Wednesday, Sep 26 2018 | Time 19:58 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • खेल उपकरणों की खरीद के लिये 50 करोड़ रूपये मंजूर
  • आतंकी फंडिंग मामला: दिल्ली से तीन गिरफ्तार, डेढ करोड रूपये बरामद-एनआईए
  • दूरबीन लेकर ढूंढने जैसी कांग्रेस की स्थिति-शाह
  • हरियाणा में खेल उपकरणों की खरीद के लिये 50 करोड़ मंजूर
  • झारखंड सरकार का पर्यावरण अनुकूल विकास पर जोर : रघुवर
  • हाईकोर्ट ने स्टेशनों पर भीख मांगने वालों के खिलाफ सख्त कदम उठाने को कहा
  • व्यापमं मामले में कलमनाथ, दिग्विजय, सिंधिया पर प्रकरण दर्ज करने के निर्देश
  • प्रभु ने बंगलादेश के सामने उठाया पाम तेल का मुद्दा
  • मोगा में कूरियर कम्पनी में बिस्फोट, दो लोग घायल
  • श्रीलंका की पुष्टि मैथ्यूज को वनडे टीम से हटाया गया
  • प्रभु ने बंगलादेश के सामने उठाया पाम तेल का मुद्दा
  • लोकसभा चुनाव में वीवीपैट मशीनें उपलब्ध होंगी: चुनाव आयोग
  • मोदी ने की दूरसंचार क्षेत्र में शिकायत निवारण की समीक्षा
  • नर्मदा नहरों की पानी की चोरी पर रोक के लिए कदम उठाने के निर्देश, छह और तालुका सूखाग्रस्त घोषित
  • भाजपा सांसद हुकुमदेव नारायण को मिली जमानत
खेल Share

कुश्ती में दो बार के ओलंपिक पदक विजेता, विश्व चैंपियन और लगातार तीन राष्ट्रमंडल खेलों में स्वर्ण पदक जीत चुके सुशील एशियाई खेलों में अपने पहले स्वर्ण का सपना पूरा करने उतरेंगे। सुशील ने 2006 के दोहा एशियाई खेलों में कांस्य पदक जीता था लेकिन इसके बाद अगले दो एशियाई खेलों में उन्होंने हिस्सा नहीं लिया। सुशील के पास इस बार मौका है कि वह 74 किग्रा में स्वर्ण पदक जीतें।
सुशील के साथ साथ राष्ट्रमंडल खेलों के स्वर्ण विजेता बजरंग भी खिताब के प्रबल दावेदार रहेंगे। बजरंग के गुरू योगेश्वर दत्त ने पिछले खेलों में 65 किग्रा वर्ग में स्वर्ण पदक जीता था और बजरंग इस बार 65 किग्रा में ही अपनी दावेदारी पेश करेंगे। विनेश भी राष्ट्रमंडल खेलों के स्वर्ण जीतने के बाद खिताब की दावेदार रहेंगी। ओलंपिक कांस्य विजेता साक्षी पर पदक जीतने का काफी दबाव रहेगा।
मुक्केबाजी में स्वीडिश कोच सांतियागो निएवा के ट्रेनिंग तरीकों ने भारतीय मुक्केबाजों में काफी बदलाव किया है। आठ साल पहले ग्वांग्झू में स्वर्ण जीतने वाले विकास ने इंचियोन में रजत जीता था लेकिन वह इस बार पदक का रंग बदलने के लिये बेताब हैं। भारत को पिछले खेलों में मुक्केबाजी में एकमात्र स्वर्ण दिलाने वाली एमसी मैरीकॉम इस बार खेलों से बाहर हैं। उनकी गैर मौजूदगी में विकास और शिवा थापा स्वर्ण के दावेदार रहेंगे।
तीरंदाजी में कम्पाउंड वर्ग में भारत का दबदबा बने रहने की उम्मीद है। कम्पाउंड वर्ग को इंचियोन में शुरू किया गया था और भारत ने एक स्वर्ण, एक रजत और दो कांस्य पदक जीते थे। उम्मीद है कि कम्पाउंड में भारतीय तीरंदाज खासतौर पर अभिषेक वर्मा और रजत चौहान पदक दिलाने वाला प्रदर्शन करेंगे।
भारत ने इन खेलों में जिस तरह 572 सदस्यीय दल उतारा है उसे देखते हुये पदक तालिका में टॉप 5 से कम और पिछले खेलों के 57 पदकों से कम का प्रदर्शन निराशाजनक माना जाएगा।
राज प्रीति
वार्ता
More News

अोड़िशा ने दिल्ली को 9 रन से चौंकाया

26 Sep 2018 | 7:48 PM

नयी दिल्ली,26 सितंबर (वार्ता) कप्तान गोविंद पोद्दार (56), विप्लव सामंत्रे(63) और सुभ्रांशु सेनापति (नाबाद 59) के शानदार अर्धशतकों से ओड़िशा ने दिल्ली को विजय हजारे ट्राॅफी एलीट ग्रुप बी मैच में बुधवार को 9 रन की शिकस्त देकर चौंका दिया।

 Sharesee more..
मुम्बई हाफ मैराथन में इस साल महिला पेसर्स का बोलबाला

मुम्बई हाफ मैराथन में इस साल महिला पेसर्स का बोलबाला

26 Sep 2018 | 7:31 PM

मुंबई, 26 सितम्बर (वार्ता) आईडीबीआई फेडरल लाइफ इंश्योरेंस मुम्बई हाफ मैराथन में इस साल महिला पेसर्स का बोलबाला है। 30 सितम्बर को होने वाली इस रेस के लिए 13 पेसर्स का चयन हुआ है, जिनमें से 10 महिलाएं हैं।

 Sharesee more..
एएफसी अंडर-16 क्वार्टर में जगह के लिये इंडोनेशिया से भिड़ेगा भारत

एएफसी अंडर-16 क्वार्टर में जगह के लिये इंडोनेशिया से भिड़ेगा भारत

26 Sep 2018 | 7:22 PM

कुआलालम्पुर, 26 सितंबर (वार्ता) भारतीय अंडर-16 फुटबाल टीम गुरूवार को एएफसी अंडर-16 कप टूर्नामेंट के आखिरी ग्रुप चरण मैच में इंडोनेशिया के खिलाफ मुकाबले में उतरेगी जहां उसकी निगाहें क्वार्टरफाइनल में प्रवेश पर लगी होंगी।

 Sharesee more..
image