Wednesday, Apr 24 2019 | Time 10:06 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • चीन में रसायन संयंत्र में विस्फोट, तीन लोगों की मौत
  • ‘आतंकवाद के खिलाफ न्यूजीलैंड-फ्रांस मिलकर करेंगे काम’
  • कश्मीर में एक दिन स्थगित रहने के बाद ट्रेन सेवा शुरू
  • आज का इतिहास (प्रकाशनार्थ 25 अप्रैल)
  • ट्रंप ने ट्वीटर के सीईओ से मुलाकात की
  • रुस के खसान शहर में किम के आगमन पर सुरक्षा व्यवस्ता दुरुस्त
  • उत्तर कोरिया के नेता किम पुतिन से बातचीत करने निजी ट्रेन से रवाना हुए
  • श्रीलंका हमले में 45 बच्चों की जान गई :यूनीसेफ
  • सउदी ने आतंकवाद फैलाने के आरोप में 37 नागरिकों को दी फांसी
  • अबू धाबी के क्राउन प्रिंस ने दक्षिण सूडान के राष्ट्रपति से की मुलाकात
  • रक्षा बलों के प्रमुखों को बदल सकते हैं श्रीलंका के राष्ट्रपति
  • मोरक्को पुलिस ने आईएस से जुड़े संदिग्ध को हिरासत में लिया
खेल


भारत ने 1990 के एशियाई खेलों में कबड्डी की शुरूआत में स्वर्ण पदक जीता था। यह उन खेलों में भारत का एकमात्र स्वर्ण पदक था। भारत ने 1990 से 2014 तक लगातार सात स्वर्ण पदक जीते हैं। भारत की कबड्डी में हमेशा महारत मानी जाती थी लेकिन प्रो कबड्डी लीग शुरू होने के बाद भारत ने ईरान और कोरिया के खिलाड़ियों को ऐसा मंच दिया कि इन टीमों ने भारतीय टीम को ही धूल चटा दी।
सेमीफाइनल में भारत का खेल पूरी तरह उखड़ा रहा। न तो उसके रेडर चले और न ही डिफेंडर। ईरान ने दोनों ही पक्षों में बेहतर खेल का प्रदर्शन किया और सुपर टैकल में उसके खिलाड़ियों ने भारतीय रेडरों को कोई मौका नहीं दिया। ईरान ने सेमीफाइनल जीतने का जश्न मानो इस तरह मनाया कि उसने स्वर्ण जीत लिया हो। न केवल ईरान के पुरूष खिलाड़ी बल्कि महिला खिलाड़ी भी जश्न मनाने कोर्ट पर उतर आये।
इस हार से मायूस भारतीय पुरूष खिलाड़ी कोर्ट के एकतरफ ऐसे बैठे थे मानो उन्हें गहरा सदमा लगा हो। वास्तव में यह हार भारतीय खिलाड़ियों के लिये किसी सदमे से कम नहीं थी। भारत की स्थिति का अंदाजा इसी से लगाया जा सकता है कि एक सुपर टैकल के दौरान अजय ठाकुर को ईरानी खिलाड़ियों ने ऐसा दबोचा कि उनकी आंख के पास चोट लग गयी जिससे काफी खून निकल आया।
लेकिन हैरानी की बात यह रही कि तीन बार रेफरी की सीटी बजने के बावजूद ईरानी खिलाड़ियों ने अजय को नहीं छोड़ा और उनपर फाउल का कोई अंक भी नहीं लगाया गया। इस एक लम्हे को छोड़ दें तो ईरानी खिलाड़ी पूरे मैच में छाये रहे। भारतीय टीम को इस हार के बाद अब कांस्य पदक से संतोष करना होगा। ईरान का स्वर्ण पदक के लिये कोरिया से मुकाबला होगा जिसने अन्य सेमीफाइनल में पाकिस्तान को 27-24 से हराया।
राज प्रीति
जारी वार्ता
More News
फिर पदक से दूर रह गयीं अंजुम और अपूर्वी

फिर पदक से दूर रह गयीं अंजुम और अपूर्वी

23 Apr 2019 | 10:06 PM

नयी दिल्ली, 23 अप्रैल (वार्ता) भारत की निशानेबाज अपूर्वी चंदेला और अंजुम मुद्गिल ने चीन के बीजिंग में चल रहे आईआईएसएफ विश्व कप (राइफल/पिस्टल) में शानदार प्रदर्शन किया और फाइनल तक पहुंचीं लेकिन एक बार फिर पदक जीतने से दूर रह गयीं।

see more..
निखत ने दो बार की विश्व चैम्पियन को पीटा

निखत ने दो बार की विश्व चैम्पियन को पीटा

23 Apr 2019 | 10:06 PM

नयी दिल्ली, 23 अप्रैल (वार्ता) पूर्व जूनियर विश्व चैम्पियन निखत जरीन (51 किग्रा) ने 2019 सीजन में अपना शानदार फार्म जारी रखते हुए दो बार की पूर्व विश्व चैम्पियन कजाकिस्तान की नज्म काजेबे को मंगलवार को हराते हुए एशियाई मुक्केबाजी चैम्पियनशिप के सेमीफाइनल में प्रवेश कर लिया और उन्होंने बैंकॉक में जारी इस प्रतियोगिता में अपना पहला पदक पक्का कर लिया।

see more..
चेन्नई स्पार्टन्स एशियाई वॉलीबाल क्लब चैंपियनशिप के अंतिम-8 में

चेन्नई स्पार्टन्स एशियाई वॉलीबाल क्लब चैंपियनशिप के अंतिम-8 में

23 Apr 2019 | 10:06 PM

चेन्नई, 23 अप्रैल (वार्ता) प्रो वॉलीबाल लीग का खिताब जीतने वाली चेन्नई स्पार्टन्स ने चीनी ताइपे में आयोजित एशियाई वॉलीबॉल क्लब चैंपियनशिप के अंतिम आठ में जगह बना ली है।

see more..
पॉवरप्ले में अच्छी बल्लेबाजी करने की योजना थी: पृथ्वी शॉ

पॉवरप्ले में अच्छी बल्लेबाजी करने की योजना थी: पृथ्वी शॉ

23 Apr 2019 | 8:29 PM

जयपुर, 23 अप्रैल (वार्ता) राजस्थान रॉयल्स के खिलाफ सफलता से बड़े लक्ष्य का पीछा करने के बाद दिल्ली कैपिटल्स के युवा सलामी बल्लेबाज पृथ्वी शॉ ने कहा कि टीम की योजना शुरूआती छह ओवरों के पॉवरप्ले में ज्यादा से ज्यादा रन बनाने की थी।

see more..
बजरंग ने मंगल के दिन जीता स्वर्ण

बजरंग ने मंगल के दिन जीता स्वर्ण

23 Apr 2019 | 8:29 PM

नयी दिल्ली, 23 अप्रैल (वार्ता) भारत के स्टार पहलवान बजरंग पूनिया ने अपनी श्रेष्ठता बरकरार रखते हुए चीन में चल रही एशियाई कुश्ती प्रतियोगिता के 65 किग्रा फ्री स्टाइल वर्ग में मंगलवार के दिन स्वर्ण पदक जीत लिया। प्रवीण राणा को 79 किग्रा में रजत और सत्यव्रत कादियान को 97 किग्रा में कांस्य पदक मिला जबकि रवि कुमार 57 किग्रा में कांस्य पदक से चूक गए।

see more..
image