Saturday, Jul 11 2020 | Time 12:38 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • निर्धारित समय से चार वर्ष पहले पूरा हुआ बाघों की संख्या दोगुना करने का लक्ष्य: जावडेकर
  • नालंदा में तालाब में डूबकर दो की मौत
  • खलनायकी को नये अंदाज में पेश किया प्राण ने
  • बॉलीवुड के जुबली कुमार थे राजेन्द्र कुमार
  • कुपवाड़ा में घुसपैठ की कोशिश कर रहे दो आतंकवादी ढेर
  • एक हजार के लिये जगदीप ने सूरमा भोपाली का रोल छोड़ने का किया था इरादा
  • एक हजार के लिये जगदीप ने सूरमा भोपाली का रोल छोड़ने का किया था इरादा
  • 2021 का इंतजार कर रही हैं करीना
  • 2021 का इंतजार कर रही हैं करीना
  • धाकड़ बनने की तैयारी कर रही है कंगना रनौत
  • धाकड़ बनने की तैयारी कर रही है कंगना रनौत
  • वैशाली में युवक की गोली मारकर हत्या
  • विश्व में कोरोना से अब तक 5 60 लाख लोगों की मौत
  • दक्षिण के पांच राज्यों में कोरोना के 2 28 लाख से अधिक मामले
  • राजस्थान में कोरोना संक्रमण के 170 नये मामले मिले
राज्य » पंजाब / हरियाणा / हिमाचल


शिअद ने की सीएए में मुस्लिमों को शामिल करने की मांग, कहा, एनआरसी का करेंगे विरोध

चंडीगढ़, 17 जनवरी (वार्ता) केंद्र में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के नेतृत्व वाली राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) सरकार में शामिल शिरोमणि अकाली दल (शिअद) ने आज नागरिकता संशोधन अधिनियम (सीएए) में मुस्लिमों को भी शामिल करने की मांग करते हुए कहा कि यदि राष्ट्रीय नागरिकता रजिस्टर (एनआरसी) लाया गया तो वह इसका विरोध करेगा।
पार्टी के विधायक दल नेता शरणजीत सिंह ढिल्लों ने यहां जारी बयान में कहा कि उनकी स्पष्ट मांग है कि सीएए हिंदू, सिक्ख, बौद्धों, जैन, ईसााइयों और परसियों के साथ मुस्लिमों को भी शामिल किया जाए।
उल्लेखनीय है कि सीएए के तहत पाकिस्तान, बांग्लादेश और अफगानिस्तान के में कहा कि उनकी स्पष्ट मांग है कि सीएए हिंदू, सिक्ख, बौद्धों, जैन, ईसााइयों और पारसियों को धार्मिक उत्पीड़न की सूरत में भारतीय नागरिकता देने का प्रावधान है।
श्री ढिल्लों ने कहा कि उनकी पार्टी चाहती है कि कांग्रेस भी अफगानिस्तान से आये हजारों सिक्खों को नागरिकता देने का विरोध न कर मुस्लिमों के लिए राहत की मांग करे।
सदन में कांग्रेस और शिअद के रुख के बीच अंतर को लेकर शिअद नेता बिक्रम सिंह मजीठिया ने उदाहरण देकर कहा कि यदि तीन खून की बाेतलें हैं और चार मरीज हैं तो हर मरीज को एक-एक बोतल खून देना चाहिए और इस दौरान खून की चौथी बाेतल जुटाने के प्रयास किये जाने चाहिएं, यह शिअद का मानना है लेकिन कांग्रेस का रुख है कि यदि चौथी बोतल नहीं मिलती ताे किसी मरीज को खून न दिया जाये और चारों को मरने दिया जाए।
श्री मजीठिया ने यह भी स्पष्ट किया कि पार्टी एनआरसी का विरोध करती है क्योंकि यह आम लोगों को अनावश्यक परेशानियों में डालता है और यदि एनआरसी लागू करने की कोशिश की गई तो पार्टी इसका विरोध करेगी। हालांकि उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का यह बयान भी याद दिलाने की कोशिश की कि सरकार देश में एनआरसी लाने के बारे में नहीं सोच रही।
महेश
वार्ता
More News
पंजाब में कोरोना संक्रमण से चार मरीजों की मौत

पंजाब में कोरोना संक्रमण से चार मरीजों की मौत

10 Jul 2020 | 8:07 PM

चंडीगढ़ ,10 जुलाई (वार्ता) पंजाब में तेजी से बढ़ती कोरोना महामारी से पिछले चौबीस घंटों में चार और मरीजों की मौत हो गयी । इसी के साथ राज्य में अब तक कोरोना से मरने वालों की संख्या 187 तक पहुंच गयी है ।

see more..
image