Tuesday, Jan 18 2022 | Time 13:49 Hrs(IST)
image
राज्य » पंजाब / हरियाणा / हिमाचल


कुलपति के रवैये से आहत छात्र सांकेतिक भूख हड़ताल पर बैठे

कुलपति के रवैये से आहत छात्र सांकेतिक भूख हड़ताल पर बैठे

सिरसा, 29 नवबंर (वार्ता)हरियाणा में सिरसा के चौधरी देवीलाल विश्वविद्यालय के कुलपति की तरफ से ‘दुर्व्यवहार‘ से आहत धरनारत छात्रों ने आज अपने धरने को सांकेतित भूख हड़ताल में बदल दिया।

आरोप है कि डा.अम्बेडकर स्टूडेंट फ्रंट ऑफ इंडिया के सदस्य 17 नवंबर से अपनी मांगों को लेकर विश्वविद्यालय के मुख्य द्वार पर धरने पर बैठे हुए थे। छात्र नेता रविंद्र बाल्याण की अगुवाई में छात्र कल कुलपति को मांग पत्र देने उनके कार्यालय गए थे और उनसे दुर्व्यवहार किया गया तथा सुरक्षाकर्मियों से पिटवाया गया।

श्री बाल्याण ने बताया कि उनकी मांगों में मुख्यत: विश्वविद्यालय परिसर में डा.भीमराव अम्बेडकर की प्रतिमा स्थापित करने, अनुसूचित जाति वर्ग के छात्रों की बकाया पड़ी छात्रवृति जारी करने, आरक्षित वर्ग के छात्र-छात्राओं को विभाग वाइज किताबें मुहैया करवाने, पार्ट टाइम शिक्षकों की भर्ती में आरक्षण पद्धति लागू करने, विश्वविद्यालय में अनुसूचित जाति विंग स्थापित करने, आरक्षित पदों को सामान्य वर्ग से न भरने, अनुसूचित जाति व पिछड़ा वर्ग का बैकलॉग भरने की मांगें शामिल थीं।

छात्र नेता ने आरोप लगाया कि कानून को धत्ता बताकर पिछले दरवाजे से जाति विशेष के लोगों की खाली पदों पर भर्ती की जा रही है।

आज सांकेतिक भूख हड़ताल के दौरान छात्र सुरेंद्र इंदल के साथ नरेंद्र मेहरा, सुमित, सुधीर, राहुल, रवि और रवि मिर्जापुर सहित कई छात्र-छात्राएं बैठे।

भीम आर्मी, लिबरल सोशलिस्ट पार्टी, रविदास सभा, वाल्मिकी और बामसेफ संगठनों के पदाधिकारियों ने छात्रों को अपना समर्थन घोषित किया।

इस बीच, कुलपति प्रो. अजमेर सिंह ने संपर्क करने पर दावा किया कि धरनारत छात्रों की मांगों को उन्होंने पहले ही पूरा कर दिया है। उन्होंने यह भी कहा कि उन्हें सरकार ने नियुक्त किया है और वह सरकार के आदेशानुसार काम कर रहे हैं। धरनास्थल पर जाकर भूख हड़ताल समाप्त करवाने का सवाल ही पैदा नहीं होता।

सं महेश विजय

वार्ता

image