Friday, Sep 20 2019 | Time 17:24 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • बजरंग की सेमीफाइनल हार पर कोच कृपाशंकर ने उठाये सवाल
  • इंडिया सीएसआर सम्मेलन एवं प्रदर्शनी राजधानी में
  • दुबई से 20 लाख का अवैध सोना लाते पांच बदमाश गिरफ्तार
  • जेल में बंद सजायाफ्ता कैदी की मौत
  • मैक्स बूपा और इंडियन बैंक की साझेदारी
  • श्रीलंका का पाकिस्तान दौरा तय कार्यक्रम से होगा
  • श्रीलंका का पाकिस्तान दौरा तय कार्यक्रम से होगा
  • सीआईआई ने कार्पोरेट टैक्स दरों में कटौती का किया स्वागत, अर्थव्यवस्था को मिलेगी रफ्तार
  • अंतर्राष्ट्रीय क्रेता-विक्रेता सम्मेलन में 08 एम ओ यू पर हस्ताक्षर हुए
  • पाकिस्तानी प्रतिनिधिमंड़ल से कोई बातचीत नहीं होगी: अकबरुद्दीन
  • चने की दो बेहतर किस्में विकसित
  • गाजियाबाद रन टू ब्रीथ 15 दिसंबर को,10 हजार धावक हिस्सा लेंगे
  • गाजियाबाद रन टू ब्रीथ 15 दिसंबर को,10 हजार धावक हिस्सा लेंगे
राज्य » राजस्थान


सीमा पार से आई थी करीब 200 करोड़ रुपये की हेरोइन

श्रीगंगानगर, 03 मई (वार्ता)। राजस्थान में श्रीगंगानगर जिले में रावला थाना क्षेत्र में भारत पाकिस्तान सीमा पर गत 29-30 अप्रैल की रात को हुई संदिग्ध गतिविधि की गुत्थी सुलझाते हुए हेरोइन तस्करों के दो स्थानीय मददगारों को हिरासत में लिया है।
पुलिस सूत्रों ने आज बताया कि 29-30 अप्रैल की रात गश्त के दौरान सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ) के जवानों ने सीमा पर तारबंदी के दोनों ओर पदचिन्ह देखे। तब इस घटना की बीएसएफ के अधिकारियों, खुफिया अधिकारियों की जांच के बाद सीमा पार से हेरोइन की एक बड़ी खेप आने की जानकारी मिली। सूत्रों ने बताया कि सीमा पर से आये तस्करों ने भारतीय तस्करों को हेरोइन सुपुर्द की, जिसे पंजाब के तस्कर स्थानीय सम्पर्कों की मदद से ले जाने में कामयाब हो गये।
सूत्रों ने बताया कि बीएसएफ के एक अधिकारी की रिपोर्ट पर रावला थाना पुलिस ने पांच-छह व्यक्तियों के खिलाफ हेरोइन तस्करी का मामला दर्ज कर लिया है। इस सिलसिले में एक कुख्यात स्थानीय बदमाश सहित दो आरोपियों को हिरासत में लिया गया है। इस मामले में पंजाब के एक कुख्यात तस्कर पहलवान सहित तीन तस्करों की तलाश की जा रही है।
पुलिस सूत्रों के अनुसार अब तक की जांच-पड़ताल में पता चला है कि पंजाब से तीन-चार तस्कर दो दिन पहले ही इस इलाके में आ गये थे, जिन्होंने एक स्थानीय बदमाश जस्सासिंह कापड़िया निवासी रावला और एक और संदिग्ध बग्गासिंह निवासी चक 9 केएनडी को अपने साथ मिलाया। इनकी मदद से उस रात को सीमा पार से तारबंदी के इस पार फेंकी गयी हेरोइन की खेप को उठाकर लाया गया। जिसे पंजाब के तस्कर ले गये। सूत्रों के अनुसार तारबंदी से लगभग दो किमी दूर मुख्य मार्ग पर तस्कर कार लिये खड़े थे। हेरोइन के पैकेट मिलते ही वे पंजाब की ओर रवाना हो गये। पुलिस के अनुसार बीएसएफ के एक अधिकारी द्वारा की गई रिपोर्ट के आधार पर जस्सासिंह, बग्गासिंह के अलावा पंजाब के फाजिल्का जिले में अबोहर क्षेत्र के निवासी छिंदासिंह, पंजाब निवासी पहलवान और एक अन्य शख्स पर एनडीपीएस एक्ट की धारा 29 के तहत मुकदमा दर्ज किया गया है।
पुलिस ने बताया कि जस्सासिंह और बग्गासिंह से पूछताछ की जा रही है। पहलवान, छिन्दासिंह एवं एक अन्य को पकड़ने के लिए खुफिया एजेंसियां सक्रिय हैं। जानकार सूत्रों के अनुसार पहलवान पंजाब का एक नामी मादक पदार्थ तस्कर है। वह पिछले वर्ष श्रीगंगानगर जिले में ही श्रीकरणपुर सैक्टर में इसी प्रकार सीमा पार से आई हेरोइन की खेप के मामले में वांछित है। तब 18 किलो हेरेाइन आई थी। राजस्थान और पंजाब पुलिस ने इस मामले में दो-तीन जनों को गिरफ्तार भी किया। सिर्फ एक किलो हेरोइन ही बरामद हो पाई थी। ताजा मामले में सीमा पार से करीब 40 किलो हेरोइन आई है जिसका बाजार में करीब दो सौ करोड़ रुपये है।
सेठी सुनील
वार्ता
image