Wednesday, May 22 2024 | Time 03:58 Hrs(IST)
image
राज्य » पंजाब / हरियाणा / हिमाचल


सांसद सुनीता दुग्गल को सरपंचों ने दिखाए काले झंडे

सिरसा 19 मार्च (वार्ता) हरियाणा सरकार द्वारा शुरू की गई पंचायत विभाग में ई टेंडरिंग प्रक्रिया के विरोध में प्रदेशभर के सरपंचों द्वारा लगातार विरोध प्रदर्शन जारी है। सरपंचों द्वारा अपनाई गई नई रणनीति के अनुसार भाजपा-जजपा गठबंधन सरकार के मंत्री, विधायक, सांसद और अन्य पदाधिकारियों का विरोध करने का फैसला लिया गया है। इसी के तहत हरियाणा सरपंच एसोसिएशन की उपप्रधान और दड़बा कलां की सरपंच संतोष बैनीवाल के नेतृत्व में सिरसा की सांसद सुनीता दुग्गल का विरोध करने का फैसला लिया गया।
रविवार को सिरसा की लोकसभा सांसद सुनीता दुग्गल जिला के गांव माधोसिंघाना की गौशाला में एक कार्यक्रम में बतौर अतिथि पहुंची तो सरपंचों व उनके समर्थकों ने विरोधस्वरूप बीच रास्ते विरोध प्रदर्शन करते हुए सांसद दुग्गल को काले झंडे दिखाए। हालांकि काले झंडे के विरोध के दृष्टिगत भारी पुलिस बल भी तैनात किया गया था। सांसद को काले झंडे दिखा रहे सरपंचों व उने समर्थकों से तैनात पुलिसकर्मियों की धक्का मुक्की भी हुई।
सांसद सुनीता दुग्गल रविवार को गांव ढाणी काहन सिंह में नवनीत कौर पुत्री बलराज सिंह जो कि दिल्ली यूनिवर्सिटी में टॉपर आई है उसे बधाई देने पहुंची थीं बीच रास्ते गांव चक साहिबा के सरपंच गुरचरण सिंह उप प्रधान सरपंच एसोसिएशन ब्लॉक रानियां के आह्वान पर गांव मंगाला में उनका ढाणी काहन सिंह जाते समय विरोध करने के लिए सरपंचों को कहा गया था लेकिन पुलिस बल सुरक्षा के कारण ढाणी जाते समय सरपंचों द्वारा किए जाने वाले विरोध प्रदर्शन को लेकर समय रहते पुलिस ने स्थिति पर काबू पा लिया,इसके बाद हरियाणा सरपंच एसोसिएशन की उपाध्यक्ष संतोष बैनीवाल,चक साहिबा के सरपंच गुरचरण सिंह व सरपंच मीरपुर वेद प्रकाश की अगुवाई में सरपंच गांव माधोसिंघाना के पास काले झंडे दिखाने में कामयाब हो गए।
सांसद सुनीता दुग्गल को काले झंडे दिखाने की सूचना मिलने के बाद हरियाणा सरपंच एसोसिएशन की उपाध्यक्ष संतोष बेनीवाल के गांव दड़बा कलां आवास पर भारी महिला व पुरुष पुलिस बल तैनात किया गया था ,मगर सरपंच संतोष बेनीवाल उन्हें चकमा देकर रोष प्रदर्शन में शामिल हो ही गई। हरियाणा प्रदेश सरपंच एसोसिएशन की उप प्रधान संतोष बेनीवाल ने बताया कि रविवार सुबह ही उनके घर में सिरसा सीआईए इंचार्ज प्रदीप कुमार और नाथूसरी चौपटा थाना प्रभारी राम कुमार के नेतृत्व में भारी पुलिस बल तैनात कर उन्हें नजरबंद किया गया है लेकिन वह सरकार के किसी भी दबाव के आगे नहीं झुकेगी। प्रदेश एसोसिएशन के फैसले के अनुसार सरकार का विरोध प्रदर्शन जारी रहेगा।
जब इस संदर्भ में पुलिस अधीक्षक अर्पित जैन से पूछा गया तो बताया कि संतोष बेनीवाल सरपंच को नजरबंद करने जैसी कोई बात नहीं थी,सांसद को काले झंडे दिखाने के दृष्टिगत सुरक्षा के लिहाज से पुलिस बल लगाया गया था। काले झंडे दर्शाने को लेकर अभी तक उन्हें कोई शिकायत सांसद या उनके किसी अन्य कर्मी की ओर से नहीं मिली है,अगर शिकायत मिली तो आगे की कार्यवाही अमल में लाई जाएगी। जब इस संदर्भ में सांसद सुनीता दुग्गल से उनका पक्ष जानना चाहा तो उन्होंने फोन कॉल रिसीव नहीं की।
सं.संजय
वार्ता
image