Thursday, Apr 18 2024 | Time 16:55 Hrs(IST)
image
राज्य » पंजाब / हरियाणा / हिमाचल


विभिन्न दलों के नेताओं ने अग्निहोत्री की पत्नी के निधन पर जताया शोक

शिमला, 10 फरवरी (वार्ता) भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जगत प्रकाश नड्डा, केंद्रीय मंत्री अनुराग सिंह ठाकुर, भाजपा प्रदेश अध्यक्ष डॉ राजीव बिंदल, राष्ट्रीय उपाध्यक्ष सौदान सिंह और नेता प्रतिपक्ष जयराम ठाकुर समेत विभिन्न दलों के नेताओं ने हिमाचल के उपमुख्यमंत्री मुकेश अग्निहोत्री की पत्नी सिम्मी अग्निहोत्री के निधन पर गहरा शोक व्यक्त किया है।
भाजपा नेताओं ने शोक संतप्त परिवार के प्रति अपनी हार्दिक संवेदनायें व्यक्त करते हुए दिवंगत आत्मा की शांति के लिए ईश्वर से प्रार्थना की है।
भाजपा प्रदेश प्रभारी अविनाश राय खन्ना ने हिमाचल प्रदेश के उपमुख्यमंत्री मुकेश अग्निहोत्री से टेलीफोन पर बात की और उनकी पत्नी डॉक्टर सिम्मी अग्निहोत्री के निधन को लेकर संवेदनाएं व्यक्त की।
शोक व्यक्त करने वाले अन्य नेताओं में भाजपा के प्रभारी अविनाश राय खन्ना, सह प्रभारी संजय टंडन, प्रभारी श्रीकांत शर्मा, प्रदेश महामंत्री बिहारी लाल शर्मा, त्रिलोक कपूर, डॉक्टर सिकंदर कुमार, पूर्व प्रदेश अध्यक्ष सुरेश कश्यप व सतपाल सती ने भी श्रीमती सिम्मी के निधन पर शोक प्रकट किया है। साथ ही प्रार्थना की है कि इस दुख की घड़ी में श्री अग्निहोत्री एवं उनकी सुपुत्री आस्था को भगवान संबल प्रदान करें।
गौरतलब है कि श्री मुकेश अग्निहोत्री की पत्नी डॉ. सिम्मी अग्निहोत्री का शुक्रवार देर रात को निधन हो गया।
श्री अग्निहोत्री ने रात करीब 12 बजे इंटरनेट मीडिया अकाउंट पर इसकी जानकारी देते हुए लिखा,“डा. सिम्मी अग्निहोत्री हमें और आस्था को छोड़कर चली गई।”
इस बाबत बताया जा रहा है कि वह गोंदपुर जयचंद स्थित अपने घर में ही थी कि अचानक उनका रक्तचाप घटने लगा। उन्हें चंडीगढ़ स्थित मैक्स अस्पताल ले जाया जा रहा था कि पंजाब के कुराली के पास उनकी मृत्यु हो गई। श्री अग्निहोत्री शिमला में कैबिनेट बैठक के बाद घर लौट रहे थे, जब उन्हें डॉ. सिम्मी के बीमार होने की सूचना मिली।
डॉ सिम्मी हिमाचल प्रदेश विश्वविद्यालय में कार्मिक प्रशासन विभाग में प्रोफेसर के पद पर कार्यरत थीं। उनकी एक पुस्तक इंपावरिंग ट्राइब्स, अश् पाथ टूवार्ड्स सस्टेनेवल डेवलपमेंट प्रकाशित हुई है, जिसका लोकार्पण राज्यपाल शिव प्रताप शुक्ल ने करीब तीन माह पहले किया था। सामाजिक और धार्मिक कार्यों में डॉ. सिम्मी की रुचि अधिक रही है।
सं.संजय
वार्ता
image