Wednesday, Sep 19 2018 | Time 12:14 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • ट्रंप ने परमाणु निरस्त्रीकरण समझौते का किया स्वागत
  • मुखिया पति ने सरपंच के भाई समेत तीन को मारी गोली, एक की मौत
  • बिहार में भारी मात्रा में शराब बरामद, छह गिरफ्तार
  • कोरियाई प्रायद्वीप में परमाणु निरस्त्रीकरण को लेकर समझौता
  • सिद्धार्थनगर: लेखपाल निलंबित
  • सड़क दुर्घटना में गर्भवती महिला सहित एक की मौत
  • रचनात्मक सोच विकसित कर राजनीतिक दल ढूंढे देश की समस्याओं का हल: हरिवंश सिंह
  • भाजपा शासन में तानाशाही बन गया पेशा : राहुल
  • इमरान सऊदी नेतृत्व के साथ द्विपक्षीय संबंधों पर करेंगे चर्चा
  • अगस्ता वेस्टलैंड: आरोपी मिशेल का भारत को किया जाएगा प्रत्यर्पण
  • ग्रामीण की पीट-पीटकर हत्या
  • बेगूसराय में 650 कार्टन शराब बरामद, चार गिरफ्तार
  • कटरीना की बहन इसाबेल करेगी बॉलीवुड में डेब्यू
  • कटरीना की बहन इसाबेल करेगी बॉलीवुड में डेब्यू
  • परिणीति हैं अर्जुन के लिये परफेक्ट दुल्हन !
खेल Share

राठौर ने बताया कि प्रथम टेस्ट पूरा हो जाने के बाद 5000 विद्यार्थियों की छंटनी की जाएगी और फिर इसके बाद 1000 विद्यार्थियों की छंटनी की जाएगी जिन्हें फिर सुपर एडवांस टेस्ट से गुजरना होगा। सही खेल के लिए सही शारीरिक फिटनेस प्रतिभा की पहचान की जाएगी और उन्हें 8 वर्षों तक पांच लाख रुपये बतौर छात्रवृत्ति दिए जाएंगे, ताकि जब उस बच्चे की उम्र 16 साल हो जाएगी तो वह उस समय तक एक चैंपियन बनने के लिए तैयार हो जाएगा।
उन्होंने विशेष बल देते हुए कहा कि किसी भी एथलीट को आवश्यक धनराशि मांगने के लिए हिचकिचाने की जरूरत नहीं है क्योंकि खिलाड़ियों के लिए धन की कोई कमी नहीं है। कर्नल राठौर ने कहा कि एलीट खिलाड़ियों के लिए राष्ट्रीय खेल विकास कोष (एनएसडीएफ) के दायरे में रहते हुए टॉप्स (टार्गेट ओलंपिक पोडियम) योजना तैयार की गई है जिसका उद्देश्य ओलंपिक खेलों के लिए संभावित पदक विजेताओं की पहचान करना एवं उन्हें आवश्यक सहायता प्रदान करना है।
राठौर ने बताया कि मणिपुर के इम्फाल स्थित राष्ट्रीय खेल विश्वविद्यालय अपनी तरह का पहला ऐसा विश्वविद्यालय होगा जो सर्वोत्तम अंतर्राष्ट्रीय प्रथाओं को अपनाते हुए चुनिंदा खेल विषयों में खेल शिक्षा को बढ़ावा देगा।
कर्नल राठौर ने कहा कि उनका मंत्रालय इस वर्ष के उत्तरार्द्ध में एक विनिर्माता शिखर सम्मेलन आयोजित करने पर भी विचार कर रहा है जिसमें अंतर्राष्ट्रीय कंपनियों के साथ-साथ उनकी भारतीय समकक्ष भी एकजुट होंगी और वे सरकार को यह बताएंगी कि भारत में खेलकूद के उपकरणों का निर्माण शुरू करने के लिए किस तरह के नीतिगत संशोधनों की आवश्यकता है।
राज
वार्ता
More News

19 Sep 2018 | 9:33 AM

 Sharesee more..

हांगकांग को हराने में भारत के पसीने छूटे

19 Sep 2018 | 9:32 AM

 Sharesee more..

19 Sep 2018 | 1:14 AM

 Sharesee more..

19 Sep 2018 | 1:12 AM

 Sharesee more..

हांगकांग को हराने में भारत के पसीने छूटे

19 Sep 2018 | 1:06 AM

 Sharesee more..
image