Friday, Jun 14 2024 | Time 11:20 Hrs(IST)
image
राज्य » पंजाब / हरियाणा / हिमाचल


पंजाब-गैंगस्टर-छापेमारी

पंजाब पुलिस, एनआईए द्वारा गैंगस्टरों और समाज विरोधी तत्वों के 143 से अधिक ठिकानों पर छापेमारी
चंडीगढ़,17 मई (वार्ता) पंजाब पुलिस ने बुधवार को राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एन. आई. ए.) के साथ सांझे ऑपरेशन के अंतर्गत राज्य भर में एक ही समय पर गैंगस्टरों और समाज विरोधी तत्वों के 143 से अधिक ठिकानों पर घेराबन्दी और तलाशी ऑपरेशन (सीएएसओ) चलाया गया।
पुलिस महानिदेशक (डीजीपी) गौरव यादव ने बुधवार को बताया कि इस (सीएएसओ) ऑपरेशन को सभी 28 पुलिस जिलों में अंजाम दिया गया था, जिसमें, एन. आई. ए. ने पंजाब पुलिस के सहयोग से गैंगस्टरों के 58 ठिकानों पर छापेमारी की। जबकि, पंजाब पुलिस ने गैंगस्टरों और समाज विरोधी तत्वों के 143 ठिकानों पर तलाशी और जाँच आपरेशन (सी. ए. एस. ओ.) चलाया। इस दौरान पंजाब पुलिस की कम से कम 125 पार्टियाँ, जिनमें 1200 से अधिक पुलिस मुलाज़ीम शामिल थे, ने इस कार्रवाई को अंजाम दिया।
डीजीपी ने कहा कि सीपीज़/एसएसपीज़ को निर्देश दिए गए थे कि वे निजी तौर पर इन छापेमारियों की निगरानी करें और अपेक्षित संख्या में पुलिस टीमों की संख्या तैयार की जाये जिससे एक ही समय अलग-अलग स्थानों पर छापेमारी की जा सके। उन्होंने कहा कि हाल ही में गिरफ्तार किये गए गैंगस्टरों और अपराधियों की पूछताछ के बाद छापेमारी की योजना बनाई गई थी।
विशेष डीजीपी कानून और व्यवस्था अर्पित शुक्ला ने बताया कि पुलिस टीमों से तरफ से घरों और अन्य परिसरों की गहराई से तलाशी के लिए गई है और मोबाइल फोनों और ओर इलेक्ट्रानिक उपकरणों से डाटा भी एकत्रित किया गया है, जिसको फोरेंसिक जांच के लिए भेजा जायेगा। उन्होंने कहा कि पुलिस टीमों को अपराधियों/गैंगस्टरों की स्थिति का जायज़ा लेने के लिए भी कहा गया है जिससे यह पता लगाया जा सके कि क्या वे जेल में है, ज़मानत पर हैं, बरी हो गया है या भगौड़ा है।
स्पेशल डीजीपी ने बताया कि और जांच के लिए कई और व्यक्तियों को भी हिरासत में लिया गया है और उनके कब्ज़े में से आपराधिक सामग्री ज़ब्त की गई है। इस सम्बन्ध में से आगे पूछताछ की जा रही है।
उन्होंने बताया कि पुलिस टीमों से तरफ से हथियार लायसेंसों की भी जांच की गई और अस्ले की सोर्सिंग के बारे भी लोगों से पूछताछ की गई। इसके इलावा, आगे जांच के लिए विदेश आधारित पारिवारिक सदस्यों की यात्रा के विवरण, विदेशों से बैंकों के लेन-देन और वेस्टर्न यूनियन और जायदाद सम्बन्धी विवरण इकठ्ठा किये गए। पुलिस टीमों ने ठिकानों पर तैनात वाहनों की भी जांच की और ‘वाहन’ मोबाइल एप के द्वारा उनके रजिस्ट्रेशन नंबरों की पुष्टि की।
उल्लेखनीय है कि ऑपरेशन का उद्देश्य समाज विरोधी तत्वों के गठजोड़ को तोड़ना था, जोकि राज्य की सख़्त मेहनत से प्राप्त की शान्ति को भंग करने की भद्दी कोशिशें करते रहते हैं। ऐसे छापे आम लोगों में सुरक्षा की भावना पैदा करने के साथ-साथ समाज विरोधी तत्वों में पुलिस का डर पैदा करने में भी मदद करते हैं।
ठाकुर श्रवण
वार्ता
image