Thursday, Dec 9 2021 | Time 18:25 Hrs(IST)
image
राज्य » अन्य राज्य


आंगनवाड़ी सहायिकाओं को डीबीटी से भुगतान न करने पर सवाल

देहरादून 08 अक्टूबर (वार्ता) उत्तराखंड में आंगनबाड़ी कार्यकत्री और सहायिकाओं को ड्रेस के रूप में वितरित साड़ी और सूटों की गुणवत्ता पर जन संघर्ष मोर्चा ने सवाल खड़े कर दिये हैं।
राज्य में अपनी निष्पक्ष कार्यशैली के लिये पहचाने जाने वाले मोर्चा के संयोजक और पूर्व राज्यमंत्री रघुनाथ सिंह नेगी ने देहरादून जिले के विकासनगर में संवाददाता सम्मेलन में साक्ष्यों के साथ कहा कि हाल ही में महिला सशक्तिकरण एवं बाल विकास विभाग द्वारा आंगनवाड़ी, मिनी आंगनवाड़ी कार्यकत्रियों एवं सहायिकाओं हेतु लगभग 66,600 साड़ियों व सूट की खरीद 2.60 करोड़ रुपये में की गई। उन्होंने बताया कि प्रति साड़ी 393 रुपए एवं सूट 398 रुपए में खरीदा गया। उक्त खरीदी गई साड़ियों व सूट्स की गुणवत्ता कितनी खराब है कि वो पहनने लायक ही नहीं हैं।
श्री नेगी ने कहा कि जिस प्रकार से कर्मकार कल्याण बोर्ड ने करोड़ों रुपए का घटिया सामान खरीद कर श्रमिकों को लूटने का काम किया था, ठीक उसी प्रकार महिला सशक्तिकरण एवं बाल विकास विभाग ने भी मातृशक्ति को लूटने का काम किया है। उन्होंने कहा कि अपनी कमीशन खोरी के चक्कर में विभाग ने सूट और साड़ी खरीद का खेल रचकर अपने वारे-न्यारे कर लिए, लेकिन इन मातृशक्ति को पूरी तरह से छला गया। उन्होंने कहा कि अगर यही ड्रेस कोई आमजन थोक में बाजार से खरीदे तो आधे दामों में आसानी से उपलब्ध हो सकती हैं।
श्री नेगी ने आरोप लगाया कि विभाग द्वारा इसमें अलग तरह का प्रिंट करवा कर एक तरह से अलग ही खेल खेला गया। उन्होंने प्रश्न किया कि विभाग को खुद खरीद कर साड़ी, सूट वितरित की। इसके लिए डीबीटी के माध्यम से उक्त धनराशि इनके खातों में ड्रेस खरीदने हेतु ट्रांसफर क्यों नहीं की गई।
मोर्चा संयोजक ने कहा कि शीघ्र ही मातृशक्ति से हुई लूट के मामले में सरकार से पूरे प्रकरण की जांच करवाई जायगी।
संवाददाता सम्मेलन में विजय राम शर्मा, ओ.पी.राणा व भीम सिंह बिष्ट मौजूद रहे।
सं.संजय
वार्ता
More News
सुलूर हवाई अड्डे से दिल्ली लाए गए सीडीएस जनरल बिपिन रावत और अन्य पीड़ितों के शव

सुलूर हवाई अड्डे से दिल्ली लाए गए सीडीएस जनरल बिपिन रावत और अन्य पीड़ितों के शव

09 Dec 2021 | 5:25 PM

कोयंबटूर, 09 दिसंबर (वार्ता) देश के पहले चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ (सीडीएस) जनरल बिपिन रावत, उनकी पत्नी मधूलिका रावत और अन्य 11 सेना अधिकारियों के पार्थिव शव गुरुवार सुलूर हवाई अड्डे से नई दिल्ली के लिए भेजा गया। जो बुधवार को तमिलनाडु के कुन्नूर में भारतीय वायुसेना के एक हेलिकॉप्टर दुर्घटना में मारे गए थे।

see more..
image