Friday, Jun 14 2024 | Time 15:14 Hrs(IST)
image
राज्य » राजस्थान


कल्ला के विधानसभा क्षेत्र में मतदाता सूची की जांच की उठी मांग

बीकानेर 21 सितम्बर (वार्ता) राजस्थान में शिक्षा मंत्री डॉ. बी.डी.कल्ला के विधानसभा क्षेत्र बीकानेर पश्चिम की मतदाता सूची की जांच की मांग संभाग मुख्यालय से उठी है।
कांग्रेस के जिला उपाध्यक्ष मजीद खोखर, वरिष्ठ कांग्रेस नेता गुलाम मुस्तफा, पूर्व पार्षद दीन मोहम्मद मोलानी, सरताज हुसैन, पार्षद प्रतिनिधि सुभाष स्वामी, विप्र कल्याण बोर्ड के सदस्य राजकुमार किराडू, युवा कांग्रेस के पूर्व प्रदेश उपाध्यक्ष अरुण व्यास ने आज यहां संयुक्त रुप से पत्रकार वार्ता में कहा कि क्षेत्र की मतदाता सूची में जुडऩे वाले नए नामों के सम्बन्ध में प्रथम दृष्टया अनियमितता.गड़बड़ी नजर आ रही है जो अत्यंत गंभीर है।
श्री किराडू ने कहा कि वर्ष-2018 के विधानसभा चुनाव की अंतिम मतदाता सूची में 208496 मतदाता और 30 अप्रेल 2023 को जारी मतदान सूची में 232987 मतदाताओं के बीच 24491 मतदाताओं का अंतर है। इसमें से 13343 मतदाता 2018 के चुनाव की अंतिम मतदाता सूची के अनुसार मतदाता नहीं थे और 2023 की 30 अप्रेल को जारी मतदाताओं की सूची में शामिल है। उक्त 13343 मतदाताओं की उम्र 30 वर्ष से अधिक है जिसके संदर्भ में नंबर फॉर्म 6 और 7 की जांच होनी चाहिए। यह 13343 मतदाता 30 वर्ष से अधिक आयु के हैं। पांच वर्ष पूर्व इनकी आयु 25 वर्ष से अधिक थी। ऐसे में तब भी इनका नाम मतदाता सूची में होना चाहिए था। इस स्थिति में आम राय में इन्हें जाली.अवैध मतदाताओं के रुप में जाने जा सकते हैं। जिसकी गहन जांच किया जाना चाहिए।
कांग्रेस के इन सात नेताओं ने भारत निर्वाचन आयोग के मुख्य निर्वाचन आयुक्त को जिला निर्वाचन अधिकारी, बीकानेर के मार्फत चिट्ठी लिखकर अवगत कराया है कि बीकानेर पश्चिम विधानसभा में 193 मतदान केंद्र है लेकिन यह देखा गया है कि कुछ केंद्रों में इस दौरान 350 से अधिक मतदाता जुड़े हैं इनमें मतदान केंद्र संख्या 4 में 433, 6 में 448, 29 में 523 एवं 31 में 621 नए नाम, मतदाता के रुप में जुड़े है जो कि आसपास के ही क्षेत्र है। यह भी गहन जांच का विषय है।
उन्होंने मुख्य निर्वाचन आयुक्त से इतनी बड़ी संख्या में जुडऩे वाले नामों की गहनता से जांच की मांग के साथ कहा कि नए नाम जाली है तो अविलंब हटवाने के लिए निर्देशित किया जाए। उन्होंने इसके लिए विरोधी पार्टियों पर आरोप लगाया कि लोकतंत्र नहीं मानने वाले ही ऐसा कर सकते हैं।
संजय रामसिंह
वार्ता
image