Monday, Mar 4 2024 | Time 07:02 Hrs(IST)
image
राज्य » पंजाब / हरियाणा / हिमाचल


मेले पुरातन संस्कृति को संजोए रखने में निभाते हैं अहम भूमिकाः सिंह

शिमला, 19 नवंबर (वार्ता) हिमाचल प्रदेश के ग्रामीण विकास एवं पंचायती राज मंत्री अनिरुद्ध सिंह ने रविवार को कसुम्पटी विधानसभा क्षेत्र की ग्राम पंचायत गुम्मा में दो दिवसीय गुम्मा मेला 2023 के समापन अवसर पर मुख्य अतिथि के रूप में शिरकत की। इस दो दिवसीय मेले में देवता बथिंदलू महाराज द्वारा देव नृत्य मुख्य आकर्षण रहा इसके अतिरिक्त सांस्कृतिक एवं खेलकूद प्रतियोगिताएं भी आयोजित करवाई गई।
श्री सिंह ने कहा कि हिमाचल प्रदेश देवी-देवताओं की भूमि है और यहां के स्थानीय मेले सदियों से पुरातन संस्कृति एवं देव परंपराओं व धरोहरों को संजोए रखने में अहम भूमिका निभा रहे हैं। उन्होंने कहा कि लोगों की देव परंपराओं में आस्था होने के कारण स्थानीय मेलों में लोग अपने व्यस्त क्षणों में से समय निकालकर आपसी मेलमिलाप व भाईचारे को बढ़ाने के साथ-साथ खरीद-फरोख्त भी करते हैं।
उन्होंने कहा कि गुम्मा का यह दो दिवसीय मेला भी देव परंपराओं व पुरातन संस्कृति के साथ पिछली कई पीढ़ियों से मनाया जा रहा है जिसके लिए उन्होंने मेला आयोजन समिति को बधाई भी दी और देवता बथिंदलू महाराज का आशीर्वाद भी प्राप्त किया।
श्री सिंह ने कहा कि प्रदेश सरकार का हर गांव को सड़क सुविधा उपलब्ध करवाने का लक्ष्य है और इसी लक्ष्य को ध्यान में रखते हुए सड़कों के विस्तारीकरण पर जोर दिया जा रहा है। उन्होंने कहा कि कसुम्पटी विधानसभा क्षेत्र में सड़कों के रखरखाव व ग्रामीणों को सभी सुविधाएं उपलब्ध हो इसके लिए विशेष ध्यान दिया जा रहा है। उन्होंने कहा कि गुम्मा संपर्क सड़क की री-मैटलिंग आगामी सर्दी के मौसम के उपरांत की जाएगी जिसके लिए सभी औपचारिकताएं पूर्ण की जा रही हैं। उन्होंने कहा कि मशोबरा में आईटीआई के भवन के निर्माण के लिए भूमि का चयन कर लिया गया है और शीघ्र ही राशि स्वीकृत कर निर्माण कार्य आरंभ कर दिया जाएगा। उन्होंने कहा कि मशोबरा का प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र सभी मापदंड पूरा करता है इसलिए इस पीएचसी में सरकार द्वारा निर्धारित मापदंड के अनुसार सभी छह डॉक्टरों की तैनाती शीघ्र की जाएगी। उन्होंने गुम्मा पीएचसी को भी सभी सुविधाएं उपलब्ध करवाने का आश्वासन दिया ताकि लोगों को बेहतर स्वास्थ्य सुविधाएं उपलब्ध हो सके। उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार की घोषणा के अनुरूप प्रदेश की हर पंचायत में दो-दो पार्कों का निर्माण किया जाएगा जिसमें गम्मा पंचायत भी शामिल है। उन्होंने गुम्मा पंचायत में भी दो पार्क निर्माण के लिए पंचायत प्रतिनिधियों से जमीन तलाशने का आग्रह किया।
उन्होंने गुम्मा स्कूल के लिए साइंस ब्लॉक निर्माण हेतु भूमि चयन व अन्य औपचारिकताएं पूर्ण करने के लिए स्कूल प्रबंधन व स्थानीय ग्राम पंचायत प्रधान को जिम्मेदारी सौंपी ताकि स्कूल में शीघ्र साइंस ब्लॉक का निर्माण किया जा सके। उन्होंने कहा कि पिछली बरसात में इस क्षेत्र के लगभग 7 पुल क्षतिग्रस्त हो गए थे जिनके स्थान पर नए पुलों के निर्माण कार्य करने अनिवार्य है। उन्होंने कहा कि काटली पुल था खम्बी पुल निर्माण के लिए 15-15 लाख रुपए स्वीकृत किए जा चुके हैं जिनके निर्माण कार्य जारी है।
मंत्री ने दो पंचायत को जोड़ने वाली सड़क में नॉटीखड्ड पर पुल निर्माण के लिए 5 लाख रुपए तथा स्कूली बच्चों को खेल गतिविधियों के लिए 25 हजार रुपए व गुम्मा में खेल मैदान निर्माण के लिए 10 लाख रुपए की राशि देने की घोषणा भी की।
इस दो दिवसीय गुम्मा मेले में बैडमिंटन, रस्साकस्सी तथा कबड्डी की प्रतियोगिता करवाई गई जिसमें मैन सिंगल बैडमिंटन प्रतियोगिता में बसंतपुर के पारस विजेता तथा विशाल उप विजेता रहे जबकि मैन डबल्स में बसंतपुर के पारस व सोनू विजेता तथा मशोबरा के शिवम व अरमान उपविजेता रहे। इसी प्रकार, रस्साकस्सी में महिला मंडल गुम्मा की टीम विजेता तथा महिला मंडल छबालड़ी की टीम उपविजेता रही। कबड्डी प्रतियोगिता में शिमला सेवन स्टार विजेता व हरिओम मशोबरा की टीम उपविजेता रही।
सं.संजय
वार्ता
image