Thursday, Feb 20 2020 | Time 18:47 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • रुपया 10 पैसे टूटा
  • दिव्या ने जीता स्वर्ण, निर्मला, पिंकी,सरिता फाइनल में
  • तमिलनाडु में दो सड़क हादसों में 26 मरे, 38 घायल
  • राजकीय विद्यालयों में शनिवार को नो बैग डे प्रस्तावित
  • राज्यपाल फागू चौहान ने ‘महाशिवरात्रि’ की बधाई दी
  • ट्रंप की यात्रा: भारत-अमेरिका के बीच होंगे 5 करार
  • टोक्यो पैरालंपिक में नहीं खेलेंगी दीपा मलिक
  • अमृतसर के 10 गावों को किया जाएगा प्रदूषण मुक्त: औजला
  • चंडीगढ़ और दिल्ली में आधी-तूफान का अनुमान
  • जालौन: ऑनलाइन फ्रॉड कर बैंक खातों से निकाले गये पैसे हुए वापस
  • स्पोर्टस कॉलेज के गौरव को बरकरार रखा जाएगा: शर्मा
  • ‘दृष्टि ट्रांसमिसोमीटर’व ‘दिव्‍य नयन’ की प्रौद्योगिकी सीईएल को हस्तातंरित
  • इमरान नाकामी का दोष मीडिया पर नहीं मढ़े:मरियम
  • भारतीय भाषाओं के उन्नयन के लिए राष्ट्रीय आंदोलन की जरूरत : नायडू
  • कमलनाथ ने ‘सर्जिकल स्ट्राइक’ को लेकर मोदी पर साधा निशाना
राज्य » राजस्थान


पर्यावरण का संदेश देते विवाह किया

अलवर, 16 अक्टूबर (वार्ता) राजस्थान में अलवर जिले में दलित दूल्हा दुल्हन ने अपने विवाह में पर्यावरण का अद्भुत संदेश देते हुए न केवल पूरीतरह से पर्यावरण के अनुकूल विवाह की रस्में पूरी कीं बल्कि दहेजरहित विवाह करके अनुरकणीय मिसाल पेश की।
अलवर जिले के भिवाड़ी तहसील में मेगाहाइवे पर कारोली गांव निवासी अजय सिंह का विवाह बबिता से कल रात सम्पन्न हुआ। उन्होंने अपने विवाह को मिसाल के रूप में पेश करते हुए विवाह का पूरा प्रबंधन खुद किया दुल्हन पक्ष से विवाह की एक भी रस्म में किसी तरह का धन नहीं लिया। विवाह में भोजन सहित अन्य सभी व्यय खुद किया।
अजयसिंह ने अपने विवाह में पर्यावरण का अद्भुत संदेश दिया। विवाह की रस्म की शुरुआत में दुल्हन की निकासी कार से न करके बग्गी से करवाई। दुल्हन के स्वागत के लिए दूल्हा, उंसके परिजन और ग्रामीण मौजूद थे। बाद में बग्गी में दुल्हन और दूल्हा दोनों विवाहस्थल तक पहुंचे। यहां भी इस वर वधु ने पर्यावरण का संदेश देते हुए शादी को पूर्णतया पर्यावरण के अनुकूल बनाया। रिश्तेदारों को उपहार के रूप में पौधे वितरित किये गए। बाराती, रिश्तेदारों और विवाह में शामिल होने आए मेहमानों को प्लास्टिक का इस्तेमाल नहीं करने दिया गया। यही नहीं शादी के कार्ड भी कपड़े पर प्रिंट करवाये गये और डिजिटल कार्ड भेज करके रिश्तेदारों को निमंत्रण दिया गया।
विवाह में शामिल होने आए सभी मेहमानों को संविधान की पुस्तक और पौधे वितरित किए गए। गांव में युवाओं को आगे बढ़ाने के लिए दूल्हे अजय ने गांव में निशुल्क सार्वजनिक पुस्तकालय भी बनवाया।
अजय हैदराबाद में एक कंपनी में नौकरी करते हैं, उन्होंने बताया कि वह चाहते हैं कि गांव के बच्चे और लोग साक्षर बने, इसी उद्देश्य से वह यह पहल कर रहे हैं। इस विवाह को लेकर ग्रामीणों ओर समाज के लोगो भारी उत्साह दिखाई दिया और सभी जाति और धर्म के लोग शादी में शामिल हुए।
जैन सुनील
वार्ता
More News
गहलोत ने निरोगी राजस्थान को समर्पित किया बजट

गहलोत ने निरोगी राजस्थान को समर्पित किया बजट

20 Feb 2020 | 6:26 PM

जयपुर 20 फरवरी (वार्ता) राजस्थान सरकार ने वर्ष 2020-21 के 12 हजार 345 करोड़ 61 लाख रुपए के घाटे के बजट के साथ निरोगी राजस्थान का लक्ष्य पाने के लिए चिकित्सा पर 14 हजार 533 करोड़ 37 लाख रुपए का प्रावधान का प्रस्ताव रखा है।

see more..
30 हजार मेगावाट सौर ऊर्जा के उत्पादन का लक्ष्य प्रस्तावित

30 हजार मेगावाट सौर ऊर्जा के उत्पादन का लक्ष्य प्रस्तावित

20 Feb 2020 | 6:26 PM

जयपुर, 20 फरवरी (वार्ता) राजस्थान में नयी सौरऊर्जा नीति के तहत 30 हजार मेगावाट ऊर्जा के उत्पादन का महत्वाकांक्षी लक्ष्य निर्धारित करने का प्रस्ताव है।

see more..
ओलम्पिक पदक विजेताओं की पुरस्कार राशि में भारी बढ़ोत्तरी

ओलम्पिक पदक विजेताओं की पुरस्कार राशि में भारी बढ़ोत्तरी

20 Feb 2020 | 6:20 PM

जयपुर, 20 फरवरी (वार्ता) ओलम्पिक खेलों में स्वर्ण पदक जीतने वाले खिलाड़ियों को तीन करोड़ रुपये रजत पदक को दो करोड़ रुपये और कांस्य पदक जीतने वाले को एक करोड़ रुपये मिलेंगे।

see more..
image