Wednesday, Sep 19 2018 | Time 15:20 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • मोदी द्वारका में विश्व स्तरीय सम्मेलन केन्द्र की अाधारशिला रखेंगे
  • जनविरोधी है केंद्र सरकार: ममता
  • तीन तलाक पर तीन साल की जेल, अध्यादेश मंजूर
  • पेट्रोल डीजल की कीमतों में बढ़ोत्तरी के खिलाफ साइकिल से विधानसभा पहुंचे कांग्रेस विधायक
  • चीन दूसरे देशों के आंतरिक मामलों में हस्तक्षेप नहीं करता
  • राम मंदिर मुद्दा नहीं आस्था का विषय, अयोध्या में जरूर बनेगा मंदिर - साध्वी निरंजन ज्योति
  • जम्मू-कश्मीर में गरीब परिवारों को प्रोत्साहन पैकेज
  • आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं का मानदेय बढ़ाने का फैसला
  • पाकिस्तान सुप्रीम कोर्ट ने तीन लोगों की फांसी की सजा की निलंबित
  • देश के 198 बांधों की सुरक्षा के लिए 3466 करोड़ रुपये की संशोधित परियोजना
  • बेनजीर की संपत्ति का ब्यौरा मांगना शहीद का अनादर : जरदारी
  • तीन तलाक पर वोट बैंक की राजनीति कर रही है कांग्रेस : प्रसाद
  • मुर्हरम पर मजहबी सदभाव का प्रतीक है इटावा की “लुट्टस” परम्परा
  • प्रतियोगिता में दौड़ते समय गिरकर छात्र की मृत्यु
  • बुधनी से इंदौर तक नयी रेल लाइन को मंजूरी
खेल Share

सिंधू ने कोच की बात पर पूरा अमल किया और मुकाबले को शानदार अंदाज़ में जीतकर भारतीय खेमे में खुशी की लहर दौड़ा दी। तीसरी वरीय सिंधू ने इस साल चीन में विश्व चैंपियनशिप और इन्हीं एशियाई खेलों में टीम स्पर्धा में भी यामागुची को पराजित किया था।
23 साल की सिंधू अब फाइनल में भारत को पहला एशियाड स्वर्ण दिलाने के लिये चीनी ताइपे की ताई जू यिंग के खिलाफ उतरेंगी। सिंधू को स्वर्ण जीतने के लिये फाइनल में हारने का गतिरोध तोड़ना होगा। सिंधू 2016 के रियो ओलंपिक , इस साल के राष्ट्रमंडल खेलों और विश्व चैंपियनशिप के फाइनल में हारकर रजत पदक ही जीत पायी थीं और उन्हें इस गतिरोध से बाहर निकलकर देश को स्वर्ण दिलाना होगा।
उनका मुकाबला दुनिया की नंबर एक खिलाड़ी से है जो जबरदस्त फार्म में है और उन्हें हराना कड़ी चुनौती होगी। जू यिंग ने अन्य सेमीफाइनल में सायना को 21-17, 21-14 से पराजित किया। ताइपे की खिलाड़ी ने सायना के खिलाफ अपना पिछला शानदार रिकार्ड बरकरार रखते हुये लगातार 10वीं जीत हासिल की।
सायना हार गयीं लेकिन उन्हें इस बात का संतोष रहा कि उन्होंने एशियाई खेलों में पदक जीतने का अपना सपना पूरा कर लिया। सायना पिछले एशियाई खेलों के क्वार्टरफाइनल में पराजित हुयी थीं और इस बार उन्होंने कांस्य पदक जीता और 36 साल पहले की मोदी की उपलब्धि की बराबरी कर ली।
10वें नंबर की सायना ने पहले गेम में जू यिंग के खिलाफ थोड़ा संघर्ष किया और एक समय स्कोर 8-8 से बराबर कर लिया। लेकिन ताइपे की खिलाड़ी ने फिर लगातार चार अंक लेते हुये बढ़त बनाई और पहला गेम 21-17 पर समाप्त कर दिया। दूसरे गेम में भी सायना ने पिछड़ने के बाद वापसी की और स्कोर 12-12 से बराबर किया। लेकिन जू यिंग ने फिर बढ़त बनाने का सिलसिला शुरू किया और 21-14 पर गेम तथा मैच समाप्त कर दिया।
राज प्रीति
वार्ता
More News
हांगकांग को हराने में भारत के पसीने छूटे

हांगकांग को हराने में भारत के पसीने छूटे

19 Sep 2018 | 12:32 PM

दुबई, 19 सितम्बर (वार्ता) विश्व की नंबर दो टीम भारत को क्रिकेट का मेमना कहे जाने वाले हांगकांग ने जीत हासिल करने के लिए रुला दिया। भारत ने हांगकांग की कड़ी चुनौती पर बमुश्किल 26 रन की जीत से काबू पाते एशिया कप क्रिकेट के ग्रुप ए सुपर-4 में स्थान बना लिया। भारत को अब बुधवार को चिर प्रतिद्वंद्वी पाकिस्तान से खेलना है।

 Sharesee more..

19 Sep 2018 | 9:33 AM

 Sharesee more..

19 Sep 2018 | 1:14 AM

 Sharesee more..

19 Sep 2018 | 1:12 AM

 Sharesee more..

हांगकांग को हराने में भारत के पसीने छूटे

19 Sep 2018 | 1:06 AM

 Sharesee more..
image