Sunday, Sep 23 2018 | Time 18:19 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • यूपी-ओड़िशा का मुकाबला बारिश की भेंट चढा
  • मुंबई ने ठोके 400, विजय हजारे ट्रॉफी का दूसरा सबसे बड़ा स्कोर
  • पुलवामा में मुठभेड़, जैश का शीर्ष कमांडर ढेर
  • दिल्ली की सभी लोकसभा सीटें फिर जीतेगी भाजपा : शाह
  • श्रीनगर-जम्मू राष्ट्रीय राजमार्ग भूस्खलन के कारण बंद
  • ओलम्पिक के लिए 3 करोड़ बच्चों तक पहुंचने का लक्ष्य: राठौड़
  • ओलम्पिक के लिए 3 करोड़ बच्चों तक पहुंचने का लक्ष्य: राठौड़
  • झांसी में निर्माणाधीन ओवरब्रिज पर लगे तिरपाल में लगी आग
  • ग्रामीणों ने चोर को पीट-पीट कर मार डाला
  • बाढ में फंसे अंतिम संस्कार में शामिल होने गये लोग
  • मूसलाधर बारिश से जनजीवन प्रभावित,चोटियों पर हिमपात
  • बिहार में ट्रस्ट मोड में लागू होगी आयुष्मान भारत योजना : नीतीश
  • विधायक समेत दो नेताओं की हत्या पर नायडू ने जताया क्षोभ
  • बस की ठोकर से साइकिल सवार किशोर की मौत
खेल Share

विनेश ने फाइनल में जापानी पहलवान के खिलाफ आक्रमण और रक्षण का बेहतरीन नमूना पेश किया। उन्होंने पहले ही राउंड में 4-0 की बढ़त बना ली। उन्होंने यूकी को अपने पैरों से पूरी तरह दूर रखा ताकि वह कोई दांव न लगा सके। दूसरे राउंड में विनेश को हालांकि चेतावनी के बाद एक अंक गंवाना पड़ा लेकिन उन्होंने अपना दबदबा बनाये रखते हुए अंतिम सेकेंडों में दो अंक लेकर 6-2 पर मुकाबला समाप्त कर दिया। विनेश ने स्वर्ण जीतते ही अपनी खुशी का इजहार किया और भारतीय खेमा भी खुशी से उछल पड़ा।
उन्होंने ओपनिंग राउंड में चीन की सुन यनान को 8-2 से पराजित करते हुये क्वार्टरफाइनल में प्रवेश किया। उन्होंने इसके बाद कोरिया की किम हिंगजू को 11-0 से तकनीकी श्रेष्ठता के आधार पर हराकर सेमीफाइनल में प्रवेश किया।
अपने क्वार्टरफाइनल मैच में रोहतक की पहलवान ने कमाल का प्रदर्शन किया और पहले राउंड में छह अंक तथा दूसरे राउंड में पांच अंक जुटाये। उन्होंने चार मिनट 37 सेकंड में ही मैच समाप्त कर दिया। इससे पहले चीन की यनान के खिलाफ विनेश का मैच काफी रोमांचक और यादगार रहा।
रियो ओलंपिक खेलों में 48 किग्रा भार वर्ग में उतरीं विनेश को यनान के खिलाफ ही क्वार्टरफाइनल मैच में घुटने में चोट लगी थी जिसके बाद उन्हें उल्टी हो गयी थी। विनेश को उस बाउट में सीधे घुटने में गंभीर चोट आयी थी जिसके कारण वह जनवरी 2017 तक फिर नहीं खेल पायी थीं।
रविवार को 24 साल की होने जा रही विनेश ने 2014 के राष्ट्रमंडल खेलों में 48 किग्रा भार वर्ग में स्वर्ण जीता था जबकि गोल्ड कोस्ट में 50 किग्रा में भी उन्होंने स्वर्ण पदक हासिल किया था। उन्होंने 2014 के इंचियोन एशियाई खेलों में 48 किग्रा में कांस्य दिलाया था जबकि आखिरी छह एशियन चैंपियनशिप में वह देश को तीन रजत और तीन कांस्य दिला चुकी हैं।
विनेश ने सेमीफाइनल में उज्बेकिस्तान की दोलेतबाइक यक्शीमुरातोवा को एकतरफा अंदाज़ में 10-0 से पीट दिया। भारतीय पहलवान ने पहले ही राउंड में लगातार 10 अंक लेते हुये मात्र एक मिनट 15 सेकंड में मुकाबले को निपटाते हुये स्वर्ण पदक दौर में जगह बनाने के बाद इतिहास रच दिया।
राज, रवि
जारी वार्ता
More News

यूपी-ओड़िशा का मुकाबला बारिश की भेंट चढा

23 Sep 2018 | 6:12 PM

 Sharesee more..
आईओए ने पदक विजेताओं को पहली बार दिए नगद पुरस्कार

आईओए ने पदक विजेताओं को पहली बार दिए नगद पुरस्कार

23 Sep 2018 | 6:01 PM

नयी दिल्ली, 23 सितम्बर (वार्ता) भारतीय ओलम्पिक संघ (आईओए) ने इंडोनेशिया में आयोजित 18वें एशियाई खेलों में अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करने वाले पदक विजेता खिलाड़ियों को रविवार को यहां एक समारोह में नगद पुरस्कार से सम्मानित किया।

 Sharesee more..

नवीन को रजत, अब स्वर्ण की उम्मीदें दीपक से

23 Sep 2018 | 5:59 PM

नयी दिल्ली, 23 सितम्बर (वार्ता) भारत के नवीन को स्लोवाकिया के ट्रनावा में चल रही जूनियर विश्व कुश्ती प्रतियोगिता में 57 किग्रा फ्री स्टाइल वर्ग के फाइनल में हारकर रजत से संतोष करना पड़ा जबकि दीपक पुनिया ने 86 किग्रा फ्री स्टाइल वर्ग के फाइनल में पहुंचकर देश की इस प्रतियोगिता में 17 वर्षों के बाद स्वर्ण हासिल करने की उम्मीदों को जिन्दा रखा है।

 Sharesee more..

23 Sep 2018 | 5:13 PM

 Sharesee more..
image