Tuesday, Jul 23 2024 | Time 16:48 Hrs(IST)
image
राज्य » पंजाब / हरियाणा / हिमाचल


ओमान में फंसी आठ और लड़कियों को भारत वापस लाया गया

जालंधर 24 मई (वार्ता) रोजगार की तलाश में विदेशों में फंसी लड़कियों को बचाने के लिए सांसद बिक्रम साहनी द्वारा शुरू किए गए ‘मिशन होप’ के तहत बुधवार को आठ और लड़कियों को ओमान से स्वदेश वापस लाया गया।
श्री साहनी ने बताया कि इस मिशन के तहत पिछले सप्ताह सात लड़कियों को भारत वापस लाया गया था और इंदिरा गांधी अंतर्राष्ट्रीय हवाईअड्डे पर उतरते ही आठ और लड़कियां आज अपने परिवारों से मिल पायी हैं।
उन्होंने कहा कि इन लड़कियों को बेईमान एजेंटों और तथाकथित जनशक्ति सलाहकारों द्वारा रोजगार के झूठे बहाने बना कर ओमान जाने का लालच देकर फंसाया गया था। उन्होंने कहा कि पहचान की गई 34 लड़कियों में से पिछले दो हफ्तों के भीतर 15 लड़कियों को भारतीय दूतावास और ओमान सरकार के समन्वय से उनके परिवारों के साथ फिर से मिला दिया गया है।
सांसद साहनी विश्व पंजाबी संगठन के अंतर्राष्ट्रीय अध्यक्ष भी हैं। उन्होंने कहा कि मनमुटाव का विवरण हमारे संज्ञान में आने के बाद, मेरे संसद कार्यालय की एक टीम ने मस्कट का दौरा किया और विश्व पंजाबी संगठन, ओमान चैप्टर के पदाधिकारियों के साथ आश्रय गृहों में फंसी लड़कियों से उन्होंने बातचीत की। उन्होंने कहा कि अनुचित ठेकों को जारी करने, जुर्माना माफ करने के लिए प्रायोजकों के साथ व्यापक विचार-विमर्श किया और उनके टिकट की कीमत वहन करने के बाद हमने इन लड़कियों की घर वापसी सुनिश्चित की।
श्री साहनी ने कहा कि इन लड़कियों को नौकरियों के प्रति प्रतिबद्धता के साथ दिल्ली में वर्ल्ड क्लास स्किल सेंटर और अमृतसर में मल्टी-स्पेशियलिटी स्किल डेवलपमेंट सेंटर में मुफ्त कौशल प्रशिक्षण की पेशकश की गई है। साथ ही, उन्होंने कहा, “इसमें शामिल एजेंटों के खिलाफ पुलिस अधिकारियों द्वारा कड़ी कार्रवाई सुनिश्चित की गई है और बहुत जल्द आवश्यक कार्रवाई की जाएगी।”
ओमान के लिए मिशन होप के बारे में बताते हुए श्री साहनी ने कहा, “मैं पंजाब से ओमान में फंसी लड़कियों को वापस लाने के लिए प्रतिबद्ध हूं। इस पूरे प्रोसेस में हम मस्कट और पंजाब में भी तमाम लड़कियों से मिले, उनकी दर्दभरी दास्तां सुनीं। मेरा कार्यालय पंजाब में उनके परिवारों के साथ लगातार संपर्क में है, मैं इसके लिए दृढ़ संकल्पित हूं और इस तरह की धोखाधड़ी की प्रथाओं को रोकने के लिए आवश्यक कदम उठाते हुए उनकी घर वापसी सुनिश्चित करने की दिशा में काम करता रहूंगा और उन्हें केवल पंजाब में स्थायी आजीविका के अवसर प्रदान करके सम्मानजनक पुनर्वास सुनिश्चित करूंगा। ” वापस लाई गई लड़कियों से बातचीत के बाद, श्री साहनी ने लोगों से आग्रह किया कि वे ऐसे एजेंटों के साथ शामिल होने से पहले सतर्क रहें और उनकी सत्यता की जांच करें। उन्होंने यह भी आग्रह किया कि नौजवानों को विदेशों में बर्बाद होने के बजाय अपने परिवारों के पास रहते हुए पंजाब में कौशल और नौकरियों पर ध्यान देना चाहिए।
ठाकुर, उप्रेती
वार्ता
More News
कंग ने बलबीर सिंह सीनियर को भारत रत्न देने की मांग की

कंग ने बलबीर सिंह सीनियर को भारत रत्न देने की मांग की

22 Jul 2024 | 11:19 PM

चंडीगढ़ /नयी दिल्ली, 22 जुलाई (वार्ता) पंजाब के आनंदपुर साहिब से आम आदमी पार्टी (आप) सांसद मलविंदर सिंह कंग ने संसद में पूर्व हॉकी खिलाड़ी बलबीर सिंह सीनियर के लिए भारत रत्न की मांग की है।

see more..
कानपुर सिख नरसंहार मामला, उप्र सरकार को न्यायालय का निर्देश स्वागतेय: एसजीपीसी

कानपुर सिख नरसंहार मामला, उप्र सरकार को न्यायालय का निर्देश स्वागतेय: एसजीपीसी

22 Jul 2024 | 11:17 PM

अमृतसर, 22 जुलाई (वार्ता) शिरोमणि गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी (एसजीपीसी) ने 1984 के कानपुर सिख नरसंहार मामले में सोमवार को उच्चतम न्यायालय द्वारा उत्तर प्रदेश सरकार को दिये गये निर्देशों का स्वागत किया।

see more..
image