Friday, Jun 14 2024 | Time 12:38 Hrs(IST)
image
राज्य » अन्य राज्य


मोथा प्रमुख आदिवासियों को मूर्ख बना रहे हैं : चौधरी

अगरतला 08 मई (वार्ता) त्रिपुरा मार्क्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी (माकपा) के सचिव जितेंद्र चौधरी ने टीआईपीआरए मोथा सुप्रीमो प्रद्योत किशोर देबबर्मन की ओर से पार्टी की ग्रेटर टिपरालैंड की मांग पर बातचीत के लिए प्रस्तावित वार्ताकार के दौरे को स्थगित करने की रविवार की घोषणा के बाद तीखी प्रतिक्रिया व्यक्त की है।
एक दिन पहले, श्री प्रद्योत ने मीडिया को बताया कि केंद्र सरकार ने एक सेवानिवृत्त आईपीएस अधिकारी और नागा शांति वार्ता के मध्यस्थ एके मिश्रा को मोथा के वार्ताकार के रूप में नियुक्त करने का फैसला किया है, जैसा कि केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने वादा किया था। रिपोर्ट के मुताबिक श्री मिश्रा को शाह के निर्धारित दौरे से दो दिन पहले आठ मई को अगरतला पहुंचना था।
श्री प्रद्योत ने एक सोशल मीडिया पोस्ट में कहा, “मुझे एके मिश्रा द्वारा सूचित किया गया है कि उन्हें हिंसाग्रस्त मणिपुर की स्थिति के कारण वहां पहले जाना होगा और वहां के संकट को संभालने के बाद त्रिपुरा आएंगे। हम वहां की स्थिति की गंभीरता को समझते हैं और घोषणा की अगली तारीख का इंतजार करेंगे। मैं 10 मई को निर्धारित कार्यक्रम के अनुसार गृह मंत्री से मिलूंगा।”
श्री प्रद्योत पर नए सिरे से निशाना साधते हुए माकपा के राज्य सचिव ने टिप्पणी की कि भाजपा के वादे के अनुसार ‘वार्ताकार’ की प्रस्तावित नियुक्ति एक और जुमला (झूठा) है तथा साधारण आदिवासियों को लुभाने की एक औसत चाल है। वहीं श्री प्रद्योत ग्रेटर टिपरालैंड जैसी पौराणिक मांगों को हवा देकर सीधे-सादे आदिवासी को गुमराह करते रहे हैं।
उन्होंने कहा,“जब उन्होंने अवास्तविक और विभाजनकारी मांगें उठाईं तब भी हम जानते थे कि इससे कुछ नहीं निकलेगा और यह अब सच हो गया है। श्री प्रद्योत किशोर अब भारतीय जनता पार्टी और असम के मुख्यमंत्री हिमंत बिस्वा सरमा के हाथों में कैदी हैं। वह इससे बाहर नहीं निकल सकते हैं।”
उन्होंने कहा कि यदि ‘वार्ताकार’ वास्तव में नियुक्त किया जाता है तो कोई कारण नहीं है कि अन्य आदिवासी-आधारित दल उनसे बात नहीं करेंगे। 2018 के विधानसभा चुनाव के बाद भाजपा ने तिप्रालैंड की आईपीएफटी की मांग के जवाब में एक अधिकार प्राप्त समिति का गठन किया था, जिसने पांच साल में कुछ नहीं किया एवं यह अभी भी कागज पर है। उन्होंने कहा कि यहां तक ​​कि 125वां संविधान संशोधन विधेयक भी लटका हुआ है।
श्री चौधरी ने कहा,“श्री प्रद्योत किशोर को यह स्पष्ट करने की जरूरत है कि वह तथाकथित वार्ताकार से वास्तव में क्या मांग करते हैं और संवैधानिक समाधान के अपने पसंदीदा सिद्धांत से उनका क्या मतलब है।”
संजय अशोक
वार्ता
More News
तृणमूल कांग्रेस ने विधानसभा उपचुनावों के लिए उम्मीदवार घोषित किये

तृणमूल कांग्रेस ने विधानसभा उपचुनावों के लिए उम्मीदवार घोषित किये

14 Jun 2024 | 11:20 AM

कोलकाता 14 जून (वार्ता) पश्चिम बंगाल में सत्तारुढ़ तृणमूल कांग्रेस ने राज्य की चार विधानसभा सीटों पर होने वाले उपचुनावों के लिए शुक्रवार को पार्टी उम्मीदवारों के नाम शुक्रवार को घोषित कर दिये।

see more..
उत्तराखंड में वन्य जीव विहार में आग झुलसने से चार वन कर्मियों की मौत, चार जख्मी

उत्तराखंड में वन्य जीव विहार में आग झुलसने से चार वन कर्मियों की मौत, चार जख्मी

14 Jun 2024 | 9:04 AM

देहरादून, 13 जून (वार्ता) उत्तराखंड के अल्मोडा जनपद अंतर्गत गुरुवार अपराह्न जंगल की आग बुझाने गए चार वन कार्मिकों की आग में झुलसने से मौत हो गई, जबकि चार अन्य गंभीर रूस से जख्मी हो गए, जिन्हें उपचार के लिए अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

see more..
कुवैत अग्निकांडः मृतकों के परिजनों को पांच-पांच लाख रुपये देगी तमिलनाडु सरकार

कुवैत अग्निकांडः मृतकों के परिजनों को पांच-पांच लाख रुपये देगी तमिलनाडु सरकार

13 Jun 2024 | 11:35 PM

चेन्नई, 13 जून (वार्ता) तमिलनाडु के मुख्यमंत्री एम के स्टालिन ने कुवैत अग्निकांड में मारे गए राज्यों के सात लोगों के परिवारों को पांच-पांच लाख रुपये की अनुग्रह राशि देने की घोषणा की है।

see more..
चंद्रबाबू ने की देवी पद्मावती अम्मावरी मंदिर में पूजा-अर्चना

चंद्रबाबू ने की देवी पद्मावती अम्मावरी मंदिर में पूजा-अर्चना

13 Jun 2024 | 7:38 PM

तिरुपति, 13 जून (वार्ता) आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री एन. चंद्रबाबू नायडू ने गुरुवार को आंध्र प्रदेश में तिरुपति के निकट तिरुचनूर में श्री पद्मावती अम्मावरू मंदिर में पूजा-अर्चना की।

see more..
image