Monday, Jul 22 2024 | Time 10:18 Hrs(IST)
image
राज्य » पंजाब / हरियाणा / हिमाचल


सिक्किम के गुरु डांग मार साहिब में फिर से होगा गुरु ग्रंथ साहिब का प्रकाश:प्रो सरचंद सिंह

अमृतसर, 29 अप्रैल (वार्ता) राष्ट्रीय अल्पसंख्यक आयोग के अध्यक्ष इकबाल सिंह लालपुरा की अहम भूमिका से सिक्किम स्थित गुरुद्वारा गुरु डांग मार साहिब का मामला सुलझ गया है।
राष्ट्रीय अल्पसंख्यक आयोग के सलाहकार प्रोफेसर सरचंद सिंह ने शनिवार को कहा कि सिक्किम उच्च न्यायालय ने 27 अप्रैल को राज्य के अतिरिक्त महाधिवक्ता के अनुरोध को ध्यान में रखते हुए सिख समुदाय के पक्ष में एक आदेश पारित किया है, जिससे अब श्री गुरु नानक देव जी से जुड़े ऐतिहासिक गुरुद्वारा गुरु डंगमार में पवित्र गुरु ग्रंथ साहिब को फिर से प्रकाश किया जाएगा। बाकी औपचारिकताएं याचिकाकर्ताओं और प्रतिवादियों द्वारा पारस्परिक रूप से पूरी की जाएंगी।
प्रो सिंह ने बताया कि 14 अगस्त 2017 को गुरुद्वारा गुरु डांग मार से पवित्र गुरु ग्रंथ साहिब जी के प्रकाश को जबरन रोके जाने के कारण वर्षों से लंबित इस संवेदनशील मुद्दे को हल करने के राष्ट्रीय अल्पसंख्यक आयोग के अध्यक्ष इकबाल सिंह लालपुरा ने गहरी दिलचस्पी दिखाई और प्रयास करना जारी रखा। उन्होंने कहा कि दिसंबर, 2017 में अल्पसंख्यकों पर राष्ट्रीय आयोग ने सिक्किम में स्थित गुरुद्वारा डंगमार साहिब के बारे में मीडिया रिपोर्टों का संज्ञान लिया, जहां धार्मिक भक्ति से संबंधित कुछ सामान धर्मस्थल से हटाकर सड़क पर रख दिया गया था। इस घटना से पूरे सिख समुदाय की भावनाओं को ठेस पहुंची है। सिख समुदाय श्री गुरु ग्रंथ साहिब के प्रकाश की बहाली के लिए प्रयास करता रहा। उन्होंने कहा कि एन सी एम द्वारा मांगी गई रिपोर्ट के जवाब में, राज्य सरकार ने कहा कि यह मामला सिक्किम उच्च न्यायालय में है।
गुरु सिंह सभा की याचिका में गुरुद्वारा डांग मार में श्री गुरु ग्रंथ साहिब जी की गरिमा की बहाली, निशान साहिब की बहाली, गुरुद्वारा परिसर में सभी आंतरिक फर्नीचर और अन्य पवित्र वस्तुओं की स्थिति को बहाल करने की मांग की गई थी। जिस पर उच्च न्यायालय ने अपने 13 सितंबर 2017 के आदेश के माध्यम से यथास्थिति बनाये रखने के निर्देश दिये।
ठाकुर.श्रवण
वार्ता
image