Tuesday, Oct 20 2020 | Time 16:47 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • हेमंत से झारखंड जर्नलिस्ट एसोसिएशन के प्रतिनिधिमंडल ने मुलाकात की
  • मेक्सिकन ओपन 2021 में भाग लेंगे ज्वेरेव
  • मेक्सिकन ओपन 2021 में भाग लेंगे ज्वेरेव
  • नैनीताल रोप-वे मामले में सरकार और सभी पक्षकार उचित समाधान निकालें: हाईकोर्ट
  • आंध्र में अगले 48 घंटों में भारी बारिश के आसार
  • हिमाचल में प्रशासनिक फेरबदल, सात जिलों के उपायुक्तों समेत 21 आईएएस बदले
  • नीतीश सरकार ने बिहार में राेजगार देने की कोई पहल ही नहीं की : तेजस्वी
  • उमर, महबूबा ने की इंस्पेक्टर की हत्या की निंदा
  • वामपंथी नेता मारुति मनपाडे का कोरोना से निधन
  • तीसरे दिन चढ़ा शेयर बाजार, सेंसेक्स 113 अंक मजबूत
  • भाजपा नेता दिलीप घोष को अस्पताल से मिली छुट्टी
  • केजरीवाल तेलंगाना को 15 करोड़ की देंगे मदद
  • प्लेऑफ की दावेदारी पुख्ता करने उतरेंगे बेंगलुरु और कोलकाता
राज्य » राजस्थान


अमृत योजना में अनियमितता की जांच एसीबी से कराने की मांग

अजमेर, 14 सितम्बर (वार्ता) राजस्थान में अजमेर नगर निगम के अधीन अमृत योजना के ठेकों में आठ करोड़ रुपए की अनियमितता की भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो (एसीबी) से जांच कराने की मांग की गई है।
अजमेर में कांग्रेस के सदस्य अधिवक्ता राजेश टंडन ने आज पत्रकारों को बताया कि उन्होंने अमृत योजना में घोटाले की शिकायत राज्य सरकार और अजमेर की संभागीय आयुक्त आरुषि मलिक को की थी। मलिक ने उस पर चार सदस्यों की तकनीकी कमेटी गठित की और उस जांच समिति ने शिकायत पर मोहर लगाते हुए उन्हें सही पाया।
उन्होंने कहा कि शिकायत में नगर निगम के आयुक्तों द्वारा अमृत योजना के तहत सीवर लाइन डालने में अनियमितता उजागर हुई है। टंडन ने पूरे मामले की जांच सरकार भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो से कराने, संबंधित ठेकेदारों को काली सूची में डालने और आरोपी अधिकारियों जो नगर निगम के आयुक्त रहे हैं की तनख्वाहों से राशि की भरपाई करने की मांग की है।
अनुराग सुनील
वार्ता
image