Friday, Sep 21 2018 | Time 15:56 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • द्रोणाचार्य अवार्डी कुश्ती कोच यशवीर का निधन
  • कश्मीर में पुलिसकर्मियों के इस्तीफे की खबर दुष्प्रचार: गृह मंत्रालय
  • मणिपुर विवि से पांच प्रोफेसर और 100 से अधिक छात्र गिरफ्तार
  • पुलिसकर्मियों की हत्या आतंकवादियों की हताशा का नतीजा: मलिक
  • विश्व में सभी के लिए मानवाधिकारों को बढ़ावा देने की जरुरत: गुटेरेस
  • छोटे प्रक्षेपण यान बनाने के लिए सामने आये निजी क्षेत्र : एंट्रिक्स अधिकारी
  • गडकरी करेंगे पूर्वाेत्तर में राजमार्ग परियोजाओं की समीक्षा
  • सेंसेक्स ने लगाया 1128 अंकों का गोता;निफ्टी 368 अंक टूटा
  • सोमेंद्रनाथ मित्र बने पश्चिम बंगाल कांग्रेस अध्यक्ष
  • एनटीपीसी कर्मियों ने महाप्रबंधक को किया घेराव
  • सर्जिकल स्ट्राइक दिवस मनाना राजनीतिकरण करना नहीं: जावड़ेकर
  • रामकृष्णा इलेक्ट्रो ने पेश किया नाविक आधारित मॉड्यूल ‘यूट्रैक’
  • तंजानिया नौका हादसे में मृतकों की संख्या 86 हुई
खेल Share

फर्जी संस्था बीसीए के कारनामों की हो सीबीआई जांच : सीएबी

फर्जी संस्था बीसीए के कारनामों की हो सीबीआई जांच : सीएबी

पटना, 24 अगस्त (वार्ता) क्रिकेट एसोसिएशन ऑफ बिहार (सीएबी) ने निबंधन रद्द हो चुकी संस्था बिहार क्रिकेट एसोसिएशन (बीसीए) पर फर्जी दावेदारी पेश कर खिलाड़ियों के भविष्य के साथ खिलवाड़ करने, जाली कागजात के आधार पर दूसरे राज्य के क्रिकेटरों को खेलने देने और उनसे पैसे उगाही करने का आरोप लगाते हुये बीसीए के इन कारनामों की केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) से जांच कराने की शुक्रवार को मांग की।

सीएबी के सचिव आदित्य वर्मा एवं बीसीए मीडिया कमेटी के पूर्व अध्यक्ष संजीव कुमार मिश्र ने यहां संयुक्त संवाददाता सम्मेलन में कहा कि बिहार सरकार के निबंधन विभाग ने इस वर्ष 27 मार्च, 16 मई और 19 जुलाई को सूचना के अधिकार के तहत मांगे गये जवाब में बताया था कि विभाग ने बीसीए का निबंधन रद्द कर दिया है। उन्होंने सवालिया लहजे में कहा कि निबंधन रद्द होने के बावजूद बीसीए ने उच्चतम न्यायालय की कमेटी के समक्ष हलफनामा दायर कर किस अधिकार से कह दिया कि वह लोढा कमेटी की सिफारिशों के अनुसार अपने संविधान में संशोधन कर चुका है।

उन्होंने कहा कि विभाजन के बाद अपनी पहचान खो चुके बिहार के खिलाड़ियों को 18 वर्ष बाद सर्वोच्च न्यायालय ने वर्ष 2018-19 में एक बार फिर भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) द्वारा प्रायोजित प्रथम श्रेणी के सभी क्रिकेट मैच के साथ ही अन्य वर्गों में खेलने का मौका दिया है।

उन्होंने कहा, “हमारे पास पुख्ता सबूत है कि अन्य राज्यों के करीब 20 क्रिकेटर जाली आवासीय एवं जन्म प्रमाण पत्र के आधार पर बीसीएस एवं इनके जिला क्रिकेट संघ को पैसे देकर बिहार से क्रिकेट खेलने आ चुके हैं। 30 अगस्त के बाद इन फर्जी खिलाड़ियों की सूची भी मीडिया को सौंप दी जाएगी।” उन्होंने कहा कि बीसीए को राज्य के होनहार क्रिकेटरों के भविष्य के साथ खिलवाड़ नहीं करने दिया जाएगा।

सूरज राज

जारी वार्ता

More News

21 Sep 2018 | 3:12 PM

 Sharesee more..

21 Sep 2018 | 2:57 PM

 Sharesee more..
पाकिस्तान ही नहीं अफगानिस्तान पर भी नजर रखिये: द्रविड़

पाकिस्तान ही नहीं अफगानिस्तान पर भी नजर रखिये: द्रविड़

21 Sep 2018 | 3:12 PM

नयी दिल्ली, 21 सितम्बर (वार्ता) पूर्व भारतीय कप्तान राहुल द्रविड़ क्रिकेट जगत की उभरती टीम अफगानिस्तान का खतरा महसूस करने लगे हैं और उनका मानना है कि एशिया कप में भारत को केवल चिर प्रतिद्वंद्वी पाकिस्तान पर ही नहीं बल्कि अफगानिस्तान पर भी नजर रखनी चाहिए।

 Sharesee more..

21 Sep 2018 | 12:13 AM

 Sharesee more..

अफगानिस्तान ने बंगलादेश भी शिकार कर डाला

21 Sep 2018 | 12:08 AM

 Sharesee more..
image