Sunday, Nov 29 2020 | Time 09:34 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • संस्मरण लिखने की तैयारी में है मेलानिया ट्रम्प
  • क्रोएशिया के प्रधानमंत्री ‘सेल्फ आइसोलेशन’ में
  • आज का इतिहास (प्रकाशनार्थ 30 नवंबर)
  • रूस के मास्कों में कोरोना से नौ हजार के करीब लोगों मौतें
  • फ्रांस में नए सुरक्षा कानून के खिलाफ प्रदर्शन, कई पुलिसकर्मी घायल
  • अमेरिका में पिछले 24 घंटों में कोरोना से 1404 लोगों की मौत
  • लंदन में लॉकडाउन के खिलाफ प्रदर्शन में 60 लोग गिरफ्तार
  • ईरान में कोरोना के 13,402 नए मामले
  • फ्रांस में नए सुरक्षा कानून के खिलाफ प्रदर्शन में 37 पुलिसकर्मी घायल
  • अमेरिका में कोरोना के एक दिन में दो लाख से अधिक नए मामले
राज्य » पंजाब / हरियाणा / हिमाचल


दलित सांसद, विधायक दें इस्तीफा : रजत कलसन

हिसार, 04 अक्तूबर (वार्ता) उत्तर प्रदेश के हाथरस व बलरामपुर की घटनाओं को लेकर नेशनल अलायंस फॉर दलित ह्यूमन राइट्स के राष्ट्रीय संयोजक रजत कलसन ने दलित सांसदों और विधायकों की चुप्पी पर कड़ा एतराज जताया व इनके इस्तीफे की मांग की।
श्री कलसन ने मीडिया से बातचीत में कहा कि बड़े दुख और शर्म की बात है कि पिछले कुछ समय से दलित समाज के साथ अत्याचार की घटनाएं अखबारों में सुर्खियां बनी हुई हैं। उन्होंने कहा कि इस मामले में संसद में दलित समाज के चुने गए 131 सांसद तथा भारतीय जनता पार्टी के 77 दलित सांसदों व हरियाणा में 17 दलित विधायकों सहित पूरे देश के 549 दलित विधायकों की रहस्यमय चुप्पी उन्हें सवालों के घेरे में खड़े करती है। उन्होंने कहा कि इन्हें तुरंत इस्तीफा दे देना चाहिए।
श्री कलसन ने कहा कि वे दलित संगठनों तथा संस्थाओं से आग्रह करते हैं कि समाज का चाहे कोई भी कार्यक्रम हो इन चुने हुए विधायकों तथा सांसदों को कार्यक्रमों में बुलाकर उनका महिमामंडन तथा सम्मान करना बंद करें। उन्होंने कहा, “हमें विधानसभाओं, लोकसभा तथा अन्य जगहों पर ऐसे जनप्रतिनिधि चाहिएं जो बहन-बेटियों के साथ हो रहे बलात्कार व दलित समाज के साथ हो रहे अत्याचारों पर सदनों में डंके की चोट पर अपनी आवाज उठा सकें, ऐसे जनप्रतिनिधि नहीं जो अपने आकाओं को खुश करने के लिए अपने मुंह पर टेप बांधकर बैठ जाएं।“
सं महेश विक्रम
वार्ता
image