Thursday, Oct 21 2021 | Time 02:03 Hrs(IST)
image
राज्य » पंजाब / हरियाणा / हिमाचल


दीनदयाल उपाध्याय जयंती पर हरियाणा में तीन प्रमुख आईटी प्लेटफॉर्म लॉन्च

चंडीगढ़, 25 सितम्बर(वार्ता) हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने कहा है कि आम आदमी के कल्याणार्थ बनाई गई योजनाओं के क्रियान्वयन हेतु राज्य सरकार की रणनीति अंत्योदय के सिद्धांत ‘पहले अंतिम व्यक्ति की सेवा और उत्थान करने पर केंद्रित है‘।
श्री खट्टर ने देश भर में आज 'समर्पण दिवस' के रूप में मनाए जा रहे पंडित दीनदयाल उपाध्याय की जयंती के अवसर पर आज यहां एक संवाददाता सम्मेलन को सम्बोधित करते हुये यह बात कही। उन्होंने दीनदयाल उपाध्याय जयंती पर राज्य में तीन प्रमुख आईटी प्लेटफॉर्म लॉन्च किये। उन्हाेंने कहा कि उनका मानना है कि किसी भी राज्य की वृद्धि और आर्थिक प्रगति का शीर्ष पर बैठे लोगों से पता नहीं लगाया जा सकता है बल्कि इसका पता तब लगाया जा सकता है, जब सभी जन कल्याणकारी योजनाओं का लाभ समाज के अंतिम व्यक्ति को मिलना सुनिश्चित हो।
उन्होंने कहा कि विभिन्न कल्याणकारी परियोजनाओं का लाभ पात्र लाभार्थियों तक पहुंचाना सुनिश्चित करने के लिए यह महत्वपूर्ण है कि शासन और सेवाओं के वितरण में सुधार किया जाए। इसके लिए राज्य सरकार द्वारा कई क्रांतिकारी कदम उठाए जा रहे हैं। पंडित दीनदयाल ने हमेशा एकात्म मानववाद के दर्शन और अंत्योदय की अवधारणा का प्रचार किया है, जो राज्य सरकार की किसी भी लोक कल्याण नीति निर्माण में प्रमुख सिद्धांत रहे हैं। दीनदयाल उपाध्याय के अंत्योदय के दर्शन के अनुरूप प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने ‘सबका साथ-सबका विकास-सबका विश्वास’ का नारा दिया था। इसमें गत दिनों ‘सबका प्रयास’ भी जोड़ा है, जो सरकार की गरीब, किसान सहित समाज के अन्य वर्गों के उत्थान की प्राथमिकता पर प्रकाश डालता है।
उन्होंने कहा कि पंडित दीनदयाल उपाध्याय की जयंती के साथ आज पूर्व उप प्रधानमंत्री चौधरी देवीलाल की जयंती भी है, उन्हें भी वह नमन करते हैं। चौधरी देवीलाल ने बुढ़ापा पेंशन और घुमंतू जातियों के बच्चों को शिक्षा के लिए प्रेरित करने हेतु प्रतिदिन एक रुपया छात्रवृत्ति देने जैसी कारगर योजनाएं शुरू की थीं।
मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के जन्मदिवस को 17 सितम्बर से लेकर सात अक्तूबर तक देशभर में ‘सेवा समर्पण पर्व‘ मनाया जा रहा है। इसी कड़ी में आज पंडित दीनदयाल उपाध्याय की जयंती को ‘समर्पण दिवस‘ के रूप में मनाया जा रहा है। उन्होंने कहा कि जो क्रांतिकारी कदम प्रधानमंत्री ने किसानों के हितों और कल्याणार्थ उठाए हैं उन्हें निश्चित रूप से इतिहास में याद किया जाएगा। हरियाणा सरकार ने भी किसानों के कल्याणार्थ कोई कसर नहीं छोड़ी है।
छोटे पैमाने के व्यवसायों को बढ़ावा देने, नए स्टार्टअप, मेक इन इंडिया, नई शिक्षा नीति-2020 में क्षेत्रीय भाषाओं को शामिल करने, उज्ज्वला योजना, आदि योजनाएं देश को विकास पथ पर ले जाने के साथ गरीब लोगों का उत्थान सुनिश्चित करने में अहम भूमिका अदा की है।
