Wednesday, Jul 24 2024 | Time 23:20 Hrs(IST)
image
राज्य » पंजाब / हरियाणा / हिमाचल


हरियाणा में सरकारी, निजी क्षेत्र में 35 हजार दिव्यांगों को मिलेंगी नौकरी

चंडीगढ़,15 मई (वार्ता) हरियाणा में दिव्यांगजनों के लिए नौकरियों का पिटारा खुल गया है। जल्द ही प्रदेश के करीब 35 हज़ार दिव्यांगजनों को सरकारी और निजी क्षेत्र में रोजगार मिलेगा।
हरियाणा दिव्यांगजन आयुक्त राजकुमार मक्कड़ ने सोमवार को यहां बताया कि इनमें सरकारी क्षेत्र में 15 हजार तो निजी क्षेत्र में 20 हजार दिव्यांगों को नौकरी दी जाएगी। उन्होंने यहां ई-कॉमर्स में अग्रणी 'अमेज़ॉन' के साथ इस सम्बंध में एक समझौते पर हस्ताक्षर भी किए। यह कम्पनी हरियाणा के लगभग 10 हज़ार दिव्यांगजनों को उनकी कार्यक्षमता अनुसार रोज़गार देगी। जल्द ही राज्य सरकार के साथ ' यूथ फॉर जॉब ' कम्पनी के साथ समझौते पर भी हस्ताक्षर करेगी तथा इसके तहत लगभग 10 हज़ार दिव्यांगों के लिये रोज़गार के द्वार खुलेंगे।
उन्होंने बताया कि अमेज़ॉन प्रथम चरण में 1500 मूक-बधिरों को गुरुग्राम, मानेसर तथा फ़रीदाबाद में नियुक्ति देगी। नियुक्ति से पूर्व इन्हें प्रशिक्षण दिया जाएगा। ये दिव्यांगजन 'बैक एंड' पर कंप्यूटर ऑपरेटर या स्टोर रूम में काम करेंगे। कंपनी इन्हें 'पिक एंड ड्रॉप' सुविधा भी देगी। दूसरे चरण में करीब 3,500 दृष्टि बाधित दिव्यांगजनों को अमेज़ॉन रोजगार देगी। इस प्रकार चरणबद्ध तरीके से अमेज़ॉन द्वारा कुल 10 हज़ार दिव्यांगों को जॉब देगी। दिव्यांगजनों के बैकलॉग में से करीब 4000 पदों पर पात्र दिव्यांगों की भर्ती कर ली गई है और शेष की प्रक्रिया जारी है।
उन्होंने बताया कि हरियाणा ही नहीं देश के इतिहास में पहली बार किसी एक राज्य द्वारा 103 पैरा -डॉक्टर तथा 2500 पैरा -मेडिकल स्टॉफ की भर्ती की गई है। हरियाणा दिव्यांगजन आयुक्त श्री राजकुमार मक्कड़ के हस्तक्षेप से एचसीएस की भर्ती में बकाया बैकलॉग की 14 वैकेंसी को भरा जाएगा, विज्ञापन को संशोधित करके दिव्यांगजनों के लिए कोटा निर्धारित किया गया है। इसके अलावा, पीजीटी तथा कौशल रोजगार निगम के तहत निकाली जा रही रिक्तियों में भी दिव्यांगजनों के लिए 4 प्रतिशत आरक्षण दिया जाना सुनिश्चित किया जा रहा है।
रमेश.श्रवण
वार्ता
image