Thursday, Jan 24 2019 | Time 15:54 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • असम के तीन व्याख्याता सड़क हादसे के शिकार
  • शोपियां में दूसरे दिन भी रहा जनजीवन प्रभावित
  • सिंधू और श्रीकांत क्वार्टरफाइनल में
  • बॉलीवुड अभिनेता यशपाल शर्मा बनाएंगे कवि पं0 लख्मी चंद की बायोपिक
  • राजकोट में पुलिस ने किये दो फर्जी डॉक्टर गिरफ्तार
  • गैस सिलेंडर विस्फोट से पांच झुलसे
  • 27वां कन्वर्जेंस इंडिया एक्सपो 29जनवरी से दिल्ली में
  • कांग्रेस विधायक आनंद सिंह को नेत्र अस्पताल में कराया गया भर्ती
  • ओसाका और क्वितोवा में होगा खिताबी मुकाबला
  • आतंकियों से लौहा लेने वाले कश्मीर के लांस नायक वानी को अशोक चक्र
  • सरगोधा में पोलियो का ड्राप पिलाने गई दो महिलाओं को ताले में किया बंद
  • मतपत्रों से चुनाव कराना संभव नहीं है: चुनाव आयोग
  • कांग्रेस के प्रस्ताव पर विचार कर रहे हैं गौर
  • लक्ष्मीबाई के किरदार को कंगना ने किया अमर: मनोज कुमार
खेल Share

भारतीय क्रिकेटर विराट कोहली के लिये इंग्लैंड के खिलाफ सीरीज़ उनके व्यक्तिगत प्रदर्शन के लिहाज़ से भी काफी अहम मानी जा रही है जिनका 2014 की आखिरी सीरीज़ में बल्ले से प्रदर्शन काफी निराशाजनक रहा था। विराट अब दुनिया के स्टार बल्लेबाज़ों में शुमार हैं तो बतौर कप्तान उनपर 11 वर्ष बाद भारत को इंग्लैंड की जमीन पर सीरीज़ जितवाने का दारोमदार है।
भारत ने आखिरी बार 2007 में इंग्लैंड में टेस्ट सीरीज़ जीती थी जबकि महेंद्र सिंह धोनी की कप्तानी में उसे 2011 में 0-4 से और 2014 में 1-3 से सीरीज़ में शिकस्त मिली है। इसके अलावा भारतीय टीम के मौजूदा बल्लेबाजी क्रम में विराट सबसे भरोसेमंद चेहरा हैं। एसेक्स के खिलाफ अभ्यास मैच में टीम के शीर्ष क्रम के तीन बल्लेबाज़ों शिखर धवन, चेतेश्वर पुजारा और उपकप्तान अजिंक्या रहाणे की निराशाजनक फार्म के बाद तो विराट की जिम्मेदारी और भी बढ़ गयी है।
शास्त्री ने कहा“ विराट ने पिछले चार वर्षाें में कमाल की फार्म दिखाई है और यह सभी जानते हैं। यदि आप इस तरह से और इस मानसिकता के साथ खेलते हैं तो आप किसी भी परीक्षा के लिये तैयार रहते हैं। जब विराट यहां 2014 में खेले थे तब उन्होंने निराश किया लेकिन चार वर्ष बाद वह दुनिया के सर्वश्रेष्ठ क्रिकेटर हैं। वह यहां अब दुनिया को दिखाने आये हैं कि वह दुनिया के बेहतरीन खिलाड़ी हैं।”
कोच ने साथ ही माना कि भारतीय टीम को इंग्लैंड में जीत के लिये आक्रामकता के साथ निडर होकर भी खेलना होगा। उन्होंने कहा“ खिलाड़ियों को मजे लेकर और आक्रामकता के साथ खेलना होगा। हम यहां मैच ड्रॉ कराने नहीं बल्कि सीरीज़ जीतने आये हैं। हम हर मैच को ताकत से खेलेंगे।”
प्रीति
वार्ता
More News

ओसाका और क्वितोवा में होगा खिताबी मुकाबला

24 Jan 2019 | 3:16 PM

 Sharesee more..
अलियेव को हराकर बजरंग ने पंजाब रॉयल्स को दिलाई जीत

अलियेव को हराकर बजरंग ने पंजाब रॉयल्स को दिलाई जीत

23 Jan 2019 | 11:38 PM

लुधियाना, 23 जनवरी (वार्ता) वर्ल्ड चैम्पियनशिप सिल्वर मेडेलिस्ट बजरंग पुनिया ने बुधवार को फिर से निर्णायक मुकाबला जीतकर यहां म्यूनिसिपल कॉर्पोरेशन इंडोर स्टेडियम में प्रो रेसलिंग लीग (पीडब्लूएल) के चौथे सत्र में चैम्पियन पंजाब रॉयल्स को लगातार दूसरी जीत दिलाई।

 Sharesee more..
महिला जूनियर हॉकी टीम शिविर के लिए 33 संभावित घोषित

महिला जूनियर हॉकी टीम शिविर के लिए 33 संभावित घोषित

23 Jan 2019 | 11:38 PM

नई दिल्ली, 23 जनवरी (वार्ता) हॉकी इंडिया ने 24 जनवरी से लखनऊ के भारतीय खेल प्राधिकरण परिसर में शुरु होने वाले भारतीय महिला जूनियर हॉकी टीम के राष्ट्रीय शिविर के लिए 33 सदस्यों की संभावित सूची जारी कर दी है। 17 फरवरी तक चलने वाले इस 24 दिवसीय शिविर के लिए खिलाड़ी कोच बलजीत सिंह को रिपोर्ट करेंगे।

 Sharesee more..
image