उन्होंने कहा कि राज्य सरकार भी किसानों के कल्याणार्थ अनेक योजनाएं चला रही है। बारिश के कारण क्षतिग्रस्त फसलों का आंकलन के लिये विशेष गिरदावरी करने के निर्देश दिए गए हैं। इसके अलावा, मधुमक्खी पालन व्यवसाय को बढ़ावा देने और किसानों को मधुमक्खी पालन को प्रोत्साहित करने के लिए हाल ही में मधुमक्खी पालन नीति शुरू की गई है।
राज्य की कानून-व्यवस्था की स्थिति अच्छी है। हरियाणा देश का एकमात्र ऐसा राज्य है जिसने बिजली के क्षेत्र में अनेक सुधार किये हैं। एक समय था जब राज्य में लाइन लॉस और बिजली चोरी लगभग 34 प्रतिशत थी जो अब 14 प्रतिशत ही रह गई है। बिजली चोरी के मामलों में जुर्माने के रूप में 121 करोड़ रुपये की भारी राशि एकत्र की गई है। राज्य के 6700 गांवों में से 5500 गांवों में चौबीसों घंटे बिजली की आपूर्ति की जा रही है और जल्द ही हरियाणा देश का पहला राज्य बन जाएगा जो सभी गांवों को चौबीसों घंटे बिजली मुहैया कराएगा।
मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य में हर युवा को रोजगार के अवसर देने के लिए समर्पित प्रयास किये जा रहे हैं। राज्य सरकार की महत्वाकांक्षी परिवार पहचान पत्र योजना के तहत सबसे कम आय वाले प्रत्येक परिवार की पहचान की जा रही है, ताकि परिवार के सदस्यों को उनकी पारिवारिक आय को कम से कम एक लाख तक बढ़ाने के लिए रोजगार दिया जा सके। उन्होंने कहा कि सभी को सरकारी नौकरी नहीं मिल सकती है लेकिन सरकार सुनिश्चित कर रही है कि अन्य क्षेत्रों में सभी को रोजगार देने के अवसर पैदा हों। गत दिनों टाटा स्टील, आदित्य बिरला ग्रुप जैसे बड़े औद्योगिक समूह अपनी इकाइयां लगाने के लिए हरियाणा आए हैं जिससे युवाओं को अधिक रोजगार के अवसर मिलेंगे।
उन्होंने कहा कि सरकार ने भ्रष्टाचार पूरी तरह से मिटाने के लिए ऐतिहासिक और क्रांतिकारी सुधार किए गए हैं। योग्यता के आधार पर नौकरियां देना सुनिश्चित करने के लिए समर्पित और डिजिटल सुधार किए गए हैं।
रमेश1734वार्ता
More News
‘आप‘ की सरकार बनने सेे रोकने के लिए मोदी ने बनवाई अमरिंदर की चौथी पार्टी : चड्ढा

‘आप‘ की सरकार बनने सेे रोकने के लिए मोदी ने बनवाई अमरिंदर की चौथी पार्टी : चड्ढा

20 Oct 2021 | 8:12 PM

चंडीगढ़, 20 अक्तूबर (वार्ता) पंजाब के पूर्व मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह के कांग्रेस से अलग होकर नयी राजनीतिक पार्टी बनाने की घोषणा पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए आम आदमी पार्टी (आप) नेता राघव चड्ढा ने आज आरोप लगाया कि जब तीन पार्टियां - भाजपा, अकाली दल और कांग्रेस मिलकर आप को सरकार बनाने से रोकने में “विफल“ हो रही हैं तो प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने “प्यारे एवं चहेते“ कैप्टन अमरिंदर सिंह को मैदान में उतारा और चौैथी पार्टी बनवा रहे हैं।

see more..
image