Thursday, Sep 19 2019 | Time 20:06 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • बैंककर्मी से लूट मामले में एक गिरफ्तार, 3 40 लाख बरामद
  • सुप्रियो पर वामपंथी छात्रों का हमला,राज्यपाल ने मांगी रिपोर्ट
  • डेरे के महंत की हत्या के आरोप में चेला गिरफ्तार
  • जालौन :बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों की स्थिति और अन्य व्यवस्थाओं का अधिकारियों ने लिया जायजा
  • चित्रकूट पुलिस ने मुठभेड़ में किया एक लाख के इनामी डकैत को गिरफ्तार
  • कोलकाता एवं जयपुर के बीच साप्ताहिक विशेष ट्रेन
  • नौसेना को स्कोर्पिन श्रेणी की दूसरी पनडुब्बी खंडेरी मिली
  • हरीश रावत के स्टिंग मामले में सीबीआई कल सौंपेगी जांच रिपोर्ट
  • डी के श्रीवास्तव चुने गये आईडीए के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष
  • नगर निकायों को राजस्व वृद्धि के उपाय ढूंढने होंगे : वित्त आयोग
  • उच्चतम न्यायालय में दो नये न्यायालय कक्ष बनाये गये
  • जमुई से दो कुख्यात गिरफ्तार
  • सिरसा वायु सेना केंद्र ने ग्रामीणों से मृत पशु खुले में न फेंकने की अपील की
  • हवाई अड्डे पर विदेशी यात्री से पाँच किलोग्राम सोना बरामद
राज्य » पंजाब / हरियाणा / हिमाचल


कुप्रबंधों तथा मंडी माफिया के कारण किसान झेल रहे परेशानी : चीमा

कुप्रबंधों तथा मंडी माफिया के कारण किसान झेल रहे परेशानी : चीमा

चंडीगढ़, 24 अप्रैल (वार्ता)प्रतिपक्ष के नेता हरपाल सिंह चीमा ने पंजाब की मंडियों में खरीद के कुप्रबंधों और सक्रिय मंडी माफिया की ओर से किसानों को तंग करने का आरोप लगाया है।

श्री चीमा ने आज यहां कहा कि गेहूं और धान के खरीद सीजन के दौरान पूर्ववर्ती अकाली-भाजपा सरकार के समय जिस तरह किसानों का मानसिक और वित्तीय शोषण होता था, वैसे ही अब अमरिन्दर सरकार में भी किसानों के साथ वैसा ही हो रहा है। ग्रामीण और शहरी क्षेत्रों की अनाज मंडियों में खरीद प्रक्रिया धीमी और अपर्याप्त है जिस कारण किसानों को भारी परेशानी झेलनी पड़ रही है।

उन्होंने सरकारी व्यवस्था पर आरोप लगाते हुये कहा कि पिछले लंबे समय से चला आ रहा 'मंडी माफिया' पूरी तरह से सक्रिय हो गया है और किसानों का विभिन्न तरीकों से वित्तीय शोषण कर रहा है। मानसा और संगरूर जिले की मंडियों में किसान फोन पर गुहार लगा रहे हैं कि वे एक सप्ताह से मंडियों में बेकार पड़े हुए हैं और सरकारी खरीद एजेंसियों के अधिकारी-कर्मचारी नमी की अधिक मात्रा के बहाने फसल खरीदने के लिए टाल-मटोल कर रहे हैं।

श्री चीमा ने कहा कि कैप्टन सरकार मंडियों में भी राजनीति करने में लगी हुई है, सत्ताधारी कांग्रेस के साथ सम्बन्धित नेताओं और प्रभावशाली लोगों के लिए नमी या कोई अन्य कमी रुकावट नहीं बन रही। मंडियों में आपसी मिलीभगत के साथ चल रहे माफिया पर तुरंत नकेल कसने की जरूरत है जो बोरी कमीशन और कम से कम समर्थन मूल्य (एमएसपी) पर गेहूं खरीदने की ताक में रहते हैं।

प्रतिपक्ष के नेता ने बताया कि किसान पहले ही खेती संकट का शिकार है और अन्य फालतू वित्तीय शोषण बर्दाश्त करने के योगय नहीं है। मुख्यमंत्री इस मामले में खुद दखलंदाजी करें और सक्रिय माफिया को नकेल कसे। उन्होंने वित्तीय संकट का सामना कर रहे किसानों को ऐसे हालात से बाहर निकालने के लिए कैप्टन सरकार को भी दिल्ली की केजरीवाल सरकार की तर्ज पर स्वामीनाथन की रिपोर्टें लागू करनी चाहिये 

More News
विज ने दिये संकेत, राबर्ट वाड्रा के खिलाफ बड़ी कार्रवाई की तैयारी

विज ने दिये संकेत, राबर्ट वाड्रा के खिलाफ बड़ी कार्रवाई की तैयारी

19 Sep 2019 | 7:27 PM

अम्बाला, 19 सितम्बर(वार्ता) हरियाणा सरकार कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी के पति राबर्ट वाड्रा के खिलाफ जमीन खरीद में अनियमितताओं को लेकर बड़ी करने कार्रवाई की तैयारी कर रही है। राज्य के कैबिनेट मंत्री अनिल विज ने आज यहां इस बारे में संकेत दिये।

see more..
image