Saturday, Mar 2 2024 | Time 08:39 Hrs(IST)
image
राज्य » पंजाब / हरियाणा / हिमाचल


केंद्र की योजनाओं को गंभीरता से लागू नहीं करने पर होंगे गंभीर परिणामः ठाकुर

शिमला, 06 दिसंबर (वार्ता) हिमाचल प्रदेश के नेता प्रतिपक्ष एवं पूर्व मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने आरोप लगाया कि प्रदेश सरकार केंद्र की लोकप्रिय योजनाओं को नज़र अंदाज़ करती जा रही है। जिन अधिकारियों के जिम्मे ऐसी लोक कल्याण की नीतियों को पात्र व्यक्तियों तक पहुंचाने का काम सौंपा गया है उसे वे पूरी ईमानदारी से निभाएं ताकि ऐसी योजनाओं के लाभ से कोई वंचित न रह सके अन्यथा इसके गंभीर परिणाम होंगे।
श्री ठाकुर ने अपने विधानसभा क्षेत्र के तहत धरोट और बस्सी पंचायत में ‘विकसित भारत संकल्प यात्रा रथ’ पहुंचने पर जनता को संबोधित करते हुए कहा कि विकसित भारत संकल्प यात्रा का मुख्य उद्देश्य वर्ष 2047 तक भारत को विकसित और आत्मनिर्भर राष्ट्र बनाना है।
श्री ठाकुर ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में केंद्र सरकार विभिन्न जन कल्याणकारी योजनाओं को समाज के अंतिम पायदान पर खड़े व्यक्ति के पास पहुंचाने के उद्देश्य से काम कर रही है। इन योजनाओं के प्रति जागरूकता व जन भागीदारी सुनिश्चित करवाने के उद्देश्य से केंद्र सरकार द्वारा विकसित भारत संकल्प यात्रा प्रारंभ की गई है। तीन दिसंबर से 25 दिसंबर तक चलने वाली यात्रा सभी ग्राम पंचायत व नगर निकायों में भ्रमण करेगी। अनेक स्थानों पर कार्यक्रम आयोजित किए जाएंगे। मुझे खुशी है कि ष्हमारा संकल्प विकसित भारतष् यात्रा के सार्थक परिणाम सामने आ रहे हैं। इस यात्रा के माध्यम से आमजन को यशस्वी प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व वाली केंद्र सरकार की कल्याणकारी योजनाओं और कार्यों से अवगत करवाया जा रहा है। मेरा सभी कार्यकर्ताओं से आग्रह है कि ष्हमारा संकल्प विकसित भारत यात्रा की सफलता का भागीदार आप भी बनें और ज्यादा से ज्यादा लोगों तक केंद्र का संदेश पहुंचाया जाए।
उन्होंने चिंता जताते हुए कहा कि राज्य की कांग्रेस सरकार पूर्व में हमारी सरकार के समय शुरू की गई जन हितैषी योजनाओं को बंद कर लाखों लोगों को इससे मिलने वाले लाभ से वंचित कर रही है। हमने सहारा और हिम केयर जैसी योजनाएं शुरू की लेकिन इस सरकार ने इनके लिए बजट ही रोक दिया। आज हजारों लोग सहारा योजना से मिलने वाले लाभ से वंचित हैं। ये वो लोग थे जो किसी न किसी गंभीर बीमारी से अपने घरों में बिस्तर पर वर्षों से जीवन के लिए संघर्ष कर रहे हैं। हमने ऐसे लोगों के लिए प्रति व्यक्ति तीन हज़ार रुपए मासिक देना शुरू किया था ताकि उनकी अच्छे से देखरेख हो सके। इसी तरह हिम केयर जैसी योजना को भी राजनीतिक आधार पर अनदेखा किया जा रहा है। यही नहीं केंद्र सरकार की योजनाओं को भी धरातल पर नहीं उतारा जा रहा है। इस प्रकार के भेदभाव को कत्तई सहन नहीं किया जाएगा। सरकारें आती जाती रहती है लेकिन जनसेवा का भाव हमेशा बना रहना चाहिए।
श्री ठाकुर ने कहा कि तीन राज्यों में मिली करारी हार के बाद कांग्रेस पार्टी के नेता हताशा में हैं। इन चुनावों में पहले तो इनके नेता देश को जाति और धर्म के आधार पर बांटने की कोशिश में लगे रहे और अब तो इनके सहयोगी घमंडिया गठबंधन के नेता हिंदुओं और उत्तर भारतीयों को गालियां देने तक लग गए हैं। बेशर्मी की हद देखिए कांग्रेस नेता राहुल गांधी और सोनिया गांधी अपने सहयोगी दलों के नेताओं की ऐसी बदजुबानी पर चुप्पी साधे हुए हैं। ऐसा लगता है कि इनका पूरा समर्थन ऐसे बदजुबान नेताओं को है।
उन्होंने कहा कि आने वाले लोकसभा चुनावों में कांग्रेस का देश से पूरी तरह सफाया होने वाला है। इनकी झूठी गारंटियों का पर्दाफाश हो चुका है। ऐसी झूठी गारंटियों के जनक आज छत्तीसगढ़ और राजस्थान में सत्ता से बाहर हो चुके हैं।
सं.संजय
वार्ता
image