Friday, Oct 7 2022 | Time 20:51 Hrs(IST)
image
राज्य » पंजाब / हरियाणा / हिमाचल


बिजली बिल 2022 के खिलाफ राष्ट्रीय सम्मेलन दो अगस्त को दिल्ली में होगा

जालंधर, 21 जुलाई (वार्ता) बिजली बिल 2022 के खिलाफ बिजली कर्मचारियों और इंजीनियरों की राष्ट्रीय समन्वय समिति का राष्ट्रीय सम्मेलन दो अगस्त को दिल्ली में आयोजित किया जाएगा।
ऑल इंडिया पावर इंजीनियर्स फेडरेशन (एआईपीईएफ) के प्रवक्ता वीके गुप्ता ने गुरुवार को बताया कि सम्मेलन में संसद में सभी राजनीतिक दलों के नेताओं को आमंत्रित किया जाएगा और बिल के जनविरोधी प्रावधानों के बारे में जानकारी दी जाएगी। उन्होने कहा कि सम्मेलन में राजनीतिक दलों के नेताओं से बिजली (संशोधन) विधेयक 2022 ,जब भी इसे संसद में रखा जाता है, का विरोध करने का अनुरोध किया जाएगा। सम्मेलन में अखिल भारतीय मजदूर संघ के नेता और संयुक्त किसान मोर्चा के नेता भी शामिल होंगे।
श्री गुप्ता ने कहा कि बिजली (संशोधन) विधेयक 2022 का उद्देश्य निजी कंपनियां बिना किसी निवेश के राज्य वितरण कंपनियों के बुनियादी ढांचे का उपयोग करके लाभ अर्जित करती हैं। सरकार को विद्युत अधिनियम, 2003 में प्रस्तावित संशोधनों को अंतिम रूप दिए जाने से पहले राज्यों और मुख्य हितधारकों जैसे उपभोक्ताओं, बिजली श्रमिकों और कर्मचारियों को विचार प्राप्त करने के बाद एक व्यापक श्वेत पत्र जारी करना चाहिए।
उन्होंने कहा कि राज्य सरकारें विधेयक के दूरगामी प्रभावों को अनदेखा करने का जोखिम नहीं उठा सकतीं और डिस्कॉम के निजीकरण का विरोध करना चाहिए। प्रस्तावित विधेयक राज्य वितरण कंपनियों के वित्त को कमजोर करेगा और सब्सिडी वाले उपभोक्ता और उपयोगिता कर्मचारियों पर प्रतिकूल प्रभाव डालेगा।
ठाकुर.श्रवण
वार्ता
image