Wednesday, May 22 2024 | Time 04:32 Hrs(IST)
image
राज्य » पंजाब / हरियाणा / हिमाचल


हमें ऐसा कोई कदम नहीं उठाना चाहिए,जिससे देश की अमन-शांति भंग हो: दादूवाल

जालंधर, 21 मार्च (वार्ता) हरियाणा गुरुद्वारा प्रबंधक समिति के पूर्व अध्यक्ष बलजीत सिंह दादूवाल ने मंगलवार को कहा कि हमें ऐसा कोई कदम नहीं उठाना चाहिए जिससे विश्व में सिख समुदाय की साख पर आंच आए।
श्री दादूवाल ने वारिस पंजाब दे संगठन पर पुलिस कार्रवाई के विरोध में देश-विदेश में हो रहे विरोध प्रदर्शनों पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए इंग्लैंड में भारतीय दूतावास से भारतीय तिरंगा को उतारने के बारे में कहा कि तिरंगे में एक रंग केसरी भी है जो सिखों की शान है। उन्होंने कहा कि देश की आजादी के लिए हमारे पूर्वजों ने कुर्बानियां दी हैं और आज भी भारतीय सेना में सिख सैनिक देश की सरहदों पर बलिदान दे रहे हैं। उनके शव इसी तिरंगे में लिपट कर वापस घर आते हैं। इसलिए सिख समुदाय को चाहिए कि कोई भी विरोध मर्यादा में रह कर ही किया जाए। उन्होंने कहा कि विदेशों मे छह जून को कई जगह विरोध होते हैं, लेकिन इस प्रकार की कार्रवाई कभी नहीं की गई।
श्री दादूवाल ने कहा कि अमृतपाल सिंह को लेकर पंजाब में दहशत का माहौल बनाया जा रहा है। उन्होंने कहा कि ऐसा पहली बार हुआ है कि किसी व्यक्ति पर कार्रवाई करने के लिए पूरे राज्य का इंटरनेट बंद कर दिया गया हो। उन्होंने कहा कि बेकसूर युवकों को पकड़ने की बजाय सरकार को नशा व्यापारियों पर कार्रवाई करनी चाहिए। उन्होंने कहा कि सरकार पकड़े गए बेकसूर युवकों को तुरंत रिहा करे।
एचएसजीपीसी के पूर्व अध्यक्ष ने कहा कि पंजाब को शांति और अमन की जरूरत है। उन्होंने कहा कि पंजाब के हालात कंगाली जैसे बने हुए हैं। कोई भी व्यापारी पंजाब में निवेश नहीं करना चाहता। पंजाब के युवा रोजगार की तलाश में विदेशों की ओर जा रहे हैं।
श्री दादूवाल ने सिख संगत से अपील करते हुए कहा कि अमन-शांति और भाईचारे को कायम रखते हुए एक दायरे में रह कर ही विरोध प्रदर्शन करें।
ठाकुर.श्रवण
वार्ता
image