Saturday, Apr 20 2024 | Time 12:51 Hrs(IST)
image
राज्य » पंजाब / हरियाणा / हिमाचल


मॉलरोड पर युवक का हत्यारा अभी भी फरारः ठाकुर

शिमला, 26 फरवरी (वार्ता) भारतीय जनता पार्टी हिमाचल प्रदेश नेता प्रतिपक्ष जयराम ठाकुर ने कहा कि वर्तमान सरकार और विशेष तौर से मुख्यमंत्री तथा कांग्रेस पार्टी के केंद्रीय नेताओं के ओर से विधायको के ऊपर लगातार दबाव बनाया जा रहा है।
श्री ठाकुर ने यहां प्रेस वार्ता को सम्बोधित करते हुए कहा कि लोकतांत्रिक व्यवस्था के अनुरूप विधायक चुने गए प्रतिनिधि है और उनको अपने वोट देने का अधिकार है। विधायकों पर दबाव डालने की प्रक्रिया शुरू की गई है। गत 22 फरवरी को कांग्रेस पार्टी विधायक दल के मुख्य सचेत्तक हर्षवर्धन द्वारा जारी एक बयान में लिखा गया है कि राज्यसभा के इस चुनाव में कॉंग्रेस पार्टी के कैंडिडेट ही वोट डालेंगे।
उन्होंने कहा कि इलेक्शन कमिशन, गवर्नमेंट ऑफ इंडिया की ओर से कहा गया है कि कभी व्हिप जारी ही नहीं किया जा सकता। लेकिन उसके बावजूद भी कांग्रेस पार्टी द्वारा व्हिप जारी किया गया है। इससे कांग्रेस सरकार की मंशा साफ दिखती है कि विधेयकों के ऊपर दबाव डाला जाए और उस दबाव के तहत विधायकों को यह हा जा रहा है की अगर आपने व्हिप का उल्लंघन किया तो आपकी विधानसभा सदस्यता जाएगी। नेता प्रतिपक्ष ने वर्तमान मुख्यमंत्री पर आरोप लगाते हुए कहा कि विधायक दल की बैठक में कांग्रेस के विधायको को यह निर्णय बताते है।
उन्होंने कहा कि प्रदेश के मुख्यमंत्री ने विधायकों के साथ बैठक में कहा की इसमें मैनडेटरी है कि जब वोट डाला जाएगा तो दोनों पार्टी की ओर से ऑथोराइज्ड एजेंट अपनी पार्टी के उस ऑथोराइज्ड एजेंट को वोट डालने के बाद वोट दिखाना होगा और विधायक दल की बैठक में मुख्यमंत्री ने कहा कि अगर वोट दिखाने के बाद किसी भी मेंबर ने अगर क्रॉस वोटिंग की है तो उसका वोट इनवैलिड होगा।
नेता प्रतिपक्ष ने कहा कि ऑथोराइज्ड इलेक्शन एजेंट सिर्फ वोट को देख सकते लेकिन उसको इनवैलिड करने की कोई भी ताकत उसमें नहीं है। जयराम ठाकुर ने कहा कि हिमाचल प्रदेश राज्यसभा की एक सीट का चुनाव में भारतीय जनता पार्टी की ओर से हर्ष महाजन है।
उन्होंने कहा कि हिमाचल प्रदेश में कांग्रेस पार्टी की सरकार बनने के पश्चात पहला निर्णय प्रदेश सरकार ने यह लिया था की हम वॉटर सैस लगाएंगे
उन्होंने कहा कि हमने विधानसभा में प्रश्नकाल से पहले पॉइंट ऑफ ऑर्डर बिगड़ती कानून व्यवस्था पर बात की है। नेता प्रतिपक्ष ने कहा कि शिमला पुलिस रिपोर्टिंग रूम के सामने रात के लगभग डेढ़ 2ः00 बजे के बीच में एक 21 साल के नौजवान लड़के की वहां पर हत्या होती है उसके कारण पूरे प्रदेश भर में बहुत बड़ा रोष है, आक्रोश है।
नेता प्रतिपक्ष ने कहा कि हैरानी की बात यह है कि जो हत्यारा है और हत्या करके भाग निकला हैं और वह हिमाचल की बाउंड्री से बहार निकल चुका है लेकिन पुलिस अभी तक भी उसको पकड़ नहीं पाई है। सीसीटीवी की फुटेज की जानकारी के बावजूद भी कोई ठोस कार्रवाई अभी तक नहीं हो पायी है।
श्री ठाकुर ने हिमाचल प्रदेश पुलिस आरोप लगाते हुए कहा कि हिमाचल प्रदेश पुलिस विधायको की लोकेशन विधायको के फ़ोन टैप करना इन कामां में लगे हुए हैं। कानून व्यवस्था की यह परिस्थ्ति है। उन्होंने कहा कि विधानसभा में वरीष्ठ सदस्य सुधीर शर्मा ने अपनी बात कही है कि उनको कॉल पर मारने की धमकी आयी। सुधीर शर्मा ने डीजीपी और मुख्यमंत्री से बात की, लेकिन इस संदर्भ सरकार कोई संज्ञान लेगी। उन्होंने कहा कि हिमाचल प्रदेश में एक नहीं अनेकों घटनाएं घटित हुई है और हाल ही में बिलासपुर में बंबर ठाकुर की पिटाई हुई है।
नेता प्रतिपक्ष ने कहा कि हिमाचल प्रदेश देवभूमि में कानून व्यवस्था की परिस्थिति चिंताजनक है। हिमाचल प्रदेश में राज्यसभा की सीट के लिए जिस प्रकार से सरकार का और सत्ता का उपयोग दबाव के लिए किया जा रहा है ये भी उचित नहीं है।
सं.संजय
वार्ता
image