Wednesday, Nov 21 2018 | Time 17:49 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • बिहार में 903 पशु चिकित्सकों की नियुक्ति शीघ्र : सुशील
  • आतंकी हमले में शहीद विजय कुमार की राजकीय सम्मान के साथ अंत्येष्टि
  • बारिश ने बिगाड़ा भारत का खेल, 4 रन से गंवाया मैच
  • शिक्षक भर्ती की सीबीआई जाँच कराने के आदेश को चुनौती
  • निरंकारी भवन पर हमला करने वालों में से एक गिरफ्तार, दूसरे की तलाश जारी
  • चुनाव में 'डबल इंकमबेंसी' भाजपा को पड़ेगी महंगी: मोहन प्रकाश
  • चुनाव में 'डबल इंकमबेंसी' भाजपा को पड़ेगी महंगी: मोहन प्रकाश
  • चुनाव में 'डबल इंकमबेंसी' भाजपा को पड़ेगी महंगी: मोहन प्रकाश
  • पैनासोनिक ने आईओटी समाधान ‘सीकिट’ किया लॉन्च
  • भंडारण निगम देश की खाद्य सुरक्षा में अधिकाधिक योगदान करें: खट्टर
  • सिख श्रद्धालुओं का जत्था पाकिस्तान रवाना
  • पोखरी में गुरुवार को पुनर्मतदान
  • त्रिपुरा उच्च न्यायालय ने सीबीआई को जांच शुरू करने के दिये आदेश
  • बागी उम्मीदवारों को जल्द मना लिया जायेगा: कांग्रेस
  • तिवाड़ी को बाँसुरी और बेनीवाल को बोतल चुनाव चिह्न
खेल Share

विराट ने कहा, “जब मैं मैदान में उतरता हूं तो मेरे हाथ में बल्ला होता है और मैं उन लोगों के बारे में नहीं सोचता जो बाहर बैठकर लिखते हैं और चीजों की भविष्यवाणी करते हैं। मैं इतना जानता हूं कि मुझे अपने दिमाग में पूरी तरह स्पष्ट रहना है।”
अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट में जल्द ही 10 साल पूरे करने जा रहे विराट से इस बारे में पूछने पर उन्होंने कहा, “जब मैंने अपना करियर शुरू किया था तब मैंने इस बारे में कुछ सोचा नहीं था । मैं यहां अपने करियर के 10 साल जल्द ही पूरे करूंगा। मुझे किसी तरह की कोई शिकायत नहीं है। मुझे किसी देश में खुद को साबित नहीं करना है। मैं केवल अपनी टीम के लिए अच्छा प्रदर्शन करना चाहता हूं, मैं अपनी टीम के लिए रन बनाना चाहता हूं और भारतीय क्रिकेट को आगे ले जाना चाहता हूं।”
दुनिया की नंबर एक टीम के इस सीरीज में दावेदार या छुपा-रुस्तम होने के सवाल पर विराट ने कहा, “इस बात से कोई फर्क नहीं पड़ता कि आप दावेदार हैं या फिर अंडरडॉग, आपको मैदान में तो उतरना ही है। यदि आप अंडरडॉग हैं तो इसका यह मतलब नहीं कि दबाव सिर्फ विपक्षी टीम पर होगा और यदि आप दावेदार हैं तो भी इसका यह मतलब नहीं कि आप दबाव से मुक्त रहेंगे। मुझे लगता है आपको संतुलन बनाकर चलने की जरूरत है।”
विराट ने कहा, “अंडरडॉग या दावेदार होना आपके दिमाग में है। इस बारे में ज्यादा सोचने के बजाय आपको प्रोफेशनल होने की जरूरत है। हम यही एक टीम के रूप में करना चाहते हैं...प्रोफेशनल और प्रदर्शन में निरंतरता।”
राज
वार्ता
More News

21 Nov 2018 | 4:34 PM

 Sharesee more..

सायना, प्रणीत, परूपल्ली का जीत के साथ आगाज़

21 Nov 2018 | 4:32 PM

 Sharesee more..

भारत-आस्ट्रेलिया टी-20 बारिश से रूका

21 Nov 2018 | 2:58 PM

 Sharesee more..
image