K’taka govt restricts public entry from Kerala, due to possible third Corona wave & Nipah virus
बेंगलुरु 08 सितंबर (वार्ता) कर्नाटक सरकार ने कोरोना महामारी की संभावित तीसरी लहर के फैलने की आशंका के बीच बुधवार को केरल से राज्य में छात्रों, कर्मचारियों और अन्य लोगों के प्रवेश को अक्टूबर के अंत तक प्रतिबंधित कर दिया।
Bengaluru, Sep 8 (UNI) Karnataka government on Wednesday issued an advisory restricting the entry of students, employees and others into the state from Kerala till the end of October amid fears of the outbreak of a possible third wave of the Covid-19 pandemic.
स्वास्थ्य विभाग ने अधिकारियों और अन्य निजी कंपनियों से यह देखने का अनुरोध किया है कि लोग अक्टूबर के अंत तक अपनी यात्रा योजनाओं को स्थगित कर दें।
The health department has requested the authorities and other private players to see to it that people postpone their travel plans till the end of October.
स्वास्थ्य और परिवार कल्याण विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव जावेद अख्तर ने मंगलवार रात जारी बयान में कहा कि सभी प्रशासकों और शैक्षणिक, नर्सिंग तथा पैरामेडिकल संस्थानों के प्राचार्यों को सलाह दी गई है कि वे अपने बच्चों को अक्टूबर के अंत तक अपनी वापसी टालने का निर्देश दें। इसके अलावा, उन्हें अपने छात्रों और अन्य कर्मचारियों को उसी अवधि के लिए कर्नाटक से केरल की यात्रा नहीं करने का निर्देश देना चाहिए।
Jawaid Akthar, Additional Chief Secretary in Health and Family Welfare Department in statement issued on Tuesday night , said all administrators, and principals of educational, nursing, paramedical institutions have been advised to instruct their wards to defer their return till the end of October. Further, they should direct their students and other staff not to travel to Kerala from Karnataka for the same period.
श्री अख्तर ने कहा कि इसी तरह के दिशा-निर्देश सभी प्रशासकों, अस्पतालों, नर्सिंग होम, कार्यालयों, होटलों, कारखानों और उद्योगों के मालिकों को भी जारी किए गए हैं। लोगों को सलाह दी गई है कि वे अक्टूबर के अंत तक केरल जाने की अपनी योजना टाल दें।
Similar guidelines have also been issued to all the administrators, owners of hospitals, nursing homes, offices, hotels, factories and industries. People have been advised to defer their plans to visit Kerala till the end of October.
उन्होंने कहा कि केरल में मौजूदा कोरोना की स्थिति को देखते हुए यह निर्णय लिया गया है। उन्होंने कहा कि यह देखा गया है कि केरल से कर्नाटक में नकारात्मक आरटी-पीसीआर रिपोर्ट के साथ आने वाले छात्र और कर्मचारी दोबारा परीक्षण के दौरान सकारात्मक परीक्षण कर रहे हैं।
The decision has been taken in view of the prevailing Covid situation in Kerala. It has been observed that students and employees arriving in Karnataka from Kerala with negative RT-PCR report are testing Covid positive during a repeat test, Akthar said.
दक्षिण कन्नड़ और उडुपी जिलों में ऐसे मामलों की संख्या काफी अधिक है।
केरल में सामने आए निपाह वायरस के संक्रमण के पुष्ट मामलों को देखते हुए। मुख्य फोकस दक्षिण कन्नड़, उडुपी, मैसूरु, कोडागु और चामराजनगर जिलों पर हैं।
The number of such cases are considerably high in Dakshina Kannada and Udupi districts.
in view of confirmed cases of Nipah virus an infection reported in Kerala. The main focus districts are Dakshina Kannada, Udupi, Mysuru, Kodagu, and Chamarajanagar.
Within the advisory to the deputy commissioners of all districts, the Division of Well being and Household Welfare mentioned arrivals from Kerala needs to be monitored for fever, altered psychological standing, extreme weak point, headache, respiratory misery, cough, and different typical signs.
All district authorities have been requested to ship each day studies to the Commissioner, Well being and Household Welfare Providers, on the standing of circumstances.
संजय
वार्ता
More News
कुमाऊं में आपदा का कहर: 49 लोगों की मौत, 14 घायल

कुमाऊं में आपदा का कहर: 49 लोगों की मौत, 14 घायल

20 Oct 2021 | 9:27 PM

नैनीताल, 20 अक्टूबर (वार्ता) उत्तराखंड के कुमाऊं मंडल में आयी आपदा में अभी तक 49 लोगों की मौत हो गयी है और 14 लोग घायल हुई है जबकि छह लोग लापता हैं।

see more..
उत्तराखंड आपदा: मरने वालों की संख्या 52 हुई, पांच अब भी लापता

उत्तराखंड आपदा: मरने वालों की संख्या 52 हुई, पांच अब भी लापता

20 Oct 2021 | 8:48 PM

देहरादून 20 अक्टूबर (वार्ता) उत्तराखंड में रविवार सुबह से मंगलवार तक लगभग 48 घण्टे हुई अतिवृष्टि, बाढ़ और भूस्खलन की चपेट में आकर मरने वालों की संख्या बढ़कर 52 हो गई है, जबकि पांच व्यक्ति अब भी लापता है।

see more..
image