Friday, Jun 14 2024 | Time 10:53 Hrs(IST)
image
राज्य » पंजाब / हरियाणा / हिमाचल


गिरफ्तार सिखों पर लगा रासुका तत्काल हटाया जाए: वल्टोहा

अमृतसर, 21 मार्च (वार्ता) शिरोमणि अकाली दल के वरिष्ठ नेता विरसा सिंह वल्टोहा ने मंगलवार को कहा है कि पंजाब सरकार द्वारा गिरफ्तार किए गए सिख युवकों पर राष्ट्रीय सुरक्षा कानून (रासुका) की धारा को हटा कर निर्दोष सिख युवकों को तत्काल रिहा किया जाए।
वल्टोहा ने कहा कि यह बहुत ही आश्चर्यजनक बात है कि पंजाब सरकार के निर्देश पर पुलिस ने कुछ युवकों को गिरफ्तार कर उन पर रासुका लगा कर असम के डिब्रूगढ़ की सेंट्रल जेल में बंद कर दिया है। उन्होंने कहा कि रासुका को देश का ही नहीं बल्कि दुनिया का सबसे काला कानून माना जाता है। उन्होंने कहा कि सामान्य कानून-व्यवस्था के मामलों में रासुका का इस्तेमाल किसी भी तरह से न्यायोचित नहीं है। उन्होंने कहा कि शिरोमणि अकाली दल की हमेशा से यह दलील रही है कि जिसने भी कानून तोड़ा है, उसके खिलाफ कानून के तहत कार्रवाई होनी चाहिए। उन्होंने कहा कि अजनाला थाने पर हुए हमले के दोषियों पर कानून के अनुसार कार्रवाई की जाए। पंजाब पुलिस और यहां की अदालतें ऐसे मामलों में कार्रवाई करने में सक्षम हैं।
अकाली नेता ने कहा कि केंद्र सरकार के इशारे पर युवाओं पर एनएसए लगाना किसी भी तरह से न्यायसंगत नहीं है। उन्होंने कहा कि यह पंजाब के लिए दुर्भाग्य की बात है कि मुख्यमंत्री भगवंत मान दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल की कठपुतली बन गए हैं और उनके राज्य में सिख युवाओं को निशाना बनाया जा रहा है। उन्होंने कहा कि अगर पुलिस अमृतपाल सिंह को गिरफ्तार करना चाहती थी तो उन्हें उनके घर से सुबह ही गिरफ्तार किया जा सकता था, इतना बड़ा ड्रामा करने की जरूरत नहीं थी। उन्होंने कहा कि जो हुआ उससे पंजाब में आतंक और भय का माहौल पैदा हो गया है।
वल्टोहा ने कहा कि सबसे दुर्भाग्यपूर्ण बात यह है कि राष्ट्रीय मीडिया सिखों और पंजाब को देशद्रोही के रूप में पेश कर रहा है। उन्होंने कहा कि देश की आजादी में सबसे ज्यादा योगदान देने वाले सिखों को किसी से देशभक्ति के सर्टिफिकेट की जरूरत नहीं है। उन्होंने कहा कि आजादी की लड़ाई के दौरान भी हम नेता के तौर पर डटकर लड़े और आज भी हम देश के लिए किसी भी कुर्बानी के लिए तैयार हैं। उन्होंने कहा कि बेशक अमृतपाल सिंह से हमारे वैचारिक मतभेद हो सकते हैं, लेकिन जिस तरह आज पंजाब में ज्यादतियां हो रही हैं और अमृतपाल सिंह का नाम लेकर सिखों को बदनाम किया जा रहा है और उन्हें देशद्रोही के तौर पर पेश किया जा रहा है, ऐसा कभी बर्दाश्त नहीं किया जा सकता।
उन्होंने कहा कि शिरोमणि अकाली दल हमेशा पंजाब में शांति, भाईचारे और एकता का सबसे बड़ा पैरोकार रहा है। उन्होंने कहा कि पंजाब में इस रिश्ते को कोई खतरा नहीं है। उन्होंने कहा कि पंजाब पहले ही बहुत कुछ झेल चुका है और देश ने इसकी कीमत चुकाई है और अब इसे दोबारा उसी आग की भट्टी में नहीं झोंकना चाहिए। अमृतपाल सिंह की पत्नी की जांच के बारे में पत्रकारों के एक सवाल के जवाब में वल्टोहा ने कहा कि बेटियां और बहनें सभी के लिए समान हैं।
ठाकुर.श्रवण
वार्ता
image