Sunday, Feb 23 2020 | Time 08:05 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • तेहरान में कोरोना वायरस के विद्यालयों में छुट्टी
  • चीन के हुबेई प्रांत में कोरोना वायरस के मरने वालों की संख्या 2,346 हुई
  • रूस के ट्रम्प की सहायता करने की खबर बेबुनियाद: रॉबर्ट
  • अफगानिस्तान में गत वर्ष 10,000 लोग हुए थे हताहत: संरा
  • इटली में दो दिनों में सामने आये कोरोना वायरस के 62 मामले, पीड़ितों की संख्या हुई 66
  • जर्मनी में बार में गोलीबारी, किसी के घायल होने की सूचना नहीं
  • ईरान में कोरोना वायरस से मरने वालों की संख्या छह हुई
  • वुहान में सभी संदिग्ध मरीजों का हुआ न्यूक्लिक एसिड टेस्ट
  • इटली में कोरोना वायरस से ग्रसित लोगों की संख्या 51 हुई
  • जाम्बिया में मॉब लिंचिंग की घटनाओं में 43 की मौत, 23 घायल
  • हांगकांग में कोरोना वायरस से ग्रसित मरीजों की संख्या हुई 69
राज्य » पंजाब / हरियाणा / हिमाचल


हिमाचल में पंचायतीराज संस्थाओं के चुनाव सितम्बर में सम्भावित

शिमला, 22 जनवरी (वार्ता) हिमाचल प्रदेश में पंचायतीराज संस्थाओं के चुनाव इस वर्ष सितम्बर माह में होने की सम्भावना है। हालांकि पंचायतों के प्रतिनिधियों का कार्यकाल छह जनवरी 2021 को पूरा होगा लेकिन राज्य के जनजातीय जिलों में बर्फबारी को ध्यान में रखते हुए चुनावी प्रक्रिया सितम्बर माह में ही शुरू हो सकती है।
सूत्रों के अनुसार राज्य निर्वाचन आयोग ने भीतर खाते चुनावों के लिये तैयारियां शुरू कर दी हैं और इस सिलसिले में उसने सभी जिला उपायुक्तों से 31 मार्च से पहले रिपोर्ट मांगी है ताकि पंचायतों के नए वार्डों समेत अन्य समितियों की स्थिति का पता चल सके। प्रदेश सरकार पंचायतीराज और शहरी निकायों के चुनाव एक साथ कराने की सोच रही है लेकिन ऐसा सम्बंधित अधिनियम में संशोधन के बाद ही सम्भव हो सकता है। धर्मशाला नगर निगम के चुनाव इसी साल दिसम्बर में तय हैं लेकिन नगर निगम शिमला के लिए अभी डेढ़ साल बाकी हैं। ऐसे में शहरी निकाय के चुनाव भी एक साथ कराने के चुनाव एक साथ कराने के लिये भी अधिनियम में संशोधन करना लाज़मी होगा। सरकार इस सम्बंध में जरूरी संशोधन कर सकती है ताकि नगर निगम, पंचायतों, नगर परिषद, नगर पंचायतों के चुनाव एक साथ हो सकें।
उल्लेखनीय है कि वर्ष 2015 में प्रदेश की सभी पंचायतों सहित सभी शहरी निकायों में चुनाव हुए थे। जबकि शिमला नगर निगम के चुनाव 2017 में हुये थे। प्रदेश में शिमला और धर्मशाला के अलावा 52 नगर निकाय हैं जिसमें 31 नगर परिषद और 21 नगर पंचायतें हैं। इनके अलावा प्रदेश में 12 जिला परिषद और 78 पंचायत समितियां और 3226 ग्राम पंचायतें हैं। वहीं दूसरी तरफ पंचायत पुनर्गठन के उपरांत 50 के करीब नई पंचायतें बन सकती हैं। यानी 3276 पंचायतों में चुनाव हो सकते हैं। प्रदेश सरकार की ओर से पंचायत पुनर्गठन का रास्ता साफ हो चुका है, लेकिन अंतिम मंजूरी के बाद ही असली तस्वीर सामने आएगी। इस महीने होने वाली मंत्रिमंडल की बैठक में नई पंचायतों पर मुहर लगेगी।
वर्ष 2015 में जब पंचायतीराज संस्थाओं के चुनाव हुए थे तो उस वक्त प्रदेश में 4825309 मतदाता थे जो अब बढ़ कर 5288729 हो गए हैं। इस साल होने वाले चुनावों में मतदाताओं की संख्या और बढ़ सकती है।
सं.रमेश1751वार्ता
More News
नड्डा के अभिनंदन की तैयारियां जोरों पर, सोलन में रैली को सम्बोधित करेंगे

नड्डा के अभिनंदन की तैयारियां जोरों पर, सोलन में रैली को सम्बोधित करेंगे

22 Feb 2020 | 7:35 PM

सोलन, 22 फरवरी (वार्ता) भारतीय जनता पार्टी(भाजपा) का राष्ट्रीय अध्यक्ष बनने के बाद पहली बार 27 फरवरी को हिमाचल प्रदेश के दौरे पर आ रहे श्री जगत प्रकाश नड्डा का पार्टी के भव्य अभिनंदन के लिये तैयारियां जोरों पर हैं।

see more..
image