Tuesday, Jun 25 2024 | Time 21:36 Hrs(IST)
image
राज्य » राजस्थान


राजस्थान ने नए निवेश प्रस्ताव प्राप्त करने के अपने पिछले रिकॉर्ड को किया पार

जयपुर 16 फरवरी (वार्ता) राजस्थान ने पिछले चार वर्षों (वर्ष 2018-19 से 2021-22) में पांच लाख करोड़ रुपए से अधिक का निवेश आकर्षित कर नए निवेश प्रस्ताव प्राप्त करने के अपने पिछले रिकॉर्ड को पार कर लिया है।
गैर सरकारी संगठन एमएसएमई एक्सपोर्ट प्रमोशन काउसिंल और राजस्थान चैंबर ऑफ कॉमर्स एंड इंडस्ट्री (आरसीसीआई) द्वारा किए गए संयुक्त अध्ययन के अनुसार राज्य में इन चार वर्षों में 507015.62 करोड़ रुपए की नई परियोजना प्राप्त की गई है। परियोजनाओं को पूरा करने की गति में भी उल्लेखनीय सुधार हुआ है और 122848.67 करोड़ रुप की निवेश परियोजनाएं पूरी हुई जिससे तीन लाख से अधिक नए रोजगार के अवसर सृजित करने मेें मदद मिली है।
बुधवार को नई दिल्ली में अध्ययन की रिपोर्ट जारी की गई और आरसीसीआई के अध्यक्ष डा के एल जैन और एमएसएमई ईपीसी के अध्यक्ष डा डी एस रावत ने कहा कि राजस्थान एक निवेश पावर हाउस के रुप में उभरा है और राज्य सरकार द्वारा शुरु की गई। वर्ष 2022 की नई निवेश प्रोत्साहन योजना राज्य को सुविधा प्रदान कर रही है। प्रतिस्पर्धी प्रोत्साहन पेशकशों और निवेशको के लिए अधिक लचीलेपन के माध्यम से पसंदीदा निवेश गंतव्य बने।
उन्होंने कहा कि 60587.45 करोड़ रुपए की परियोजनाओं को पुनर्जीवित किया गया। राज्य को 2021-22 में बड़ी संख्या में 252103.35 करोड़ रुपए के नए निवेश प्रस्ताव प्राप्त हुए है और बड़ी संख्या में प्रस्ताव लागू किए जा रहे है। अध्ययन में कहा गया है कि सेंटर फॉर मॉनिटरिंग ऑफ इंडियन इकोनॉमी (सीएमआईई) द्वारा एकत्र किए गए आंकड़ों के अनुसार वर्तमान में 703662 करोड़ रुपए का कार्यान्वयन किया जा रहा है। एक बार चालू परियोजनाएं पूरी हो जाने के बाद चार लाख से अधिक प्रत्यक्ष रोजगार के अवसर सृजित होंगे और उतनी ही संख्या में अप्रत्यक्ष रुप से रोजगार सृजित होंगे।
राज्य में सूक्ष्म लघु और मध्यम क्षेत्र में वृद्धि हुई हैं जो पहले छह लाख की संख्या को पार कर चुका है और लगभग 25 प्रतिशत इकाइयों ने पिछले साल 72 हजार करोड़ रुपए का निर्यात किया है। व्यापार करने में आसानी के लिए प्रक्रियाओं, नियमों और विनियमों को सुव्यवस्थित करना, सिंगल विंडो प्रणाली को मजबूत करना और प्रोत्साहनों को आकर्षक पैकेज अत्यधिक प्रभावी रहा है।
श्री रावत ने कहा कि राज्य के औद्योगिक विकास निगम (रीको) अब तक 57350 से अधिक औद्योगिक भूखंड आवंटित किए है, 400 से अधिक औद्योगिक क्षेत्रों को विकसित किया है जो बुनियादी ढ़ांचे और वित्तीय सहायता सेवाओं के पूर्ण नवीन साधन प्रदान करते है। पचास हजार एकड़ विकसित भूमि और उत्पादन में लगभग 43 हजार इकाइयां है।
रियल एस्टेट क्षेत्र में निवेश गतिविधि मांग में भारी वृद्धि की ओर अग्रसर है, राज्य में लाइन में परियोजनाओं में 75 अरब रुपए का कुल निवेश मूल्य शामिल है। उन्होंने कहा कि बढ़ती परियोजना पूर्णता, सहायक नीतियों और उपभोक्ता भावनाओं में सुधार ने इस क्षेत्र में खरीददारों का विश्वास बढ़ाया है।
जोरा
वार्ता
More News
देश में सबसे बड़े ‘इन्वेस्टमेंट हब’ के रूप में उभरे राजस्थान-भजनलाल

देश में सबसे बड़े ‘इन्वेस्टमेंट हब’ के रूप में उभरे राजस्थान-भजनलाल

25 Jun 2024 | 8:38 PM

जयपुर, 25 जून (वार्ता ) मुख्यमंत्री भजनलाल शर्मा ने राजस्थान में निवेश की अपार संभावनाएं बताते हुए कहा है कि हमारी सरकार निवेशकों के लिए हर स्तर पर मदद कर अनुकूल वातावरण तैयार करेगी जिससे देश-विदेशों से अधिकतम निवेश राज्य में आए तथा राजस्थान देश में सबसे बड़े ‘इन्वेस्टमेंट हब’ के रूप में उभरे।

see more..
मिश्र की अध्यक्षता में 29 जून को होगा हरिदेव जोशी पत्रकारिता और जनसंचार विश्‍वविद्यालय का द्वितीय दीक्षांत समारोह

मिश्र की अध्यक्षता में 29 जून को होगा हरिदेव जोशी पत्रकारिता और जनसंचार विश्‍वविद्यालय का द्वितीय दीक्षांत समारोह

25 Jun 2024 | 8:34 PM

जयपुर, 25 जून (वार्ता ) राजस्थान की राजधानी जयपुर में हरिदेव जोशी पत्रकारिता और जनसंचार विश्‍वविद्यालय (एचजेयू) का द्वितीय दीक्षांत समारोह 29 जून को आयोजित किया जाएगा।

see more..
image