Tuesday, Jun 18 2024 | Time 06:10 Hrs(IST)
image
राज्य » पंजाब / हरियाणा / हिमाचल


मान, बलतेज मान पर मामला दर्ज करने की मांग

चंडीगढ़, 03 मई (वार्ता) पंजाब शिरोमणि अकाली दल (शिअद) के वरिष्ठ नेता बिक्रम सिंह मजीठिया ने शुक्रवार एडवोकेट जनरल द्वारा उच्चतम न्यायालय में स्वीकार किये जाने के बाद कि राज्य सरकार ने प्रसिद्ध गायक सिद्धू मूसेवाला की सुरक्षा वापस ले ली थी, मुख्यमंत्री भगवंत मान और उनके सलाहकार बलतेज मान पर मामला दर्ज किया जाने की मांग की है।
श्री मजीठिया ने यहां एक प्रेस बयान जारी करते हुये कहा कि एडवोकेट जनरल गुरमिंदर सिंह गैरी ने उच्चतम न्यायालय में एक मामले की सुनवाई के दौरान यह स्वीकारोक्ति की, जिसमें पंजाब सरकार ने पंजाब एवं हरियाणा उच्च न्यायालय के मुख्यमंत्री आवास के सामने वाली सड़क को फिर से खोलने की मांग की थी।
उन्होंने कहा कि राज्य के एडवोकेट जनरल ने कहा कि सुरक्षा कवर वापिस लेने के दो दिनों के अंदर ही सिद्धू मूसेवाला का कत्ल कर दिया गया, इसके अलावा पंजाब पुलिस के खुफिया मुख्यालय पर राॅकेट से चलने वाले ग्रेनेड से हमले का हवाला दिया ताकि राज्य के तर्क की पुष्टि हो सके कि मुख्यमंत्री आवास के सामने वाली सड़क बंद रहनी चाहिये।
श्री मजीठिया ने मूसेवाला की सुरक्षा कम करने वाले मुख्यमंत्री और मुख्यमंत्री के सलाहकार बलतेज पन्नू द्वारा इस तथ्य को सार्वजनिक करने वाले के खिलाफ मामला दर्ज किए जाने की मांग की है।
उन्होंने कहा, ‘‘ अब राज्य ने वह आधिकारिक तौर पर स्वीकार कर लिया है जो मूसेवाला के माता-पिता और बड़े पैमाने पर पंजाबी हमेशा से कहते रहे हैं।’’
उन्होंने पंजाबियों से अपील की है कि वे सिद्धू मूसेवाला को न्याय सुनिश्चित करने के लिये आंदोलन करें। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री ने न केवल गायक की सुरक्षा कम की, बल्कि खुंखार गैंगस्टर लाॅरेंस बिश्नोई, जिसके गिरोह ने मूसेवाला की हत्या की थी, उसे जेल से साक्षात्कार करने की अनुमति भी दी थी।
उन्होंने कहा,‘‘ अब यह स्पष्ट हो गया कि पंजाब में कानून-व्यवस्था की स्थिति खराब होने के लिए अकेले मुख्यमंत्री जिम्मेदार है।’’
विजय.श्रवण
वार्ता
image