Monday, Jul 22 2024 | Time 09:40 Hrs(IST)
image
राज्य » पंजाब / हरियाणा / हिमाचल


डॉक्टरों का एनपीए बंद होने के लिए आईएएस लॉबी जिम्मेदारः ठाकुर

शिमला 27 मई (वार्ता) हिमाचल के पूर्व मुख्यमंत्री एवं नेता प्रतिपक्ष जयराम ठाकुर ने डॉक्टरों का एनपीए बंद होने के लिए आईएएस लॉबी को जिम्मेदार ठहराया है।
श्री ठाकुर ने शनिवार को मंडी में आयोजित पत्रकार वार्ता को संबोधित करते हुए कहा कि प्रदेश के कुछ आईएएस अधिकारी खुद को सबसे ज्यादा ज्ञानी समझते हैं। उन्होंने कहा कि अपने से ऊपर किसी को भी देखना पसंद नहीं करते। पूर्व में हमारी सरकार में भी इन्होंने डॉक्टरों के वेतन पर सीलिंग लगा दी थी, क्योंकि डॉक्टरों का वेतन चीफ सेक्रेटरी के वेतन से भी अधिक हो गया था। चीफ सेक्रेटरी को जहां 2 लाख 25 हजार मिलते थे। वहीं डॉक्टरों का वेतन 2 लाख 24 हजार 100 रुपए कर दिया गया था। इसलिए एनपीए बंद करने के पीछे भी आईएएस लॉबी की ही साजिश है।
श्री ठाकुर ने कहा कि एनपीए बंद होने से सरकारी क्षेत्र की स्वास्थ्य सेवाएं बुरी तरह से प्रभावित हो जाएंगी। छुट्टी होने के बाद भी डॉक्टर तब तक अस्पताल में बैठा रहता है जब तक मरीज वहां मौजूद रहते हैं, लेकिन एनपीए बंद होने के बाद ऐसा नहीं होगा। सरकार ने यह भी स्पष्ट नहीं किया है कि क्या डॉक्टर प्राइवेट प्रेक्टिस कर पाएंगे या नहीं। उन्होंने सरकार से अपने निर्णय पर पुनर्विचार करने का अनुरोध किया है। डॉक्टरों की मांग का समर्थन करते हुए भाजपा की तरफ से हर संभव मदद का भरोसा दिलाया है।
श्री ठाकुर ने स्वास्थ्य मंत्री पर तंज कसते हुए कहा कि 17 तारीख की कैबिनेट की बैठक में एनपीए बंद करने का निर्णय लिया गया। इसकी नोटिफिकेशन अब जारी कर दी गई है, लेकिन विभाग के मंत्री को इसकी कोई जानकारी ही नहीं है। मंत्री का बयान हास्यास्पद है। सरकार की इन्हीं हरकतों की वजह से पूरे प्रदेश में तमाशा बना हुआ है।
सं.संजय
वार्ता
image