Tuesday, Nov 20 2018 | Time 19:34 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • सिख दंगों के एक मामले में एक को फांसी, दूसरे को आजीवन कारावास 35 35 लाख रुपए जुर्माना
  • झारखंड विद्युत प्रणाली सुधार परियोजना के लिए विश्व बैंक देगा 31 करोड़ डॉलर का ऋण
  • आप या बसपा के साथ गठबंधन पर कर रहे हैं विचार: दिग्विजय
  • फूजी फिल्म का दिल्ली एनसीआर में ग्राफिक आर्ट्स डेमो सेंटर शुरू
  • तुर्की में 195 गुलेन समर्थकों की गिफ्तारी का वारंट जारी
  • उप्र में बारावफात के मौके पर सुरक्षा व्यवस्था बनाये रखने के निर्देश
  • अमरिन्दर 23 नवंबर को करेंगे वृक्षारोपण
  • नरसिंहपुर में भाजपा और कांग्रेस में जोरदार टक्कर
  • सिख हत्याकांड पर आए फैसले का भाई लोंगोवाल ने किया स्वागत
  • रमन ने परिवार सहित गृह नगर कवर्धा में किया मतदान
  • यौन शोषण मामले में उच्च न्यायालय ने संस्थान से मांगी रिपोर्ट
  • झांसी: निगम कर्मचारियों और विहिप कार्यकर्ताओं के बीच जमकर चले लाठी डंडे
  • गुजरात सरकार शेरों और अन्य वन्यजीवों के लिए 50 करोड़ की लागत से बनायेगी अत्याधुनिक अस्पताल
  • भारत की चार मुक्केबाज सेमीफाइनल में, चार पदक पक्के
  • सीबीएसई की केन्द्रीय पात्रता परीक्षा नौ दिसम्बर को
खेल Share

सिंधू ने जहां ओकुहारा की बाधा पार कर ली वहीं पूर्व उपविजेता और 10वीं सीड सायना अपनी पुरानी प्रतिद्वंद्वी और सातवीं वरीय स्पेन की कैरोलिना मारिन से पार नहीं पा सकीं। सायना को मारिन ने मात्र 31 मिनट में 21-6 21-11 से पराजित कर सेमीफाइनल में प्रवेश कर लिया। राष्ट्रमंडल खेलों की स्वर्ण विजेता सायना ने इस मुकाबले में बेहद निराशाजनक प्रदर्शन किया और पहला गेम 6-21 से गंवाने के बाद मुकाबले में वापसी नहीं कर पायीं।
मिश्रित युगल में सात्विकसेराज रैंकीरेड्डी और अश्विनी पोनप्पा की जोड़ी को भी क्वार्टरफाइनल में हार का सामना करना पड़ा। भारतीय जोड़ी को शीर्ष वरीयता प्राप्त चीनी जोड़ी झेंग सीवेई और हुवांग याकियोंग ने मात्र 36 मिनट में 21-17 21-10 से हराकर अंतिम चार में जगह बना ली।
पुरुष एकल में बी साई प्रणीत भी चुनौती नहीं पेश कर सके और छठी वरीयता प्राप्त जापान के केंतो मोमोता से हार गए। जापानी खिलाड़ी ने यह मुकाबला 39 मिनट में 21-12 21-12 से जीतकर सेमीफाइनल में जगह बना ली।
राज
जारी वार्ता
More News
24 साल हर रोज परीक्षा दी: सचिन

24 साल हर रोज परीक्षा दी: सचिन

20 Nov 2018 | 6:59 PM

नयी दिल्ली, 20 नवम्बर (वार्ता) युवा पीढ़ी के लिए प्रेरणा स्त्रोत भारत रत्न सचिन तेंदुलकर ने मंगलवार को कहा कि उन्होंने अपने करियर में 24 साल हर रोज मैच की तैयारी के जैसे परीक्षा दी ताकि वह देश के लिए बेहतर प्रदर्शन कर सकें।

 Sharesee more..

20 Nov 2018 | 6:45 PM

 Sharesee more..
image