Tuesday, Jul 23 2024 | Time 17:07 Hrs(IST)
image
राज्य » राजस्थान


भारतीय संस्कृति के संरक्षण को लेकर मीडिया को गंभीर होने की जरूरत: जयसवाल

माउंट आबू, 08 मई (वार्ता) ग्वालियर आईटीएम युनिवर्सिटी के जर्नलिस्ट मास कम्युनिकेशन प्रमुख डॉ. मनीष कुमार जयवाल ने कहा कि श्रेष्ठ चरित्र एवं आचरण भारतीय संस्कृति की महत्वपूर्ण विरासत हैं। जिनके संरक्षण को लेकर मीडिया को गंभीर होने की जरूरत है।
श्री जयसवाल आज यहां ब्रह्माकुमारी संगठन के ज्ञान सरोवर में चल रहे मीडिया सम्मेलन के समापन सत्र को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि जीवन के हर क्षेत्र में मूल्यों में गिरावट अनुभव की जा रही है, उसे देखते हुए मीडियाकर्मियों को आत्मा की आवाज सुनकर समाज को सही दिशा देने के अभियान में ईमानदारी से सहयोग करना चाहिए। उन्होंने कहा कि सामाजिक ढांचे में सकारात्मक बदलाव लाने में मीडियाकर्मियों को निष्ठापूर्वक अपने कर्तव्यों का निर्वहन करना चाहिए।
मीडियाकर्मियों को संवेदनशील मुद्दों तक पहुंचकर सत्यता के साथ उनका निराकरण करने के लिए संकल्पित होना होगा। डिजिटल मीडिया को दुरुपयोग करने से आंतरिक शक्तियां क्षीण हो जाती हैं। जिससे बचने के लिए राजयोग के अभ्यास से स्वनिहित मूल्यों को जागृत करने की जरूरत है।
ब्रह्माकुमारी संगठन के कार्यकारी सचिव डॉ. बीके मृत्युजंय ने कहा कि आंतरिक सशक्तिकरण के लिए आध्यात्मिक ज्ञान व राजयोग का अपनी जीवनशैली में समावेश करना जरूरी है। सोशल मीडिया के बढ़ते प्रभाव का सदुयोग करने के लिए उसे और अधिक सकारात्मक एवं उत्तरदायी बनाने की जरूरत है।
अवतान रामसिंह
वार्ता
image