Tuesday, Jun 18 2024 | Time 04:08 Hrs(IST)
image
राज्य » पंजाब / हरियाणा / हिमाचल


आब्जर्वरों ने स्वतंत्र, निष्पक्ष चुनाव के लिये आदर्श चुनाव संहिता सख़्ती से लागू करने का निर्देश

जालंधर, 16 मई (वार्ता) लोक सभा चुनाव- 2024 के लिये चुनाव आयोग द्वारा जालंधर में नियुक्त पुलिस आब्जर्वर सतीश कुमार गजभिये और व्यय आब्जर्वर माधव देशमुख ने अधिकारियों को स्वतंत्र और निष्पक्ष मतदान यकीनी बनाने के लिये आदर्श चुनाव संहिता
को सख़्ती से लागू करने के लिये कहा है।
जिला चुनाव अधिकारी डाॅ हिमांशु अग्रवाल, पुलिस कमिश्नर स्वप्न शर्मा और एस.एस.पी. जालंधर ( देहात) अंकुर गुप्ता सहित बैठक की अध्यक्षता करते हुये आब्जर्वरों ने ज़िला प्रशासन द्वारा किये प्रबंधों विशेषकर सुरक्षा इंतजाम का जायज़ा लिया। अधिकारियों को संबोधित करते हुये उन्होंने कहा कि आज़ाद और निष्पक्ष/ शांतपूर्ण मतदान स्वस्थ लोकतंत्र का आधार है, जिसको हर कीमत पर यकीनी बनाया जाये। उन्होंने कहा कि नगदी और शराब के ग़ैर- कानूनी परवाह को रोकने के लिए टीमें पूरी तरह चौकस रहे। ज़िला प्रशासन द्वारा किए प्रबंधों पर संतोष व्यक्त करते हुए उन्होंने कहा कि लोगों में विश्वास बहाली के लिये प्रयास बढ़ाये जायें, जिससे लोग बिना किसी डर, भय के मताधिकार का इस्तेमाल कर सकें।
व्यय आब्जर्वर ने एफ.एस.टी. और एस.एस.टी. टीमें को ऐसे क्षेत्रों, जिन की पहचान खर्च किए पक्ष से संवेदनशील क्षेत्रों के तौर पर हुई है, में और ज्यादा चौकस रहने के लिये कहा। इसके अलावा अलग- अलग टीमों के साथ- साथ मुख्य दफ़्तर के साथ बढ़िया तालमेल को सुनिश्चित करने के लिये भी कहा।
जिला प्रशासन द्वारा किये गये प्रबंधों सम्बन्धित आब्ज़र्वर को जानकारी देते हुये ज़िला चुनाव अधिकारी डाॅ अग्रवाल ने बताया कि जालंधर लोक सभा चुनाव आज़ाद, निष्पक्ष और पारदर्शी ढंग से करवाने के लिये ज़िला प्रशासन द्वारा पुख़्ता प्रबंध किये गये हैं, जहाँ 1951 पोलिंग बूथों पर 16 लाख से अधिक वोटर मतदान कर सकेंगे। उन्होंने यह भी बताया कि असुरक्षित क्षेत्रों की पहचान, चुनाव स्टाफ की रेडमाइज़ेशन, एफ.एस.टी., वी.वी.टी. और अन्य टीमों की तैनाती आदि के प्रबंध पहले ही किए जा चुके हैं।
पुलिस आयुक्त और एस.एस.पी. ने बताया कि सुरक्षा के सभी प्रबंध किये गये हैं, जिसके अंतर्गत रोकथाम सम्बन्धित कार्यवाहियों, फोर्स की तैनाती और 19 अंतर-ज़िला नाके लगाने के अलावा 82 प्रतिशत हथियार जमा करवाये जा चुके हैं। उन्होंने बताया कि संचार योजनायें लागू करने के साथ- साथ क्विक रिस्पांस टीमें ( क्यू.आर.टी.) तैनात की गयी हैं।
ठाकुर.श्रवण
वार्ता
image